पृष्ठ:हिन्दी विश्वकोष एकविंश भाग.djvu/२७६

विकिस्रोत से
Jump to navigation Jump to search
यह पृष्ठ शोधित नही है


२१२ वास्तु या नरपे. पर मार न मिलने दमपरिमित! शेर और मिर्धनता होती है। पर, रोग, माम होंगे, उसने पंगुर परिमित पान का पंग (को)। और नगादि द्वारा पिर होनेसे समोर मकर होगा। गंयामा मष्टांनाही गान्त का निराममाण होते है कि दयाकी मे दुनो जग मोड़ है। स्वामी सदिसुन गाई तो गृहफे म न कर पदि दरया बनाया जाय, तो यार से होगा। प्रकोर गया उत्रिटादि मातम या उनको शरिद द्वार माANT कारण होता. या प्रमाणित रक्षा करें, नद्रों करनेमे गृहम्मामीशा जनिए होता है।. द्वार कुमारदे. मगता है। इसमें लिया गनिर्मित पान नरका दक्षिण इन होनहानेमे गाता भट्ट द्वारमै जोर, झारसायो दारसे रुपप, पिर नाजनका दोष होना है। इसी प्रकार पाम दाम परमार रेग, देवतायिन बारसे गिना, नामविसे होनेसे भयं घोर पायी हानि, मातक होन होनेमे नोदोर तपा प्राप्तमिमुप द्वारगे फुरगाश होता है। सरगुणका नाया परम धैरपसे रनोदोप, मुर परियार र जाय, तो हम्माद रोग, Ram नाम और पता हा करती है। यदि पात नरका हो माय, सो पुलनाश, परिमाणसे अपित दोने पर मा यिन रहे तो मान, गर्ग और नाना प्रकारफे। भय तया परिमाणसे कम होने पर दम्युमय और सुप होने हैं।

स्यममदातावार द्वारदेनिमें सपा जोर

गृह, गगर समाम नभी उगादमी प्रकार देवगण . सदर मत् म उससे साबित प्रनिहित है। उम मय धानों में पधारा प्राण : द्वारका विश्रा माग गौमाता र १६ र सपा अभूतिको गास कराना होता है। प्रामणादि मारी यों: कुमार पुस्टनाशका कारण होता है। द्वारफे ति पीडित कापामगृह यधाप्रम उत्तरादिको मोर बनाना उचित्र 'हनिमें पोडा. सनपिनन द्वार यमायका कारण बार- । किम्त परका दायाजास प्रकार बनाना चाहिये, विनत बार प्रयासदायक सय दिगम्रान्त द्वारगे दस्युरण Forरमे शुमने ममय यह दादिनी मोर पहे। in . पोटाती है। अप मौरवि मिला यमियों भिम घरका दायाशा उत्तराभिमुष दोगामी मूलद्वारगे सटा कर मन्य द्वार गदी यगामा पाहिपे भर प्रकार दक्षिणारिमुधमा प्रा मुगा, पश्निमागिमुना फल गोरगर मादि किसी गलमय द्रव्य नारा रो दक्षिणागिर मौर उभिनुष्का पश्चिमाभिमुम गृह. ' मष्टुरमा भी इनित नहीं। दारोगा उचित है। गरे बाद शामादिकोष याममा गरमी, विश. iane करने से साफ होना भी मौका रिका, पूतना और सरसोरदमीरपुर,मयमा प्राम विपाता है। पानीति पदमें गांगुने मूगमे उन गय कोमाम शो थाम करने का दोषोता। HOME पदम ठगुने मूबर मिना करने पर जित उन सा पार्टी पदि काम पनि RR . और सार दोगे उगमा फन पयामम मिशोम. प्रसारसे ! जातियों का पामहासो रोती। करतानसे-मिमी मोर पयादि पवाय. पातको मिरिणाम कोन युझरना गा फट Kura माम माम्नमप, ग्लोशन्स, प्रभूतधन, रात ; होगा ममी यानि जाना। ममि ममसे परमा, मोरता, मिया, फग्गा ना मोदी यानपशिनादिगि पनि पाात, पर, नगर दशनमाग मा प्रकार महासकार, प, मोरता, मोर पाप पेमी प्रमानि दिमागे गरपानादि. मपणा मानना, ATTRALE होने पर म। गाल मनोग मर वृक्ष PRETar योगशा मान होता है। पश्चिम में गुर। मप पोरोगरामे winnr फलोया RETAN पाँerfere Tama.T- गार पर होगा। आप 'म ोि mer RR, नापसीता रामोपान माता पार गरिनन मिपुत, Tam, पंगुनमाल, पुरयर, र रिमान पालो मार gm.