पृष्ठ:कोड स्वराज.pdf/२०४

विकिस्रोत से
Jump to navigation Jump to search
यह पृष्ठ जाँच लिया गया।


यह पृष्ठ जाँच लिया गया।

कोड स्वराज

एक विकल्प

विडंबना यह है कि इंटरनेट कुछ ऐसा भी उपलब्ध कराता है जिसमें आप कुछ कर सकते हैं। इसने लोगों को अपना समूह बनाना और एक साथ मिलकर सर्वमान्य कार्य करना पहले से कहीं ज्यादा आसान कर दिया है। और इसके माध्यम से लोगों को एक साथ आने से - न कि वेबसाइट पर पड़े डेटा के विश्लेषण से - वास्तविक राजनीतिक प्रगति हो सकती है।

अभी तक हमने छोटे मुद्दों को देखा है कि - लोग इटंरनेट पर जो भी देखते हैं उसकी नकल कर उसे राजनीति में लागू करने की कोशिश करते हैं। यदि वीकिपीडिया अच्छा काम कर रहा है, तो आप राजनीतिक वीकिपीडिया बना देते हैं। सभी लोग सोशल नेटवर्क को पसंद करते हैं इसलिए आप राजनीतिक सोशल नेटवर्क बना देते हैं। लेकिन ये उपकरण अपनी मूल सेटिंग में तो काम करते हैं क्योंकि उस में वे एक विशिष्ट समस्या का समाधान करने की कोशिश करते है न कि इस कारण कि वे कोई जाद की छड़ी हैं। राजनीति में प्रगति करने के लिए, हमें यह सोचने की आवश्यकता है कि इसकी समस्याओं का समाधान कैसे किया जा सकता है, न कि वैसे तकनीकों को नकल करके, जो अन्य क्षेत्रों में सफल हुए हैं।

डेटा विश्लेषण इसका एक हिस्सा हो सकता है, लेकिन यह एक बड़ी तस्वीर का हिस्सा है। लोगों के उस समूह के बारे में सोचें, जो किसी खास मुद्दे का सामना करने के लिए साथ मिलकर काम करने के लिये आये हैं, जैसे कि खाद्य सुरक्षा का मुद्दा। आपके पास ऐसे । प्रौद्योगिकीविद हो सकते हैं, जो सुरक्षात्मक रिकॉर्डों पर नजर रखते हैं, संवादाताओं की फोन कॉलों की जांच करते हैं, इमारतों में घुसपैठ करते हैं, ऐसे वकील हो सकते हैं जो दस्तावेजों से संबंधित सम्मन जारी करते हैं और मुकदमा दायर करते हैं, ऐसे राजनैतिक आयोजक हो सकते हैं जो परियोजना का समर्थन करते हैं और स्वयंसेवकों का संयोजि करते हैं, ऐसे कांग्रेस के सदस्य हो सकते हैं जो आपके मुद्दों पर सुनवाई करने के लिए। दबाव डालते हो और आपकी समस्याओं को सुलझाने के लिये कानून पारित कराते हो, और आपसे संबंधित ऐसे स्वाभाविक ब्लॉगर और लेखक हो सकते हैं जो आपकी कहानी की, जैसे जैसे यह विकसित होती रहती है, उसे सुनाते रहते हैं।

कल्पना कीजिए: एक जांच दल एक महा पर कार्यवाही कर रहा है सच का पता लगा रहा है और सुधार के लिए जोर दे रहा है। स्वाभाविक रूप से वे प्रौद्योगिकी का उपयोग करते हैं। लेकिन इसके साथ में राजनीति और कानून का भी उपयोग करते हैं। सबसे अच्छी स्थिति में, पादर्शिता कानून आपको अन्य डेटाबेस देखने की क्षमता प्रदान करता है। लेकिन एक मुकदमा (या कांग्रेस संबंधी जांच) आपको सभी डेटाबेस के देखने के लिये और उसके पीछे के सोर्स रिकॉर्ड को भी देखने के लिए अधिकार मिलता है, और उसके बाद लोगों को शपथबद्ध करा कर उनसे पूछताछ करने का अधिकार भी मिलता है। इन सभी का जो भी। अर्थ हो, यह आपको अपनी जरूरत के अनुसार पूछ ताछ करने का अधिकार मिलता है, न कि उस चीज का पूर्वानुमान करने के लिये जिसकी कभी भविष्य में आपको जरूरत पड़ेगी।

यह वह जगह है जहां पर डेटा विशलेषण वास्तव में उपयोगी हो सकता है। इसका उपयोग, न तो कि किसी रैंडम सर्फर को वेब पर निश्चित उत्तर प्रदान करने के लिये होगा बल्कि इसका उपयोग विसंगतियों, और प्रतिमानों (पैटर्न) को पहचानने के लिये, और ऐसे प्रश्नों का