पृष्ठ:कोड स्वराज.pdf/१२७

विकिस्रोत से
Jump to navigation Jump to search
यह पृष्ठ जाँच लिया गया।


कोड स्वराज पर नोट

जिले और अपीलेट कोर्ट में, इस मामले को संभालने में काफी समय और प्रयास लगाया है, और मैं उनके प्रयासों की बहुत सराहना करता हूँ।

मैं अटलांटा बहुत पहले पहुंच चुका था ताकि अदालत में बैठने की जगह मिल सके। साथ ही ये भी पता लगा सकें कि न्यायाधीश मौखिक बहस को कैसे संभालते हैं। कोर्ट आफ अपील की सुनवाई में, आपको अक्सर “गर्म बेंच” मिलता है जिसका अर्थ है कि न्यायाधीश बहुत से प्रश्न पूछते हैं। कभी-कभी वकील तो बस “अदालत शायद इससे खुश होंगे” ही कह पाते हैं कि इससे पहले ही न्यायाधीश प्रश्न पूछना शुरू कर देते हैं। यह निश्चित रूप से एक गर्म बेंच था और मुझे देखने में मजा आया कि तीन न्यायाधीशों ने वकीलों को कैसे परखा।

16 नवंबर, गुरुवार को हमारी पारी थी। हम तीन न्यायाधीशों के एक पैनल के सामने पेश हुए; वे पूरी तरह से तैयार थे। उन्होंने हमसे बहुत कठिन सवाल पूछे, लेकिन उन्होंने जॉर्जिया राज्य से और भी ज्यादा कठिन सवाल पूछे। वे यह जानना चाहते थे कि राज्य । ने ऑफिशियल कोड में एनोटेशन क्यों शामिल किए हैं, क्या वे इसे ऑफिशियल नहीं समझना चाहते थे। उन्होंने ऑफिशियल कोड के कुछ पन्नों को निकाला, जिसमें यह संकेत दिया गया कि पूरे कोड कानून थे, और राज्यों का प्रतिनिधित्व करने वाले वकीलों को, ठीक से इन शब्दों का अर्थ बताने का आग्रह किया। उन्होंने कोड की उपलब्धता के बारे में पूछा।

हमें भी आसानी से नहीं छोड़ा गया लेकिन दिन के अंत में यह स्पष्ट हो गया था कि अदालत ने हमारे दृष्टिकोण को समझ लिया था। शायद वे हमारे साथ सहमत नहीं होंगे, लेकिन कम से कम वे समझ रहे थे कि हम क्या कह रहे थे। वे इस बात से इतना स्पष्ट नहीं थे कि ऐसा दृष्टिकोण जो राज्य ले रहा था वह क्यों ले रहा था। उन्होनें राज्य से पूछा कि क्यों नहीं एनोटेशन के बिना आफिशियल कोड को प्रकाशित कर देते हैं अगर उन्हें लगता है कि एनोटेशन को निशुल्क उपलब्ध नहीं होना चाहिए।

मौखिक बहस एक घंटे से अधिक समय तक चला, और अदालत में उस सप्ताह जो अन्य मामले सुने गये थे, उनसे दुगना लंबा चला। अंत में, मुख्य न्यायाधीश उठे और कहे, दिलचस्प मामला”। मैंने इसे सकारात्मक संकेत के रूप में देखा। न्यायाधीशों की दिलचस्प मामलें पसंद होते हैं। आप यह नहीं बता सकते की आगे क्या होने वाला है, लेकिन मैं अदालत से उम्मीद के साथ निकला कि हमारे पास मौका है। अगली सुबह, मैंने 6 बजे उड़ान भरी और वापस बे-एरिया (केलिफोर्नियां) आ गया।

मानक कानून है' - एक बड़ा केस

हमें एक और कोर्ट के मामले से निपटना था और यह था कोलंबिया डिस्ट्रिक्ट के यू.एस. कोर्ट ऑफ अपील में दर्ज, मानकों से संबंधित एक बड़ा केस था। जैसे कि भारत में मैंने कानूनी दस्तावेज़ों को सावधानीपूर्वक देखा और फिर सार्वजनिक सुरक्षा मानकों, जिसे कानून का समर्थन प्राप्त है, उसको खरीदा और उसके बाद उन्हें इंटरनेट पर पोस्ट किया। मैंने पाया कि बिल्डिंग कोड, खतरनाक सामग्रियों की सुरक्षा, कारखाने में कर्मचारी की

119