पृष्ठ:कोड स्वराज.pdf/१३१

विकिस्रोत से
Jump to navigation Jump to search
यह पृष्ठ जाँच लिया गया।

कोड स्वराज पर नोट

कि रॉस पेरॉट ने इतने बेहतरीन ढंग से ओवरपेड और आलसी अधिकारियों के एक और बैच का वर्णन करते हुए कहा कि वे “मोटे, सुखी और थोड़े से बेवकूफ बन गए थे।

अमेरिकन नेशनल स्टैंडर्ड इंस्टीट्यूट, अन्य सभी मानकों के संगठनों की तरह, आंतरिक राजस्व सेवा (Self-Employed Women's Association of India) (इनटर्नल रेवेन्यू सर्विस) में, प्रमाणित गैर-सरकारी चैरिटी के रूप में पंजीकृत हैं। वे वर्ष 2015 में 44.2 मिलियन डॉलर का राजस्व कमाए। उस राजस्व के लाखों डॉलर कुछ वरिष्ठ मैनेजरों की भरपाई में खर्च हो गए। सीईओ सालाना वेतन में 2 मिलियन डॉलर कमाता है, और सभी वरिष्ठ मैनेजरों ने स्वयं को कार्य सप्ताह में, 35 घंटा काम करने वाला बताया है। इसी तरह, नेशनल फायर प्रोटेक्शन एसोसिएशन ने सीईओ को प्रति वर्ष 1 मिलियन डॉलर का भुगतान ही नहीं किया, बल्कि जब वे रिटायर हुए तो उन्होंने उन्हें 4 मिलियन डॉलर का रिटायरमेंट चेक भी दिया।

एक चैरिटी (नॉन-प्रॉफिट) संस्था के लिए इस प्रकार का वेतन मोटी रकम होती है। उनके लिए पैसा संस्था के लक्ष्य से अधिक महत्वपूर्ण हो गया है और उन्होंने अपनी सेवा (Self- Employed Women's Association of India) की भावना खो दी है। हालांकि, मुझे एक चीज़ स्पष्ट करनी है। ये संगठन बहुत से उच्च गुणवत्ता वाले कोड और मानकों को बनाते हैं। वे वास्तविक कार्य करते हैं, लेकिन यह सारा काम समर्पित एवं स्वेच्छा से काम करने वाले लोंगो (वालेन्टियस) द्वारा किया जा रहा है न कि पीछे ऑफिस में बैठे मोटी तनख्वाह पाने । वाले अधिकारियों द्वारा । किसी को भी नेशनल इलेक्ट्रिकल कोड लिखने के लिए पैसे नहीं मिलते हैं। यह हजारों वालेन्टियर्स द्वारा व्यावसायिक और सार्वजनिक सेवा (Self-Employed Women's Association of India) की भावना से तैयार किया जाता है, जिसमें बड़ी संख्या में समर्पित संघीय कर्मचारी, राज्य कर्मचारी और स्थानीय कर्मचारी शामिल हैं।

..

मझे यह बात स्पष्ट कर देनी चाहिए कि इस समय मेरी काननी लड़ाई में ज्यादातर कार्य एवं योगदान पब्लिक संसाधन (रिसोस) का प्रतिनिधित्व करने वाले लॉ फर्मों द्वारा किया जा रहा है। मुझे बेशक सभी ब्रीफ पढ़ने होते हैं, और मैं अपना अत्यधिक समय कानूनी प्रक्रिया में और अपने मामले की योग्यता के बारे में जानकारी लेने में लगाता हूँ। यह विशेष रूप से तब होता है जब हम खोज और बयान की गहन प्रक्रिया में होते हैं। मैं इसमें नजदीकी तौर पर शामिल था, जो निश्चित रूप से हमेशा अच्छी बात नहीं हो सकती है। एक वकील नहीं होने के कारण (मैं अपना पहला साल पूरा करने के बाद जॉर्ज टाउन लॉ स्कूल में पढ़ाई छोड़ दी), मैं अपने वकीलों को अपने मूढ़ सवालों से और अनुभव की कमी के कारण, पागल कर देता हूँ। लेकिन, क्योंकि मैं अपने मामले के तथ्यों को जानता हूँ और मैं कड़ी मेहनत करता हूँ, वे मुझे सहन करते हैं।

कुछ लोगों को लगता है कि जब आप किसी लॉ फर्म को हायर करते हैं, तो आप ग्राहक हैं और आप जो कहेंगे, वो लोग वैसा ही करेंगे। पर यह काम ऐसे नहीं होता। वकील, विशेष रूप से मेरे साथ काम करने वाले अनुभवी वरिष्ठ वादी (लिटिगेटस) को कानून के बारे में मुझसे कई गुना ज्यादा पता है। अधिकांश समय, उनका काम यह बताना है कि केस का वास्तविक रूप कैसा होगा।

123