पृष्ठ:हिन्दी विश्वकोष एकविंश भाग.djvu/२७८

विकिस्रोत से
Jump to navigation Jump to search
यह पृष्ठ शोधित नही है


२१४ वास्तु rani aar गान करते हैं उसे देगे, उम का भीरमापसे गिर पड़े, तो गार माप पदि पिदीत . नफुनि यदि पुरी तरह को मृत्यु होती है। मोदर २. गृहपति जो भा करे, उस स्थानमें पास्तु के दक्षिण पूर्ण कर पाने पर माम मम्मि.ऐमा ज्ञानना होगा। गामि मिलाया दररो। मनिg Fre. Afr जोहार याने समय यदि हायो, घोटर, गाय, माविष, रसना होगी। गम्भों को मारतो प्रकार कर मेगा गा, विद्या भादिजन्तु मर करे तो जानना चाहिणे, दोगा। उन्हबारतीसरह मना कर पुन inमयान मद करनेयाले सुशा स्पिगडी धूप और विलेपन देने की याद पड़ी मापमान से दाना ६। नगमसारित होनेसे यदि गदहेका रेकना सुनाई दे, होगा। जाम्पित, पमित दुःस्थित या भयलोग पशिने सो जमियर शल्य स्थिर करना मादिपे। मपया यह . द्वारा यदि स्तमा पर फल गिर परे तो इसे एस पदि कुन पा पासे लाया जाय, तो भी महिला बिपने जो फल कहा गया है इसमें भी यही फर . कर शल्य स्थिर करना होगा। माता दिशामें शकुन होगा। पदि गर म.रे. ती गुदासिफ गहस्पष्ट भय पास्तभयन पनि पूर्व मीर उसको मोर ना हो गानुर. उम राम्यानमें मप मल्य , ऐसा मानना मो धनशप और पुगाम होता है। उसके दुर्गपायुक ALLI इस माप मूव पदि जिन्न हो जाय, तो गृहपतिः होनेसे पुवपध, या होने पशु-पिनास तथा रिगसम. की मृर होती है। कोट यदि अपारमुप है। तो महान् युरू होने से पदाको रिपोका गभंगात दोता है। गया होता है। गृहपति गौर स्थपतिको स्मृति दि गृहमियत ममी पपाको शिकी कामना दे. हा मागे मृत्यु होती है। उस समय यदि संधेि । सो यान्तुगयाफे मारों भोर समागमायने भूमि को - पर TRENT AMIT पर गिर पता निरोग. । पदिन ५.२ किमो कारण गदि पा मोर पडित लाया जाय तो चशमें उपद्रय, फाट जाप सो कम करना दो, गो पृष्ठ या उत्तरको मोर उसे दागा होगा। जिन्तु पारनयिक यास्तक सिर्फ पर भोर पदमा afna गयोदय पाद एक पर कईशानकोण मारपी, नहीं, इससे देोप होता है। या यदि पूर्व भोर माया Filगा , मनीपyiwan सामशिर पाच दिया . जाप, तो मिस पै.क्षिणभोर बामे गुरपुर गान्ता। इसके बाद एक पहाता मंदिगा ममारियो, भय,पशिगम मर्यनाश न मान कोण मेमेगन भासपी दीपा भय ना मोर मान पाच दिशा शाral मा हता। में भाग्ने मा , दयप दोगा, मृत भुता, याम्ता मागोमे देयमन्दिा, कोनमें E RIP in 1 मिमा, भरमें भा पति एपम गुर, नगतको भार और 3 0 द रिक, मेगन मा निमा मा गागायुकोणमें पनागार तर धाम्यागार निमा सपा Hina शार, ऐ राप्रपा महामे मागास्तु पूदिसमो दिशामा दिन मिताली पनमा दीग: पाया सपा शेष , तो प्रदक्षिण-मममे निम्नलिपि फल होते है। -- ५३१ रसि गुतोष कामे मा भारियो । सुनमामि, मणिमा, गामप, रोजर प्रोदोर, पारण. YATREEमर पनि गन्ना ममता कमा पम-धि और की हो cxce 30 मामी ifRT पर पी जाम, जो गास पर raf urer पर सदा दग्प दोसkarma पर माहो. antic, : PREpinी शोरगुण भर दो,याwिii) strat mastri (II) म सब को राप TREE TAILS ARRELATEx.