पृष्ठ:हिन्दी विश्वकोष एकविंश भाग.djvu/२३२

विकिस्रोत से
Jump to navigation Jump to search
यह पृष्ठ शोधित नही है


गारंगोरखम-चारन्द्र गाiran (म० ) यामण्णा यादमा, गागणी यसमा , गिएशन है। पश्चिमी 'लगमोर' (लक्ष्मT. .. लिया। यमन। और पूनम कोट' मास्थित है 10 दिग्यिIREE पागोस ( म.पु. : यामणोपति, गगणा। मयिक प्रगम' और मिगहाशको वर्णनासे झाना साधा धामोसमी (10) तोर्यभेद । ६.हि यसमा मातव, दिनासपुर, राजमाद, it पारगपु ) पगढ़। १मौका राजा। गौर पायना, पे कई 5 मिलेका अधिकांश माग नाराम, नायमे पानी निकालनेका दरलन, रंगपुर और मेमनमिका बहुत कुछ आश याद कर्णमल, कामका मेर। ४ नवमल. मात्रा कोगः। लाता है। पारगडा (मा० ) यामण्ड गोरादित्यात् चोर । सो कुछ मोहो, किन्तु उत्तर कोगार, दलि. नापि, देनी, दहलांस ।। पा, पश्चिम महानन्दा और पूर्व में करतोया, इनके शेष पारण (मनि० ) गमग पा वामपो सम्बन्धीय । की भूमि पोभूमि पा पारेरद कदमागी । यामद ( म०पू० ) भग्नि, भाग। प्रयाद है, कि उत्तरमामा दिगालयके. पाश पर पारेन्द्र (म.पु. ) गीरनाम्नान एक. प्रमिम अनपद : निर्दिष्ट होने पर भी करतोया गोको जो माया पनि मी पर्वा अधिवासी। मुरो हो र यमान दिगामपुरं गदरफ मध्यभाग पन्न याग या म NIनके अधिवामियों के होती हुई महानन्दा माथ मिल गांधी, उगमशेर , माय जो सामाजिक यौनसम्बन्धो भायप, गे हो। दक्षिण तोरम्प हमी देश पारेम्प्रदेश मन्ता लिने । पार कहलाये। दिपिकाम लिया है- हो तो यारेनको पश्चिमी सोमा कोशागड़ी बात है। पशानदीप पूरी कटारी में कर ग्रामवणे पश्चिम ! फोगोनदी पश्चिमी सीमा निर्धारित करने मगपका R मनेक नद-नदिर्गो गुन गारेट गामा एक देश मापन झोटा हो जाता है। पूर्याक गदियों के द्वारा M. पद गमाम योग विमा पदकुमादिमे मरा के दोनों नौरपती मधाम अधिवामियों को माnam है। यह अगंगा निपट मया मलदमे दक्षिणा म. माचार FIRIT गौर येश-भूगको भी पना गणित founkni नामक एक लोटोगदो मयंदा या होता है । यमाम पूर्णिया जिला जज neem दिनदोगा। पोहोन्द्र वारा पाक पर काटे ग महामना मदोफे वीच पापा मगर । यहां तुमगा कापमा वाम है। ये कायम्य इस मादपुगेफे. अधियामितीको भाषा उ. पूर्व योग प्रायस्य करते हैं। स्थान गान पर पडोमा दिनाजपुर जिले में मधियानको मार. . दिशातिराने राय करती है। यहां धिगामी प्रायः ममान हो। पूर्णिया जिला frस मामे HEER माजीमादि जर भौगोपाकर जोग है। पांकी। होता है उगमनमा TRो AT समापन देशोगन मा निशुमनः। । भालोम करनेमे पूर्णता प्रमाणित होता प्रागोग किरन लिया मापी गारे शशा मीमापटिश गढ़ THER पानदीक मागों पफ. समपदहै। पर लतादिनाजपुर मिशिगमो की मार' के माम वि । यह मयंदा मा मा मिभित। पिाको माग मेरामनासपिगुगो गारेश्वर मागः म माग महीन। मधिलामो नियमन तथा मममीन। पो नाम प्रम माग प्रसिद्ध गुमसमान .knterty Tahakatisti .rfar. निहामिह मिनinfant-- गायनमा ६ भोर पिम का mant मा. ने यि दो रोकर और माग मारी in fr' (पाद) ये माम antr's statistical Account Rurrir