पृष्ठ:हिन्दी विश्वकोष नवम भाग.djvu/६९२

विकिस्रोत से
Jump to navigation Jump to search
यह पृष्ठ शोधित नही है


६८० तुरुक-तुर्वर खां जिससे योगों को बड़ो मुमोचत झेननो पड़ो। उनके करने के लिए तैयार हुमा परन्तु फ्रान्स पोर परसोने बहुतमे देश हस्तथ त हो गये। इस युद्ध के कारण माफ कह दिया कि हम इसमें सहायता न देंगे। इधर जातीय दल को शक्ति और भी बढ़ गई। तोन महिने रूसको सोवियेट-गवर्नमेण्ट तुर्कों को न्याय्य हक दिलाने के भीतर प्रोक लोग तुर्कोसे निकाल भगाये गये। में महायक हुई। फिर एक महायुद्धको पाशहासे ___ग्रोकांक भगाये जाने और स्मरना के जातोय दनके मन चिन्तित हो उठे। अन्तमें मित्र-गलिके अनुरोधसे अधिकारमें भा जानेसे एशिया माइनर, कमाल पाशाका कमाल पाशाने 'निई प्रदेश पर श्रावामण नहीं करेंगे' प्रभुत्व पबिसवादो हो गया था। इम ममयसे ले कर ऐपा प्रकट किया। आखिर एगोरा (तुर्को)-गवर्नमेण्टको मुलतान महम्मद पलोको भागने सक जिस पुरतोके साथ स्वाधीनता मम्मण नियोक हाग स्वोलत हुई। कमाल पाशाने समस्त प्रकार राष्ट्रीय प्रचेष्टाएं को थीं, फिलहाल कमाल पाशा हो तुर्कीके सुलतान और वह यथार्थमें प्रशंसनीय हैं। उन्होंने गोघ हो ग्रोस पोर अंग्रेजों के हतशासनका अवसान कर एङ्गोग-गवन कनष्ट ण्टिनोपल अधिकार करने के लिए दानिलिसः मेगटको स्वाधीनतामे चला रहे हैं। प्रणाली (समदमकट) की ओर सेना भेजो। सेभको ताक गोर-तरंगगाह देखा सन्धिके अनुमार तुर्कोका कोई कोई स्थान मित्रशक्ति के तुरुहो ( हि स्त्रो०) तुरही देखे।। साथ लग गया था । उन स्थानों का नाम था निहन्ट स्थान तुया (Eि स्त्रो.) तुरही देखो । इन स्थानों में सुकियां का प्रवेश करने का अधिकार न था। तुर्क (हि.पु.) १ तुर्किस्तानका निवानी । २ तुरुष्कका परन्तु अपनो शक्ति पर भरोसा रखनेवाले विजयो कमाल निवासो, तुको का रहनेवाला। . पाया सेना-महित वल-पूर्व क उपर अग्रसर हुए. जिममे तुमान (फा. पु.) तु तुक' जातिका मनुष्य । र तुर्को य रोपोय राष्ट्र-ममूह अत्यन्त चञ्चल हो उठे। फरामोमो घोड़ा जो बहुत बलिष्ठ ओर माहसो होता है। पौर इटलीमेनाका वहां रहना अनावश्यक समझ वह दुक मवार (फा० पु०) एक विशेष प्रकारका सवार। पहलेसे हो.वहसि हटा लो गई थी। मात्र थोड़े से अंग्रेज- तुकि न ( फा० स्त्रो०)। तुर्क जातिको स्त्रो । २ तुक को मनिक कुछ गोजहाजोंके माथ, तुर्कीको स्वार्थ · स्त्रो। रक्षा के बहानेसे वहां पहरा दे रहे थे । कमाल पायाको तुर्किनो (हि. स्त्रो० ) तुकिन देखो। इम विजयमे हालै गडको तमाम कूट-कल्पनाए नष्ट तुर्को ( फा० वि०)। तुर्किस्तानका । ( स्त्रो, २ तुर्थ होतो देख, हटिश मन्त्रियांको भोतगे चोट पहुँच।। स्तानको भाषा । ३ तुकिस्तानका घोड़ा । ४ तुर्का कोमो उन लोगोंने तुर्कीका अपवाद उड़ाया कि तुकियोंने ऐंठ, पकड़, गर्व । प्रोकों पर प्रमानुषिक अत्याचार किया है तथा य रोप तुधर खो-एक मुगल-मर्दार। १३०३ ई० में ६ ला-उद- और अमेरिकाको सशस्त्र महानुभूति पाने के लिए कोशिश दोन जब चितौर-बांक्रमण करने गये थे, तब तुर्धर खाने भी कोः परन्तु 'फरामोसो अनुम-न्धान समिति से प्रमाणित भारतवर्ष लटनेको तैयारियों को थौं । १२०००० पुषा कि तुर्को द्वारा प्रत्याचार किये जानको अफवाह अखारोहो सेना ले कर दिखीके समीप जमुना के किनारे 'बिलकुल झठी है। जा कर इन्होंने पड़ाव डाला था। पालासहोनको' पसी बोच में जातीय पदातिक और पवारोहो सेना पहले ही मालम हो गया था, वे शोध हो राजधानामें चालकके पास पहुंच गई थी। कमान पाशाने भो 'थम लोट पाये। यद्यपि अलाउद्दीन तुघर खाँसे पहले हो पौर कन्टेण्टिनोल अधिकार करेंग' ऐमो बोषणा रामधानी में पहुंच गये थे, तथापि व सेनाको राजताना कर दो। मध्य थे स पर आक्रमण करने के लिए भी छोड़ पाने के कारण पग्रसर हो कर तुघरसे युहन कर तुर्कमेनो तैयार हो गई। लायड जाने पब चुप सको सिर्फ दिलोक सपकगूठक बाहर परिग्वा खुदवो समा उचित न समझा। स एड तुर्की विश्व युद्ध कर दो महीने तक बैठे रहे। मुगकीने बाहर