पृष्ठ:हिन्दी विश्वकोष पंचदश भाग.djvu/५२२

विकिस्रोत से
Jump to navigation Jump to search
यह पृष्ठ शोधित नही है


५१६ बैलून- - बैसवारा एक दिन में दो दो बार रह ८६६ हाथ ऊपर चढ़े थे। आलोचनासे बलूनके स्थानमें वहो acreonaut और विपक्षियोंने उन्हें देख कर तोपस्से नष्ट करनेका aeroplane नामक यन्त्रमें रूपान्तरित हुआ है । प्रयत्न किया था । इसके बाद कुल माहव 'योरप्लेन' वा हवाई जहाज देखा। १७६६ ई० में माइनोके युद्ध में भी इस अमममाहसिक बङ्गालमे लगभग ५५ वर्ष पहिले राबर्टसन और कार्य में नियुक्त हुए थे। उसके बाद गवेनबिटिन बन, काइट नामक दो अङ्गरेज ब्योमयान पर चढ़ कर आकाश फ्राङ्कफोर्ट, उर्ज वर्ग और लिजके अवगंधा भी सामरिक में उडे थे। परन्तु यूरोपमें एक व्यक्तिने इस विषयमें ऐसी विभागके आदेशये बटन द्वारा विपक्षको गतिविधिके पटुता दिखलाई कि जिसे देख कर लोग दंग हो गये थे। निरीक्षणका कार्य चला था। १८, ई० में आन्तोआप इसके बाद स्पेन्सर नामक एक अङ्गरेजने बटनमें चढ़ अवरोधके समय तथा १८५६६० में मोलफेरिनो रणक्षेत्र कर भ्रमण करनेके वाद “पागचुट्" नामक छतरोकी में वलूनमें चढ़ कर उपाय निरिणकी चेटा की गई थी। महायतासे जमोन पर उतरनेका कौशल दिखा कर लोगों १८६१ ई० में अमेरिकाकं अन्तविप्लवके युद्ध में (ciri : को और भो चमत्कृत कर दिया। उनके साथ वैज्ञानिक- Weur's ) बैन्टनकी सहायतासे रिचमण्ड और अन्यान्य तत्त्वाविष्कारके अभिप्रायस Mr. J. ( houdhry आदि स्थानोंके अनेक गोपनीय मवाद प्राप्त हुए थे। कई भारतीय विज्ञानविद् भी बैलून पर चढ़े थे। प्रसिद्ध १८७० ई० में फरासीसियों के साथ प्रसियों का जो व्यायाम शिक्षक रामचन्द्र चट्टोपाध्याय अपनी शिक्षासे तुमल युद्ध हुआ था. उममें बहतायतसे ध्योमयानाका! "पाराचुर"-को सहायतासे कलकत्ते में उतरे थे। वैल्ब , म त्रि.) बिल्वजात, बेलका । व्यवहार हुआ था। शत्रु पक्षीय सेनादलों की अवस्था बन्धक ( स.वि.) विल्ब अहीरणादित्वात् बुञ। बिल्व- और उद्योगका पर्यवेक्षण, अबरुद्ध नगरो'से संवाद प्रेरण बल्बक कोय। और इतस्ततः गमनागमन तथा विपक्षीय बैटून- वैल्बकि ( स० पु० ) बिल्बकका अपत्य यात्रियों को आक्रमण करनेके लिये अनेक बार व्योमयान बैल्वज (मंत्रिक) विवज देशजात । व्यवहत हुए थे। यहां तक कि, उस समय वटूनों मे बैलवजक (म त्रि.) वैल्वजोंके द्वारा अधिवासित । परस्पर युद्ध भी हुआ था। बैल्ववन ( म० त्रि.) विल्ववनवासी जाति । इस प्रकार विभिन्न समयोंमें युद्ध के समय वलूनका | वैल्ववनक (म त्रि०) वैल्बवनदिनके द्वारा अधिवासित । व्यवहार होने पर भी. वास्तव १८८२-८४ ई में यह साम- बल्वामय --- पाणिनिके एक वानिकार। रिक विभागका एक आवश्यकोय उपकरण समझा गया । वैल्वायन ( म० पु.) वैल्यका गोत्रापत्य । १८८४ ८५ ईमें फरासीसियोंने टोकिंग युद्धमें तथा ब्रिटिश बैषानस (सपु०) धैग्वानम दग्या । गवर्नमेण्टने बेवुआनालाण्डके युद्ध में बलूनकी विशेष बैस (हिं० स्त्री० ) १ आयु, उन्न। २ यौवन, जवानी। उपयोगिताका अनुभव किया था। १८६६-१६०२ ई० में। ३ कन्नौजमे ले कर अन्तर्वेद तक मिलनेवाली क्षत्रियोंकी दक्षिण अफ्रिकाके बूयर युद्ध में भी बटन व्यवहृत हुआ एक प्रसिद्ध शाखा। इस शाखाका पहले थानेश्वरके था। निकटवत्तों स्थानोंमें वास था। पोछे विक्रम संवत् ६६३ नौका आदिकी तरह बोलनको भी इच्छानुसार चारों के लगभग इस शाखाके प्रसिद्ध सम्राट हर्षवर्धनने पूर्वके तरफ चलाने की चेष्टा हाने लगा और फलस्वरूप १८६६ प्रदेशोंको जीता और कन्नोजमें अपनी राजधानो बसाई। के जुलाई मानम उत्तर अमेरिकाक अन्तःपाती मनन्- विशेष विवरण अन्तस्थ 'व में देखो। सिम्को नगरमे उम नियमको मुचारूपम परीक्षा हुई। ! वैसर ( हि स्त्री० ) जुलाहीका एक यन्त्र । इससे करघेमें आदर्श म्वरूप एक वापीय विमान बनाया गया। यह कपडा बुनते समय बानको बैठाते हैं। विमान वा पाय पीतादिकी तरह वापको शकिसे और कर बैसवारा (हि० पु७) अवधका पश्चिमी प्रान्न । द्वारा विभिन्न दिशाओं में परिचालित होता था । वैज्ञानिक वैसवारा देखो।