पृष्ठ:हिन्दी विश्वकोष पंचदश भाग.djvu/१६३

विकिस्रोत से
Jump to navigation Jump to search
यह पृष्ठ शोधित नही है


बड़ौदा १५७ और शङ्का जिला ले कर संगठित है। ३रा दक्षिण वा पीछे और भी कितने सेकेण्डीस्कूल, प्राइमरी स्कूल नवसारी विभाग है। इसके अन्तर्गत नवसारो, गण- खोले गये। इन सब स्कूलों में सभी वर्णके छात्र सब देवी, पलसान, कामवीज, बेलाछामोह, बेरो और तोन- प्रकारके विद्याध्ययन करते हैं। बड़ोदा कालेज १८८१ गढ़ जिले हैं। ४थे अमरेलो विभागमें अमरेली, ओख- ईमें स्थापित हुआ और उसी साल बम्बई विश्वविद्या- मण्डल, कोरीनारधारी और दायनगर आदि जिले अव- . लयसे स्वीकृत किया गया। स्कूलके अलावा राज्यमें स्थित हैं। अलावा इसके बृटिश सरकारके अधिकृत ! बहुतसे अस्पताल भी हैं। जहां सब तरहको ओषधियां स्थानोंके मध्य गायकवाड राज्यको निज सम्पत्ति और मिलती हैं। १८६८ ई०में एक पागल-खाना ( Lunil- सामान्त राज्य है। tic aslum) खोला गया है। राज्यमें गोलन्दाज, घुड़- इस जिलेके उत्तर जितने जिले पड़ते हैं, वे सभी सवार और पैदल तीनों प्रकारको सेना हैं जिनकी संख्या समतल हैं। यहां नर्मदा, ताप्ती, माही नदियां वहती हैं। ४७७५ है। जलवायु स्वास्थ्यप्रद है। काठियावाड के निकटवत्ती भूभागके तीन ओर समुद बड़ौदा १ बड़ौदा राज्यका एक जिला। यह अक्षा० २१ हैं। उत्तर छोड, कर समस्त बडोदाराज्यमें सरस्वती, : ५० से २२४५ उ० तथा देशा० ७२ ३५ से ७३ पू०के मध्य धाधर, किम, अम्बिका, बनास, रूपन्, लून, जारो, विश्वा- अवस्थित है। भूपरिमाण १८८७ वर्गमोल और अन- मित्र, सूर्या, ओड, वर्णा, अम्बा, करड़, जम्बुआ तथा संख्या साढ़े छः लाखके करीब है । इसके उत्तर बम्बईका तेम्भी आदि नदियाँ विद्यमान हैं। राज्यमें तरह तरहके। कैरा जिला; पश्चिममें ब्रोच, काम्बे, दक्षिणमें ब्रोच और अनाज, रूई, तमाकू, अफीम, ईख और तिलादिबीज रेवाकान्था तथा पूर्व में रेवाकात्था और पांचमहाल है। उत्पन्न होते हैं। चावल, गेहू और बाजरा यहांके। इसमें १५ शहर औह - ४ ग्राम लगते हैं। जिलेके अधि- अधिवासियोंका प्रधान भोजन है। कांश लोगोंकी भाषा गुजराती है। यहां सूती कपड़े ___ स्वाधीन राज्यकी तरह पहलेसे हो यहां टकसाल तथा पीतल और तांबेके अच्छे अच्छे बरतन तैयार होते प्रतिष्ठित है। बड़ोदा राज्यको नामाङ्कित मुद्रा वादशाही : हैं। मुद्रा कहलाती है। राजस्व वसूल तथा राजकार्य की देख शासन कार्य मुबा द्वारा परिचालित होता है। रेख करनेके लिये यहां सरसुवा, नाएर सुवा, वहिवतिदार, विद्या शिक्षामें यह जिला बहुत बढ़ा चढ़ा है। अभी महलकार आदि विशिष्ट कर्मचारी नियुक्त हैं। विचार- यहां १ कालेज, १ हाई स्कूल, ६ एङ्गलो वर्नाक्युलर स्कूल कार्य के लिये राज्यमें वरिष्ठ अदालत' ( fligh court ) : और ४७६ वर्नाक्युलर स्कूल हैं। इसके अतिरिक्त १ नामक सर्वश्रेष्ठ विचारालय प्रतिष्ठित है। वर्तमान राजा ! सिविल अस्पताल, १ पागल खाना और १० औषधा. सयाजी राव १८८१ ई०में राजगद्दी पर बैठे। इनका पूरा लय हैं। नाम हैं, एच, एच, फरजंद-इ-खसी-दौलत-इ-इंगलिशिया २ उक्त जिलेका एक तालुक। भूपरिमाण १६० महाराजा श्री सयाजी राव, गायकवाड़ सेना खास खेल वर्गमील और जनसंख्या ६० हजारसे ऊपर है। इसमें १ शमशेर बहादुर, जि, सि, एस, आइ, जि, सि, आइ, जि, शहर और ११ ग्राम लगते हैं। माही, मेनी, रङ्गल, सि, आइ-। इन्हें बुटिश गवर्मेण्टसे २१ तोपोंको जाम्बा और विश्वामित्री नामकी पांच नदियां तालुकके सलामी मिलती है। पड़ोदा राज्यका विस्तृत इतिहास मध्य बहती हैं। गायकवाड़ शब्दमे देखो। ३ वड़ोदा राज्यको राजधानी और शहर । यह अक्षा. राज्यकी जनसख्या २० लाखके करीब है। इनकी २२१८ उ० तथा देशा० ७३१५ पू० विश्वामित्री नदी भाषा गुजराती और मराठी है । १८७१ ईमें यहां के किनारे अवस्थित है। जनसंखया प्रायः १०३७६० है। पहले पांच स्कूल खोले गये जिनमेंसे दो में गुजराती, दो यह नगर विशेष समृद्धशाली है। गुजरात भरमें इसे में मराठो और एकमें अङ्करेजी पढ़ाई जाती थी। यदि दूसरा और बम्बई प्रदेशमें तीसरा स्थान दे, तो Vol. XV. 40