पृष्ठ:कोड स्वराज.pdf/१५३

विकिस्रोत से
Jump to navigation Jump to search
यह पृष्ठ जाँच लिया गया।


कोड स्वराज पर नोट

कई लोगों का मानना है कि कॉपीराइट एक पुराना मुद्दा है, एक दोहरी समस्या है, जिसमें कन्टेंट को उपयोग कर लोग, कन्टेन्ट के मालिक को नकसान पहुँचाते हैं। झठे कॉपीराइट के दावे को झूठा साबित करते हुए ऐसे अनुभवों ने मुझे सिखाया है कि ऐसे कई लोग हैं जो ऐसे कन्टेंट पर दावा करते हैं, जो उनका नहीं होता है। उनके द्वारा किये मालिकाना दावे उनके लिए महत्वपूर्ण है, पर ऐसे दावों की जांच की जानी चाहिये, विशेषतौर पर उस स्थान पर जहां इस बात का ठोस सबूत होता है कि वह संबंधित कार्य, सरकार द्वारा किया गया कार्य है।

दी एक्सीडेंटल कांग्रेशनल विडियो अर्काइव

वास्तव में मैं फेडफ्लिक्स (FedFlix) में फंस गया। मेरा पहला वीडियो इंटरेस्ट, कांग्रेशलन हियरिंग्स में था। जॉन पोडेस्टा के साथ काम करते हुए मैंने एक प्लान तैयार करने में दो साल लगाए, जिसे मैंने “आई-स्पैन” कहा। यह सभी कॉग्रेशनल सुनवाई को ब्रोडकास्ट-क्वालिटी वीडियो के साथ ऑनलाइन करने का एक प्रयास था। मैंने स्पीकर नेंसी पेलॉसी (Nancy Pelosi) की रिपोर्ट भेजी, उनमें कई बातों पर जोर दिया और जिसके चलते बाद में कॉग्रेशनल स्टाफ के साथ कई बैठके हुई।

वर्ष 2010 में मैंने कांग्रेस की आने वाली रिपब्लिकन मेजॉरिटी से बात की कि वह मुझे कांग्रेस वीडियो को ऑनलाइन करने में मेरी मदद करें। अपने कार्यकाल के पहले दिन ही। स्पीकर जॉन बॉहेनर (John Boehner) ने मुझे एक पत्र भेजा जिसमें मुझसे कहा गया कि मैं हाऊस ऑवरसाइट कमेटी को, उनकी पूरी अर्काइव को ऑनलाईन करने में सहायता करुं। सुनवाई समाप्त होने के तुरंत बाद, सुनवाई और ट्रान्सक्रिप्ट्स मुझे मिलने लगे और मैंने उन्हें सिर्फ इतना ही नहीं सिखाया कि उच्च गुणवत्ता की वीडियों को कैसे कई स्थान पर एक साथ पोस्ट किया जाय, बल्कि सुनने में अक्षम लोगों के लिये, कैसे क्लोज्ड केप्शनिंग जोड़ना भी उन्हें सिखाया। इसका अर्थ था कि हमारे पास सभी मौजूदा सुनवाई की उच्च-गुणवत्तापूर्ण फीड़ थी, ऐसा हाऊस में पहली बार हो रहा था।

हाऊस के साथ हुए मेरे अनुबंध ने मुझे हाऊस ऑवरसाइट कमेटी की अर्काइव लेने की अनुमति दी लेकिन जब मैं हाऊस ब्रोडकास्ट स्टूडियो गया और उनसे मदद मांगी तो उन्होंने कहा कि वे अन्य गंभीर चीजों में व्यस्त हैं। मैंने उन से कहा कि मैं ही स्वयम् उन डाटा को कॉपी कर लेगा तो उन्होंने कहा कि ये सभी एक पेशेवर फारमेट में हैं जिसे मैं संभवतः हैंडल नहीं कर सकता। मेरी ओर से थोड़ी-बहुत खुशामद करने के बाद (और कमेटी चेयरमैन की ओर से उन्हें एक फोन कॉल आने के बाद उन्होंने मुझसे कहा कि वे एक टेस्ट डिस्क भेजेंगे, यह जानने के लिए कि क्या मैं इसे पढ़ सकता हूँ, या नहीं। जब बात एक वीडियों की हो तो मैं इतना गंवार भी नहीं हूँ कि उनकी डिस्क्स पढ़ भी न संकू।

आगे जो हुआ वह बहुत चौंकाने वाला था। हाउस ब्रॉडकास्ट ने मुझे एक बाइंडर, फेडरर एक्सप्रेस से भेजा जिसमें पचास ब्लू-रे डीवीडी डिस्क थे। मैंने इसे खोला और इसको देखा। इसमें मुझे न केवल वे डाटा मिले जो मुझे हाउस ऑवरसाइट के लिए चाहिए था, बल्कि

145