पृष्ठ:हिन्दी विश्वकोष नवम भाग.djvu/५५५

विकिस्रोत से
Jump to navigation Jump to search
यह पृष्ठ शोधित नही है


तिमि A Megaptera Longimana or The Johnstone's | २०.० फुट पर्यन्त चले जाते हैं। शिकागे लोग इस जाति- Hump-backed whales वृहत् कुमपृष्ठ तिमि-उत्तर के तिमि पकड़ने को नहीं जाते। पहले तो रमका पवार बा जर्मन सागर। मा बड़ा कष्टकर घोर उत्तिमिको अपेक्षा विपद्जनक है, उस पर इनको चर्चा बहुत कम और तिम्यखि सुद्र २॥ Megaptera Kumira or the Kuzira-कुलोय और मिलष्ट होती है। रकयांलको गलेकी नाल पौरोको तिमि या जापान देशादि कुमपृष्ठ तिमि-जापान सागर । अपेक्षा दी होती है। इसलिए ये मछलियां इत्यादि खा सकते हैं और छोटे छोटे : कोड़े मकोड़े तो एक हो A Megaptera Americana or the Bermuda Humpbacked whale वामदा झपाटेम हड़पकर जाते है। एक बार एक कुँयालके ४.Megaptere poeskop or the Cape Jump पेटमें छ: सौ काड मछलियों के अस्थिप जर पाये गये थे। backed whale, उत्तमाशा अन्तरोपका कुमपृष्ठ तिमि - रस जातिके केवन्त दो उपभेद देखे जाते है। दक्षिण आफ्रिका। | Bulaenoptere rostata उत्तरदेशीय चच मुख तिमि-उत्तर या जर्मन सागर पर्यन्त । ५। M. Eschrichtus Robest us-स्थ लकाय कुमपृष्ठ २ | Bulaenopterns Sruineya or chinansis-चोन तिमि। Balaenoptterd or the Rorqual ( or the देशोय चञ्च मुन्न फर्मोजा होपके निकट । pike whales ) खोडेन। दन्तहोम तिमिके चौथे विभागका नाम Physalu. दन्तहीन तिमिणो टतोय विभागका नाम है अर्थात् पृष्ठकण्टको है। ये देखने में ठोक रक्यालको चंचुमुख तिमि । तरह होते है। फर्क इतनाही, कि उनको पोठ बड़ोलम्बो चौडी और उसमें कांटे होते हैं। ये भो नच सुख हो । इनका मुख सूक्ष्म होने के कारण इनका यह नाम पड़ा और यथार्थ में तो उन्हें चञ्च मुख तिमि का एक उप- है। इनकी पीठ में एक छोटेसे पाको तरह पृष्ठकण्टक विभाग कहना हो युक्तिसंगत जान पड़ता है। इनका होता है। तिमिजातोय जीवों में यही श्रेणो वृहत् है। स्वभाव इत्यादि भो रकुयालको भौति होता है। इनके इम तिमिको अपेक्षा और बड़ा जोव संसारमें दूसरा ये भेदर- नहीं है। उत्तर देशका पच मुख तिमि १०० फुटसे भी बड़ा होता है। यह वृहत् श्रेणो हो अङ्ग- Physalrus Antiquorum or the Razor back- रेजीमें Rorqual नाममे ख्यात है। इसलिये हिन्दोमें रपृष्ठ-ग्रीनले बह और उत्तरमहामांगर। इसे र' यल या वृहत्काय चञ्च,मुख तिमि कहा जा २r Phystelus Boops - वूप-उत्तरसागर । सकता है। इस श्रेणी में २५।२६ फुट दोर्घ तिमिकी APhysalus fasciatus or the Peruvian Fin- एक जाति है जिसे अंग्रेजोमें piko-whole या वर्षामुख ner, पेरू देशीय पृष्ठकण्टक-पेर उपकूल। सिमि कहते हैं। इनके मुखको पालति अग्रेजो पारक | Physalhes Iuari or the Japan Finner- नामक वर्वा अस्त्रको तरह होतो है। रमी श्रेणोके तिमि संख्यामें अधिक पाये जाते हैं। उत्तर यरोपरगालों.. जापानी पृष्ठकण्टक-जापान उपकूल। का रास्लेटको सराध सर और सदर सफेटोता है। ५ Physalna Austrulis or the Southern ये ब्रिटेनहीपके दक्षिणमें नहीं पाते । जलकं एक स्थानमें . Finner दक्षिण महासागरका पृष्ठकण्टक-दक्षिण स्थिर हो कर बहा नहीं करते, वरन् तेर कर घूमा करते महासागर। । घण्टे में ये चार पाच मोल घूम सकते और पतिउच्च Physalus Dugnidii-माकेमो दोपका पृष्ठ- करते। ये वर्षासे पाहत होने पर एक दौड़ में कण्टक-पानी उपकूल।