पृष्ठ:हिन्दी विश्वकोष नवम भाग.djvu/५६

विकिस्रोत से
Jump to navigation Jump to search
यह पृष्ठ शोधित नही है


टेनी रेलिमा मेरी' नामक एक नाटक प्रकाशित किया, सर हेनरो मूषा जिमसे देरी बुनी जाती है। ३ एक पोधात रमको पारभिडने रमका अभिनय किया था। १८०६ में कलियां रणने पोर चमड़ा सिझाने के काममें पातो। "ग" और ८७८ ई में “The Rovinge" प्रका- ३ बक्कमको कलो।। शित इा। १८८३ ई में ग्लाडष्टोनके साथ आप भमण टेग (हि. स्त्री. . एक प्रकारका सरसों, उमटो। को निकले। इसके बाद ग्लाडष्ट भने प्रधान मन्त्रोको टेलिग्राफ पु० . य : शब्द 'Tele और grapho हमियतमे पाप को नाड को उपाधि दो। १८८४ ० इन दो ग्रोक शब्दांसे उत्पन्न हुआ है। इसका मौलिक आपका ऐतिम्ममिक नाटक "Becket प्रकाशित हुआ। अर्थ है दुनिपि। जिनमें किसो यन्वादिक हारा बहुत १८.२ ई में 'अकबरका प्र" नाम के एक बहुत हो दूर तक इशारेसे संवाद प्रादि मेजे जाते हैं, उमको टेलि- 8मदा कविता प्रकाशित हुई। १८८२ ई. ता०६ ग्राफ (वा तार) कहते हैं। बहुत प्राचीन कालमें अग्निके श्रको घरको रातको ८४ वर्ष को *वस्थामें पापको मृय हारा मनादि बहुत दूरवर्ती म्यान तक भेजे आते थे। हो गई। उमके बाद इस काम के लिये नाना प्रकारको पताका, टेनो हि स्त्रो०) छोटी उँगलो। लालटेन, नोलोचिराग आदि दृश्यमान चिह्न तथा टेवारा (हि. पु. ) टिपाग देखो। बन्दुकको आवाज, भेरीध्वनि, घड़ी ओर ढकावाद्य व्यव. टेबुल ( पु०) मेज़। बत होने लगा। जिस चिन द्वारा सङ्कत किया जाता टेम हि स्त्री०) १ दीपकको ज्योतिः दिएको हो । था, उसका अर्थ पहले ही दोनों पक्षवालोको मालूम (पु.)२ समय, वता। रहता था। इसलिए इन मतों द्वारा कुछ निर्दिष्ट टेमन (हि.पु०) सौपका एक भेद । मख्या के सिवा और कुछ अभिप्राय व्बत नहीं किया जा टेमा (हिं पु० ) छोटी टिया जो कटे हुए चारेको । सकता। फिलहाल बिजली के हारा ही सर्वत्र टेलिग्राफ बनाई जाती है। कार्य सम्पन्न होता है, इसके द्वारा हर एक सरहका टंग (हिस्त्री० ) १ गनिमें अचा खर, तान, टोप। सवाद अतिशीघ्र बहुत दूर तक स्पष्टरूपसे भेजा जाता २ मुकाग्नेको आवाज, बुलाहट । ३ निर्वाह, गुजर। है। इसका विवरण ताडितवार्तावह शब्दमें देखो। टेर मैनपुरी जिले के एक कवि । ये १८३१ में जन्म यद्यपि ताड़ितवार्तावहके हारा सबाद भेजनेक ग्रहण किया था। उपाय प्रति प्राधुनिक है, किन्तु मझेत हारा निर्दिष्ट टेरक (म त्रि०) के कर पृषोदगदित्वात् माधुः । वनचक्षु, संख्यक संक्षिप्त अभिप्राय दूरस्थान में व्यक्त करनेकी प्रथा एंचा, भेगा। इसके पर्याय-वलिर, कंकर और कंदा बहुत पाचीन है। ईसाको प्रायः ठो शताब्दीमे पहले शव के आगमनको जतलाने के लिए उच्चस्थान पर अग्नि के टेरना (हि क्रि०) १ तान लगाना. जोरसे गाना। २ निशान देनेको प्रयाका उल्लेख पाया जाता है। एकि पुकारना, बुलाना। ३ पूरा करना, निबाहना। ४ लम् द्वारा वर्णित आगामेम्ननके वृत्तान्तके पढ़नेसे व्यतीत करना, बिताना, गुजारना । मालम होता है कि, य-नगरको ध्वससवाद श्रेणीवर टेरवा (हि.पु.) हक्क को मलो। अनलमाला हारा बहु दूरस्थ ग्रीसमें विज्ञापित रुपा था। टेरा (हिं पु०) १५ कोलका पेड़, ढेरा। २ वृक्षस्तम्भ, यही टेलिग्राफ द्वारा संवाद-प्रेरणको सर्वापेक्षा प्राचीन • धड़, तना। ३ शाखा। वि०) ४ ऐंचाताना, टेपणा तम घटना है। स्काटलण्ड में एक गुच्छे काठ टेराकोटा ( ० पु. १ पकी हुई महोके जैसा रङ्ग, की अग्निसे अग्रेजों के पानको पाशा, दोनों की टकोहिया रङ्गः । २ को हुई महो। इसमें मूर्तियां, जलने से यथार्थ पागमन और बराबर बराबर चार समारतों में लगाने के लिये बेनबूटे आदि बना अग्नि जलने से शवों की मख्या बहुत ज्यादा है- टेरोहि स्त्री.)१ पतली शाखा, टहनो : २४ ऐसा माल म होता था। रातको रस सरहको अग्नि