पृष्ठ:हिन्दी विश्वकोष नवम भाग.djvu/३५२

विकिस्रोत से
Jump to navigation Jump to search
यह पृष्ठ शोधित नही है


५४८ तातियामील (तासामील)-ताकतवर सम ४५ वर्ष की थी, इम मरह अममयमें बहत परिश्रम, विचारकै दिन अदालत लोगों को भोड़से ठसाठस भर नागरिक अनेक अत्याचार प्रादिमे उमका शरोर कुछ गई । तातियाको जो कुछ पूछा गया, उमने सबका सत्य दुर्वल हो गया तथा लगातार ११ वर्ष तक पुलिस, पल्टन खोकार किया था। तौलिया के लिए फाँसोका एका मालगुजार भादिक माय यद्ध कर और हजारों घर जला हुआ। कर वह बहुत हो काम हो गया। अब दस्य पति तातिया तांतियाको मजबतोसे बाँध कर जब्बनपुरको जलके इम मयको कोर कर गधर्म ण्ट से क्षमा पानके उपाय भोतर पहुँचाया गया। बहुत से लोग तो तयाके लिये मोचने लगा। इसके लिये अाखिर उमे बहतों के साथ रोने लगे। तातिया राजदण्डमे दगिड़त हो हमेशाके मित्रता करना पडो। उमको तरफसे गवर्मे गटको दो लिये इस लोकमे बिदा हो गया ! एक बात करने के लिये बहुताको उमन रुपये भो दिये। तातो (हि स्त्रो० ) १ पति, कतार । २ बालबच्चे ___ पहले कमको हिम्मत यहाँ तक बढो हुई थो, कि औलाद । (पु.) ३ जुनाहा । जब उमे गरीबांके कष्ट निवारण करने को इच्छा होती तोवा (हि. पु. ) ताम्र देखो। पार महजमें कहींसे द्रव्य-संग्रहका उपाय न देखता, ताँबा (ह. स्त्री.) . एक प्रकारका तबिका छोट। बर सब चलतो गाड़ों में चढ कर बाहुबलसे गाड़ीका दरवाजा तन जिमका मुंह चाड़ा रहत' है । २ ताँबेको करको । खोल डालता था। म तरह जी० आई० पोर ल ताँबेकारी ( हि स्त्री. ) एक प्रकारका लाल रङ्ग। गाडोम चढ कर चावन्न, गेह, चना प्रादिक चोर नाचे | ताँबेल (५ ) कच्छप, कछुआ । डाल देता और बाद उम गाड़ी मे उतर कर उन चीजोंम नॉवर (हिं. स्त्रो० ) १ साप, ज्वर, हरारत। २ जड़ी। गरीबीका प्रभाव दूर करता था। किन्तु अब उम शक्तिका ३ मो, पछाड़ा हाम हो गया, दृष्टिशक्ति भी घट गई वह तेज, वह उद्यम | तावरी (हिं स्त्री० ) तांवर देखो। अब उसमें कुछ भी नहीं रहा ! ताक ( अ.पु० ) १ चोज वस रखनके लिये दोवारमें बना तोतियान मेजर विरोप्रसाद सो० पाई० ई०से- हुआ गट्टा, पाला, ताखा । ( वि० ) २ विषम, जो अङ्गजाम क्षमा मांगने के लिये मित्रता को। ईखरो मख्याम बगबर न हो। ३ अहितोय, अनुपान । प्रसादन एक दिन तातियाको निमन्त्रण दिया । तातिया | ता; ( हिंस्त्रो• ) १ अवलोकन, ता कनेको क्रिया । २ जब इनके मकान पर निमन्त्रण रक्षाके लिये उपस्थित अनुमन्धाम, खोज, तनाग । ३ किसो अवसरको प्रतीक्षा, हुषा, तब इन्हीं के षड़यन्त्रमे पुस्लिमके हारा पकड़ा गया। धात, दाँव। ४ स्थिरदृष्टि, टकट पम पर तामियाको अनुचर पुस्लिमसे बहुत कुछ लडं, पर ताकजुफ्त (फा• पु० ) एक प्रकारका जुआ। इसमें एक किमो तार मोत कार्य न होमके। ग्विलाड़ो मुट्ठोके भोतर कुछ कोड़ियों वा इमो प्रकारको "atतिया पकड़ा गया है" इम मवादको पा कर दूमरो वस्तुएँ ले कर मरेको पूछता है कि बस्तोंकी अगरेज गवर्मेण्टके आनन्दको सोमा न रहो। पुल्लिम- ख्या मम है या विषम। यदि सरदाता ठीक बसला कम चागे मात्र ही अपने कटका लाघव ममझ कर देता है, तो वह जोत जाता है। पानन्दसे नाचने लगे। ईखराप्रमादन तांतियाको विचा- ताक झोक (हिं स्त्रो०) १ कुछ प्रयत्नपूर्वक दृष्टिपात, राय बन जाँके पास भेज दिया। किन्तु बहुतसे लोग पर ठहर कर बारवार देखनेको बिया। २ छिप कर मन्देह करने लगा कि वह असलो तोनिया है या और देखनको क्रिया । ३ निरीक्षण, देखभाल । ४ अन्वेषण, कोई। पन्त भनिक प्रमाण धारा निगा य हो गया कि, तलाश, खोज । वहो अमली ततिा है। ताकत ( अ० स्त्रो. ) बन्ल, शक्ति, जोर । २ मामयं । अब ताँतियाका विचार होने लगा। तौतियाक साबमवर ( फा०वि०) १ बलवान, बलिष्ठ । ३ सामय- विरुह हमारी पभियोग उपस्थित हुए। तौतियाके वाम, जिसे बस हो।