पृष्ठ:हिन्दी विश्वकोष विंशति भाग.djvu/२३

विकिस्रोत से
Jump to navigation Jump to search
यह पृष्ठ शोधित नही है


गययामाग सो र नियम पायदाने १० पानाजायमानीस समय निरज प्राधान है। रेलपी जादर केलाश टटी गरमा- पाद लेगनियामा नगर वाणिज्य प्रारक असा रहने पर नी पूर्व पर निram" गा र पुर्ग ममृद्धिकी गीग्वनिका श्रीरको पात निगाः नाम नगरीमा निर्माण किया न पर दिया मे riram ! उदाr मारे टिन नगर्नेमा नायर ने नियम सामादिम :निदान नाना प्रभारी अपिल याद निमगोरा Aart Arfre! पायनिक जिसमे कदानियोगले परिणाम सत्र मयंका स माजमोटर पार . का पोज निशाना बनाको टिन धाम , रियम नामरी पर परतल्यानी न नव जितानिने तिने जानने लायक नया बाटे भावग्याने माग अगि भरे पड़े । पर जमाया। बडे मीटर माल म्यमा कहा गया निषा मनरगे. धननयनगर- या इनमे उसने माप यिगध नहीं fri का नाश हो जाने है ? सकी खांसयम प्रतिष्ठान , किपदी जाने र कर बरे भाई नई। जब नर युनानी यौन दयनगर बेराला कालीका पुन र शान न उRI HIT महार था, तब ना याचाइमा भारमले अमिनास . गर्गमे पर दिया। मामय मुलियम म विग उत्पन पुत्र निम ( 1.1010 ) द्रनिगरमे भाग निकला। वास भी आनादक पणेपाट ५ उलीने सबसे पहले गमनगरम ग फर बायग्नो फारम गरी पालीनी पुत्री गियानिमियागा ५ वेत्र. जरनेरी माना की। द्रयनगरसे मागने ममय पद मन्दिर, संविधा म पे रिकमार्ग याने प्रियपुत्र आम्मानियमको पिनटस नाम गाय यना दिया। फारतः यद सामील नद्रा ही रही। देवताओंको और प्रयक भवनावर यान यादडियम या चिन्नु मागीमा नामक दरनार औरममेरमो. मिनार्मा सम्पनी (देवी की मूर्तिको सायाँ बाया दो यम व मुटियानो र दी हरकी था। जब वह लेटियमके किनारे पत्रा, नत्र चद वहाले । गवर लग गई। कौमारजन जयने मरा रिया- जा लेटिनन द्वारा सम्मानित हुशार पीछे लेटिनन्नने मिटमिना पने प्राण गया दिप. उम दोनों निसके माय अपनी निवपुत्रीका विवाह कर दिया। पुट ए हिडालेमें रासागरम सोदय गये। निस अपनी पोका माम भार उनके लिये उनी यह दिया पानों ने पाने पर पतिके नाम परटेमिनियमनगरमाया। पिनारे जागा व अमीर के पेट सहरलग कर निसर्व माध विना तानेके परले. लेमिनियाके हिंडोला उलट गया। इसमें दोनों किनारे अधिपति वाम माध विवाहकी दोन गिर पडे.1 एसीस दाEिTी निरी होगी । यानीमने उक विवाह मन्वन्ध हो जाने नारे पर आई। दागिन (ग्नी । दाना सदाको में अपनी अपमानित मम इनिन पर तुरत ही मानी मदिमें ले जाई और उनको अपना दूध पिला पिला कर दिया। गुदमें इनिसके हाथ टानास पर पालने लगी। मियाम्के मार्गदेवनार यान एक पाया। इसके तीन बाद टानास के कर्मचारियों- चिड़िया तरह तरहका चीला पर मिनाने लगी। ने फिर एनिस पर आक्रमण किया। हम समय , अन्तम प दिन फटासि राज्य मेटिदारने एकाएक एक दिन टनिस न्युमिनियस नामक नदी के जलइस अत्याचा त्रिपको दे दिया और उन दोनों में अदृश्य हो गया। उस समय वह 'जुपिटर इण्डि- निशुओंको उठा कर अपनी पोको पालन करनेके लिये जस' या नगर देवता नामले पजित हुआ था। दिया। ये नोनो जिणु गेमुरास चार मासके