पृष्ठ:हिन्दी विश्वकोष नवम भाग.djvu/१००

विकिस्रोत से
Jump to navigation Jump to search
यह पृष्ठ शोधित नही है


बहको मालूम कि, उन्न सन्धिनका डिरकरीने प्रार्थना महौं को यो । पचास्तरमें बसने लोग प्रे- पनुमोदन नहीं किया था। सिडिएट माहवको यह जोको अन्याय पानमेषकारो और राम्बलिस पर भो मालम है कि, १८३७ को मन्धिको मैन्य देखने लगे थे। म तरा डलहौसीने पयोषाक नया सम्बन्धि धारा कार्य में परिणत न होगी यह राणाको बोको राजभति पर जरा भी ध्यान न देकर वरन मिष्या सूचित किया गया था। परन्तु सन्धिः सम्म गा रूपसे उपायसे अपनो मनकामना सिद्ध की थी। पाय हुआ है. यह बात उनसे नहीं कही गई। एस कुछ भी हो सार्ड डलहौसोके सभी कार्य दोषावर विषयको छिपा रखनेका फल पत्र अतिशय कष्टजनक नहीं थे, इनके हारा कुछ पच्छ काम भी हुए थे । बम पौर व्याकुलताव्यन्नक मालम पड़ेगा। १८४५१०में गव- ममयमें भारत पनिक स्थानों में लौहवम प्रस्तुत होते थे। मेण्ट हारा पुस्तक में यह विषय लिया गया था कि अयो. तथा जगह जगह वायो यानोंशा भो चलाना प्रारम्भ हो ध्याके सुशासन के लिए १८३७०को मन्धिके अनुसार गया था। कलकत्तमे पेयांबर तक पही सड़कजगर हटिशगवड कार्य कर सकते है, यह बात उत्यापित. जगह पुल तथा ४००० मोल तक वैद्य तिक तार बैठाये होने पर राजाको मालम हो जायगा कि, मन्धिपत्रको गये थे। म ममय गङ्गासे नहरें निकालो गई थी, पन्ना- डिरेकने पाच किया है। राजाको स्मरण करा देना बकी नहरको मरम्मत हुई थी और नाना स्थानों में नई पड़ेगा कि, १८३०१० को सन्धिके कोई कोई नियम रह नहरें खुदी थीं। इस कार्य के लिए इन्होंने पब्लिकवर्म कर दिये गये है, यह लखनजदरबारको सूचित किया विभागका नया बन्दोवस्त किया था। साधारणके उपका- गया था। यह समझ लेना होगा कि, तत्कालीन कार्य गर्थ इन्होंने पौर भो एक कार्य किया था: म कार्य के निर्वाह करनेके लिए उत्त सन्धिके साथ जिन जिन नियः लिये ये विशेष प्रशसाभाजन होंगे, जिनमे घोर्ड मीका कोई मम्बन्ध म था, उनको किसीने व्यक्त नहीं खर्च से पत्र हारा लोग परस्परका सवाद जान भकं, किया। पमनोयोगके कारण कार्य में ऐमी पवहना हई रसका नया बन्दोवस्त किया था। मिविल मविन इमके लिए मन्धिमभाधिष्ठितं गवर्नर जनरल दुःण्य विभाग और काराप्रथाका संस्कार भो रमोंके समयम, हुपा प्रकट करते हैं, रेमिडेण्ट साहव रसके प्रकट करनेमें था। शिक्षाविभागको उन्नति डनहोसोके समयका दूभग खाधीन है। एक मुफम्ल है । व्यवस्थापक विभागका भो इन्होंने बहत डलहौसो १८३० को सन्धिको तोड़ने के लिए कूट पुछ सुधार किया था । हिन्दू विधवाका पुनर्विवाह और राजनीति और खुद्रजमोचित उपाय अवलम्बन करनेमें धर्म परित्यागके कारण कोई सम्पत्तिके पधिकारसे वचिन जरा भी कुण्ठित न हुए। १८.१ को मन्धो भो सी न होगा, इन दो विषयों में इन्होंने नई पाईन बनाई थी। तरहके किसी अन्याय उपायसे तोड़ दी गई। अयोध्या इस तरह ८ वर्ष तक भारतवर्ष का गासन कर हटिम माम्बाज्यभुक्त करनेका विचार खिर हो गया । लार्ड डलहोमो ४४ वर्षको उम में, १८५६०को ठी बाजिद पलोको सम्मत करने के लिए डम्सहोसो तरह तर। मार्चको भारतमे चले गये राजकार्य में गुहार परिचमके को तरको ढढ़ने लगे। नवाबने किमो तरह भो उनके कारण पनका स्वास्थ्य बिगड़ गया था। ये खदेश में जा प्रस्तावको मजर न किया। लार्ड डलहोमोन साधारण कर ज्यादा दिन सुखशान्ति नहीं भोग पाये थे। इनको घोषणाके द्वारा अयोध्या राज्य विस्खल किया। उन्होंने प्रमुखता दिनों दिन बढ़ने लगो। १८७०० १८ प्रकट किया कि, पयोध्याके प्रजामों के प्रति कर्तव्य पाल. दिसम्बरको धनको जीवनलीला शव होगी। . . मके लिए तथा परमेश्वर के पाशीर्वाद पर निर्भर कर सार्ड इससी प्रखर बुरिसन्म घे चोर उनको हमने यह कार्य सम्पादन किया। इस जगह यह कर दृष्टि मब तरफ रखती घो। पीके कोर रूपये भारत दला. जकरो कि अयोध्याको टिमसामान्य मामिल: शासन किया था। मासूम होता है कि मानो दलीय पारने लिए वो किसी भी प्रजाने उसहोसीने राबविल करने का कारोबार कर