पृष्ठ:आलम-केलि.djvu/१५

विकिस्रोत से
Jump to navigation Jump to search
यह पृष्ठ शोधित नही है


विषय १०३ १०४ १०५ १०% cmn अमुना कुञ्ज गंगावर्णन दीनता शिवको कवित्त देवी को कवित्त रामलीला रखता सवैया विपरीति वर्णन यशोदा की उक्ति नवयौवना मानवर्णन चन्द्रकलंक कुचकृषि युगलमूर्ति अभिसार आगतपतिका शान्तरस १२१ १२६ १३२ १४० १४१ .१४४ १४६ . १५१