पृष्ठ:हिन्दी विश्वकोष पंचदश भाग.djvu/३९३

विकिस्रोत से
Jump to navigation Jump to search
यह पृष्ठ शोधित नही है


बिगड़े दिनः-पिछना हो जाना, खराब जाना । २ परस्पर विरोध या वैमनस्य । कोई और काम करनेके लिये सकेत रूपमें बजाई जाती है । होमा, लड़ाई झगड़ा होना। ३ व्यर्थ व्यय होना, घेफायदा विगूचन (हिं. स्त्री० ) १ वह अवस्था जिसमें मनुष्य किं- खर्च होना । ४ किसी पदार्थ के बनते या गढ़े जाते समय कर्त्तव्यविमूढ़ हो जाता है, असमंजस । २ कठिनता, उसमें कोई ऐसा विकार होना जिससे वह ठीक या पूरा दिक्कत । न उतरे । ५ दुरवस्थाको प्राप्त होना, अच्छा न रह जाना। बिग्गूचना (हिं० कि०) १ सकोचमें पड़ना, दिक्कतमें ६ नीतिपथसे भृष्ट होना, बद-चलन होना । ७रुद्ध होना, पड़ना । २ दवाया जाना, पकड़ा जाना । ३ दबोचना, धर गुल्समें भाकर डांट उपट करना, अप्रसन्नता प्रकट करना। दबाना। ८ विरोधी होना, विद्रोह करना । । पशुओं आदिका अपने बिगूतना (हि. कि० ) विगूचना देग्यो। स्वामी या रक्षकको आशा या अधिकारसे बाहर हो बिगोमा (हिं० क्रि०) १ नष्ट करना, विनाश करना । २ भ्रममें जाना। डालना, बहकाना। ३ छिपाना, चुराना । ४ तंग करना, बिगड़े दिल (हि.पु.) १हर बातमें लड़ने झगड़नेवाला, दिक करना। वह जो बात बातमें बिगड़ खड़ा हो । २ कुमार्ग पर चलने- बिग्गाहा (हिं० पु०) आर्या छंदका एक भेद । इसे 'उन्नीति' वाला, वह जो बिगड़ा हुआ हो। भी कहते हैं। इसके प्रथम पादमें १२५, द्वितीयमें १५, बिगर (हिं० कि० वि०) रहित, विना । तृतीयमें १२ और चतुर्थ में १८ मात्राएँ होती हैं। बिगरना (हिं० कि० ) बिगड़ना देखो। विग्रह (सपु० ) विगृह देखो। बिगहा (हि० पु०) बीघा देखो। बिघटना (हि क्रि०) विनोश करना, बिगाड़ना। विगही (हिं. स्त्री०) क्यारी, बरही। बिचकाना (हिं० कि० ) १ किसीको चिढ़ानेके लिये मुंह बिगाड़ हिं० पु०) १ बिगड़नेकी क्रिया या भाव । २ दोष, टेढ़ा करना, मुंह चिढ़ाना। २ मुहको टेढ़ा करना, बुराई। बैमनस्य, भगड़ा, लड़ाई। मुंह बनाना । बिगाड़ना (हिं० क्रि०) १ किसी बस्तुके स्वाभाविक बिचरना (हिं० कि० ) १ इधर उधर घूमना, चलना गुण या रूपको नष्ट कर देना । २ नीति पथसे भ्रष्ट करना, फिरना। २ पर्यटन करना, यात्रा करना, सफर करना । कुमार्गमें लगाना। ३ किसी पदार्थको बनाते समय या विचलना (हिं० कि० ) १ विचलित होना, इधर उधर कोई काम करते समय उसमें कोई ऐसा विकार उत्पन्न हटना। २ हिम्मत हारना। ३ कह कर इनकार कर कर देना जिससे यह ठीक या पूरा न उतरे। ४ दुरवस्था- जाना, मुकरना। को प्राप्त करना, बुरी दशामें लाना । ५ व्यथें व्यय करना। बिचला (हिं० वि०) जो बीच में हो, बीचवाला। ६स्त्रीका सतीत्व नष्ट करना, पातिव्रत्य भंग करना। बिचवाना (हिं० पु० ) बीचमें पड़नेवाला, वीच-बचाव ७ बुरी आदत लगाना, स्वभाव खराब करना। ८ बह- | करनेवाला। बिचारा (हिं० वि० ) बेचारा देखो। विगामा (फा०वि०) १ जो अपना न हो, जिससे आपस- विच्छित्ति ( स० स्त्री० ) शृङ्गाररसके ११ हावों से एक । दारीका कोई सम्बन्धन हो, पराया। २ अजनवी, अन- इसमें किञ्चित् शृङ्गारसे ही पुरुषको मोहित कर लिया जान। जाना वर्णन किया जाता है। बिगार (हिं पु०) बिगाड़ देखो। बिच्छू (हिं० पु० ) १ एक प्रसिद्ध छोटा जहरीला जान- विगारी (हिं॰ स्त्री० ) बेगारी देखो। वर। वृश्चिक देखो। २ एक प्रकारको घास। इस विगाहा (हिं पु०) बिग्गाहा देखो। घासके छू जानेसे बिच्छ के काटनेकी-सी जलन होती विगुल (भ.पु.) अंगरेजी ढंगकी एक प्रकारको तुरही है। ३ काकतु टिका पौधा या उसका फल । जो प्रायः सैनिकोंको एकत्र करने अथवा इसी प्रकारका | बिछना ( हिं० कि० ) १ बिछानाका अकर्मक रूप, फैलाया