पृष्ठ:हिन्दी विश्वकोष एकविंश भाग.djvu/२००

विकिस्रोत से
Jump to navigation Jump to search
यह पृष्ठ शोधित नही है


गाविमान अपेक्षा भियफ. पृष्ठमा माथि गया यायुगशि } rates ) हो जाती है। इन बाद भी परिगामी की पाना दोको आयमाफि, दसे कुहरेको याम होना है, तो पायुरानि पूर्णसमे मा को दरपति अयश्यमायो। मुमो पेटरियर ( Patier || जलीयबाप नीमन होता मोर प vिe सहिनानि माय कुहरे का सामग्य गिनिर्णय कर दो। होता है। प्रहार गरेका मार लिए है। असे-मिनाम मेपका नाममरण। . . (Rewinnur ) और मिद्रियस (Vetriots) |म शेगेत सुयश शानिक परिइन कि दोष (Inst ared) मामधेय कुन मोकारमेहका उल्लेव दिपाई देना मंत्र प्रकारमेर और नामी लाना को ना विषय बढ़ जाने के कारण यहां सब विषयोंको आलोचना गगनपटी कामशुत परिच्छिन जो मेपाल मा मारी की गई। सिपा इस सूपे कुहरे (Dry fogs). ! फिरता है, यह सिस ( Cirrus) नाम ममिति है। फे मामय भी यानिक मालोचना देनी जाती है। इस तरहका मेघ प्रबल चाय पा गांधोका महान म मापजलीप गाम को सम्बन्ध गदी। यह प्रशासक है। दूसरे प्रकारका मेश कुम्पुलस (Curnutes) एक प्रकार धुप के मिया और कुछ नहीं है। गासे विदित है। इसको प्रेमिह मेघ गांपाद मासे मेप। ६। पे मेघ भी शुभ है । पे पर्यशको सरद भाका इसके बाद मेधा सम्पन्ध में कुछ करनेको माय. यिनरण करते हैं। दूसरे मेरका नाम एट्रटम (Stratatv) पाता प्रतीत होती है। सूर्यका एक नाम महमांशु है। इस तरह से मेघ पनोभन । म भनु. भोदा माहनां सरखार फैला कर नद,नदी, समुद्र प्रहाभाय म्मर स्तरमे पिनरण करते हैं। उपत्यका शार गन्याय ममी गायों जल शोषण शिया करने ; अलाभूमि प्रतिम कुहासा या कुहरा 33 कम तरह- है। पर शोषित जलराशि या ऊपर उठती है। फे मेघोंगो गए करता है । सान सा मचा मिया जयराशिमितना ऊपर उटमी है. उनादो यह अधिक पायात्य धेशान लोगोन मेघोंक मार मोबटुसरे गाम सर जोगल याय के साथ मान होती है। १८००० चलाये हैं। शिग मतको सरधारा यावा तापित फोट अम्धिन पाय का शैत्य परफो शैत्य की तरह मन सुशोतल होता है, यह घनाम निधार मान भभूत होता है। कुछ लोगों का पानाम! पारिव पटल मिगस नागसे गिगा। . जोगल गाय के गशंगे जन्तीय पाल पनीभूत हो कर मेपभिन्यु। मेष रामें परिसर होता है। किन्तु पद गत मर्श | मेघमिगतु या निरपिन्मुको नाहना हाय नो। जलाप यार से कुछरेका कारण मदी है, यह माधुगफै युटुपुष्टको सह आया है। या ही पद मे भी कारण है। मेरो यतिम परिणत दीना, मय उसकी गर्माया गर पद कार या-कोनी-मागना, तोहै। उसममा पदमपातामाम. माता रानु और समुद्र या पर्यनका मांगोप्य । मेदर्म गायुरानियो त्योणता-माग जो गाकर गुमा मेग भाग दो-गो पा तीन पी गा . उसके गनुमार मेनि. Eti भी पार्थ- पार पण कामे है। फिर पास गमाग पहोगा। मगन मदाम रोग मका कार माला भाग पार पर गोल हा विगरज : बारा होता है। उस समय उमा परिमाज- कगी।

  • at sant नमामि (AEn

माता | Mir पहा दिगा देता है। RAMR. मागी महानि मासपमे II nin Bha-... Tiran am पाया है। माम.frraimiti ___ मोदी , जानिरसी नामे पूर्ण मि. {ss माहिम मानीनजानि पनि