पृष्ठ:कोड स्वराज.pdf/१५९

विकिस्रोत से
Jump to navigation Jump to search
यह पृष्ठ जाँच लिया गया।


कोड स्वराज पर नोट

उस दौरान कुछ ऐसा हुआ कि आरोन को हिरासत में ले लिया गया। उसने जे.एस टी.ओ.आर (JSTOR) सिस्टम से कई महत्वपूर्ण स्कोलरली आर्टिकल्स डाउनलोड कर लिए थे। वह ऐसा एम.आई.टी (MIT) में होने के कारण ही कर सका क्योंकि उसे वहां अतिथि विशेषाधिकार (गेस्ट प्रिविलेज़) प्राप्त था। एम.आई.टी ने पुलिस बुला लिया जब कि ऐसी स्थिति में, आरोन जैसे दुर्लभ विद्यार्थी के साथ जो करना चाहिए था वह यह था कि उसे बुला कर समझाने की कोशिश करना। मैंने अपने मित्र जेफ़ शिल्लर (Jeff Schiller) को फोन किया जो एम.आई.टी नेटवर्क को चलाता था, तब उसने मुझे बताया कि वास्तव में क्या हुआ था। यह मामला उसके अधिकार क्षेत्र के अन्दर नहीं आता था क्यों कि अब कोई और ऑपरेशन चला रहा था, और जब एक बार पुलिस बुला ली गई है तो, अब पीछे जा पाना संभव नहीं था।

पुलिस ने उसे यूएस के अटॉर्नी को सौंप दिया, जो इस मामले को एक उदाहरण की तरह प्रस्तुत करना चाहते थे। उन्होंने आरेन पर 13 संगीण आरोप लगाए। इन आरोपों के सिद्ध होने पर, भारी जुर्माना भरना पड़ सकता था और सालों तक जेल में बिताने पड़ सकते थे। मुझे आरोन के लिये सबसे बड़ा खौफ यह लग रहा था कि उसका ऐसे अपराधों के लिये अपराधी घोषित होने पर, अपने मतदान का अधिकार वह खो देगा। एक तथाकथित हैक़र के छूटने पर, उस पर यह आम शर्त लगायी जाती है कि आप आगे कम्प्यूटर और इंटरनेट का प्रयोग नहीं कर सकते हैं। और यह आरोन जैसे व्यक्ति के लिए सबसे दर्द भरी, दिल दहलाने वाली स्थिति होगी। संयुक्त राज्य अमेरिका के अटर्नी इस मामले को इसके अंजाम तक पहुँचाने के लिये कटिबद्ध थे, और उन्होंने आरोन के अटर्नी को यह सूचित किया कि वे, आरौन को जेल की सजा से बचने के लिये, किसी भी प्ली बारगेन के सौदे के लिये तैयार नहीं थे।

आरोन का अपराध यह था कि उसने बहुत बड़ी संख्या में आर्टिकल्स डाउनलोड किए थे। जे.एस.टी.ओ.आर (JSTOR) सर्विस पर, डाउनलोडिंग की अनुमति होती है। कोई भी छात्र केंपस-वाइड सर्विस के अंतर्गत, जे.एस.टी. ओ.आर जर्नल के आर्टिकल्स पढ़ सकता था। समस्या यह थी कि आरोन ये आर्टिकल्स बड़ी तेजी से पढ़ रहा था। यह सोच कर मैं अभी भी चकरा जाता हूँ कि कैसे यह, कथित तौर पर अपराध बन गया।

आरोन ने ये आर्टिकल्स अभी तक कहीं रिलीज नहीं किए थे, हालांकि संयुक्त राज्य अमरीका के अटर्नी को यह पूरा विश्वास था कि यह तो होने ही वाला है। मुझे इस बात का विश्वास नहीं था। जब आरोन ने पेसर डोक्स डाउनलोड किए थे, तो उसने मुझे दिये थे, उनको स्क्रब करके रिलीज करने के लिए। वह सर्वर नहीं चलाता था आता था, इसलिए वह, मेरे और बूस्टर जैसे लोगों पर निर्भर करता था। उसने अब तक, जे.एस.टी.ओ.आर (JSTOR) के डाटा रिलीज करने के लिए कोई कदम नहीं उठाये थे।

संभवतः, आगे के समय में, वह इन आर्टिकल्स को रिलीज करने के लिए कदम उठाये, लेकिन इस बात का अभी तक कोई सबूत नहीं था कि वह भविष्य में ऐसा करेगा। वह, मेरे जैसे व्यक्ति, या नेट पर ऐसे काम करने वाले अपने दोस्तों में किसी का साथ लिये बिना, यह काम नहीं कर पायेगा।

151