पृष्ठ:हिन्दी विश्वकोष नवम भाग.djvu/६७८

विकिस्रोत से
Jump to navigation Jump to search
यह पृष्ठ शोधित नही है


६६६ इसको राजधानो है मो नगरमें पहले खलोफाओंको फल १ लाख ४० हजार वर्गमोल है। बोगदाद हो राजधानो थो। युफ्रेनिमके किनारे प्राचीन नगर बाबि- इमको राजधानो है। शासन विभागके अनुसार कुदि। लनके ध्व'मावशेषके मध्य वतमान हिलेह नगर अब स्तानके कई शइसके अन्तर्गत है । मेमोपोटेमिया भो स्थित है । युफ्रेनिम और ताइग्रोस नदोम दम प्रदेशमें इसके प्रधान है। अगरेज लोग इष्ट-इण्डिया कम्पनो के मिलकर माट पल-परब नाम धारण किया है। दम नामसे जब भारतवर्ष में पाये थे, तभीसे इस प्रदेश के साथ युक्ता-नदोके किनारे बमोरा वा बज़ग नगर अवस्थित है। उनका सम्बन्ध चला जाता है। उस समय बसोरमि इम नगरका वाणिज्य बहुत फैला हुआ है। यहाँका उनको एक कोठी थो और बन्दर अब्बास नामक स्थानमें गुन्नाबका फल बहुत उमदा होता है। उनके एक एजंट रहते थे। १८३३ ई० में इस एजेंटको युरोपोय तुरुक-दमके उत्तरमें अष्ट्रिया, सर्मि या राजनीतिक क्षमता बोगदादके गरेज-प्रतिनिधिके हाथ पौर नमानिया, पूर्व में क्षण मागर, दक्षिण में इजियन- चलो गई है। भागर पोर ग्रोम तथा पश्चिममें आद्रियाटिक सागर है। यूरोपोय तुरुष्कके अधिकांश स्थल हो पर्वताकोण दानियूब नदी उत्तरमें गाग्वा प्रशाग्वानों के साथ संपूर्ण देशमे है। बलकान पर्वत प्रभो यद्यपि रूमके अधीन है, तोभो बहतो हुई नमागरमें गिरो है । दक्षिणांशमै बहुत इसके गिरिपथ तुरुकके काममें पाते हैं । यहाँक खनिजों मो छोटी नदिया है। १म देशका जलवायु स्वास्थ्यकर मेंसे लोहा ही अधिक है, इसके अलावा चांदो मिला और माधारणतः न अधिक उष्ण और न शोत है। किन्तु हा सोमा, ताँबा, गन्धक, नमक, फिटकरी और कोयना ममय समय पर बहत ग्रोम और योत पड़ता है। यूरोपीय भी पाया जाता है। तुरुको निम्रलिखित कई एक प्रदेश लगते है-रूमे- यूरोपोय तुरुको ७६८ मोल और एशियाक तुरुष्कर्म निया. पूर्व रुमेनिया अलवानिया और बुनगेरिया। केवल ५०० मोन तक रेल लाइन गई है। कनस्तान्तिनोपल वा रस्ताम्नु ल शहर तरुष्क साम्राज्य यूरोपीय और एशियाक तुरुष्क के अधीन अफ्रिकामें को राजधानो है। यह नगर बसफरसके किनारे अव. कई एक देश है। ये सब मिल कर य रोपमें शुरुष्क स्थित है । मगर देखने में बहुत सुन्दर लगता है। अहा- सामान्य वा पटोमान-साम्राज्य कहलाता है। तुमष्क निकायें प्रायः नहीं हैं। अधिकांश घर काठके बने हुए साम्राज्य एक समय समस्त दक्षिण-य गेप तथा उत्तर- है। रास्त बहुत तंग पोर गलोज है। कलकत्त की प्राफ्रिका तक फैला हुआ था। रूस-तरुष्कयुद्धके बाद अपेक्षा यह शहर छोटा है। अभी तुरुष्क माम्राज्य के अधीन अफ्रिकाम निपलो, बार्का, . गनियोलो शहर दर्दे नेनिस प्रणालो किनार प्रवामियर और एशियामें एशियाक सुरुष्क तथा तुरुष्काधि- स्थित है। यह शहर सुरुक-राज्यके नौ-सेनाकै रहनका कल अरब मात्र रह गया है। प्रधान अड्डा है। पड्रिया मोपलमें (गेमके मम्राट तुरुष्कर्म तुर्को, यहूदो और ग्रो कचई के ईसाई तया एड्रियन हारा प्रतिष्ठित ) तुर्कोको प्राचीन राजधानो थो। ___ अन्यान्य श्रेणोके लोग भी वाम करते हैं। यही राज्यका दूमग शहर है। मनोनिका (प्राचीन थेमा. तुरुकमें इस लामधर्म प्रधान है । सम्राट भो मुमल- लोनिका ) दूमग बन्दर है।. मान थे। अबसे कुछ पहले यहाँ के सम्राट का नाम बुनगरिया प्रदेशमें बुलगेरिया और स्कुमला, बल सुलतान पबदुल हमीद (२य ) था। इनका जन्म १८४२ काम पंव तको बाटो पर अवस्थित है। यह सुदृढ़ दुर्ग से ईमें हुपा था। ये १८७६ ईमें राज्य सिंहासन पर विग इपा है । वर्णा मासागर किनारे एक बन्दर अभिषिक हुए थे। अब साधारणतन्त्र प्रचलित हुआ है। है। सिलिट्रीया, विनोमा और सोफिया (बुनगेरियाको राज्यकी शासनप्रणाली - तुरुष्क के सुलतान खेछा- राजधानो ) तथा और भो कई एक प्रधान नगर है। चारोराजा थे । उनको रच्छामें कोई भी बाधा नहीं हो अरबिस्तान वा तुरष्काधिक्कत पर प्रदिप-सका क्षेत्र- सकती है। पाइन देशको प्रचलित प्रथा वा प्रवाका