पृष्ठ:हिन्दी विश्वकोष नवम भाग.djvu/१०५

विकिस्रोत से
Jump to navigation Jump to search
यह पृष्ठ शोधित नही है


गयो । पाले सोगालात के बाद बालविलमती रिसार जब मेला पानी। (वि.) साकतिमात डावीत कालाने मग मटमला. गदला ... ....... डाकीर ( पु.) वि भगवान्, गजुर। याद | डावा (हि.पु.) या देखो। • सिर्फ गुजरातमें प्रयोग किया जाता है। | डाबी ( जी.) बाटीपास डाकर ( पु.) १ पधापन, विज्ञान, पाचार्य। डाम ( पु.) १ एक प्रकारका कम । बुध। . २ चिकित्सक, वैच, कीम। पानमरी, पामका मौर। ४.कपा मारियला डाकरी (हि.सी.) १ चिकित्साशाखा, धक-विद्या। डामक (E.वि.)ताला, टटका।: . २ पावाल पाई। डामचा ( पु.) मचान, माषा। .. डासार ( पु.)गक्टर देखो। डामर (म.पु.) १ महादेवकधित तमासविषष। डागा (हि.पु. )वह डंडा जिससे नगारा बजाया जाता इन तन्बोकी संख्या, रनके नाम और मोकसंस्था वाराही. सन्धमे स प्रकार लिखो है, १ योगडामर-सको भीया. डागुर (हि.पु.) जाटोंकी एक जाति । संस्था २३५१५। २ शिवडामरसको बोकसंस्खा डाति (सं० सी० ) घण्टा और थालीका शब्द। ११.०७१।३ दुर्ग डामर-इसकी कथा १९५५ डायरो (स. सी.) डहरो एषोद साहः । दोधकर्कटो। ।४ सारस्वतडामर-इसकी झोकसंख्या । डाणायाम-दरमा पन्तर्गत परमयोणिसे ३ कोस ५ बडामर-सको बोकसंख्या १.५। गपर्व उत्तरमै पखित एक ग्राम। (म• ब्रह्मखं. ४७१६३) डामर-इसको बोकसम्मा .०६.।बाराहीतम्ब देखो। डाट (हि. स्त्री.) १ टेक. चाँड़। २ वह वस्तु जिससे २ चमवार । १ग, पाडम्बर, ठगटबाट। कोई छेद बंद किया जाता है। वह वस्तु जिससे | “रतिगलिते ललिते कुसुमानि विखणिमिरे ।" बोतलका मुंह बंद किया जाता है, काग। (गीतगोविन्ध १११११) डाटना (हिं. क्रि०) १ एक पदार्थको दूसरे पदार्थ पर ४ कोटचक्रविष, दुर्ग के एमाधम जान लिए जोरसे दबाना । २ टेकना, चाँड़ लगाना। ३ छिद्र बंद बनाए जनिवास पोर्मिस एक। करना, मुंह कसना। ४ कस कर भरना, अच्छी तरह ___"पश्चमो गिरिकोडक्ष षष्ठ: कोतव डामरः।" ( समयायत) घुसेड़ना। ५ वृति भर खाना, कस कर खाना। क्षेत्रपालविधव, देवपाल भैरवीमिले एका डटामा, भिड़ाना। डाढ़ (स्त्रिी०)१ चौभड़, दाढ़। २ वट भादि बक्षीको | डामर ( पु.)१ साल का मोदारा एक जटाएँ जो नीचेवी पोर लटकती रहतो, बरोहा प्रकारका गोद। इसका पादक्षिण पश्चिमी पाळी डाढ़ा (हि.सी.) १ दावामन, वनकी पाग। २ भाग। पहाड़ी पर मिलता। कहसका देलो। ३ ताप, दाह, बलन। छोटो मधुमक्खियोंकि इसे निवसमिकामा एक अली (हि.सी.) १ चिबुक, ठुली। २ चिबुक और | प्रकारका लसीमा राल । ४ इस तसाराम बनानेवाली • गडखा परके लोम, दाढ़ी। छोटी मधुमक्खी। डाब (हिमी.) १ डाम नामकी घासाचा नारि | जामल (हि.स.) जोषम पयंत बारागार, अम पला परतणा, तलवार लटकनिकी चमड़े या मोटे | भरके लिये केटा २ 'हेय निकायमा दहा भारत- अपड़े की चौड़ी पहो। | वर्ष में अंगरेजो सरकार उन अपराधियोंको जमनं डाक ( वि.) गमक देवो । . . समें मेवा करती जोपूब भारी अपराध करते है। जावर (Rs.) नीची जमीन । २ गत, पोखरी, उसी दलको डामल बात ... . गासी मारा धोने चोरी करनेवाः परामारोश (हि. वि.) गांड देवे।। Vol. Ix.26