पृष्ठ:हिन्दी विश्वकोष विंशति भाग.djvu/२९

विकिस्रोत से
Jump to navigation Jump to search
यह पृष्ठ शोधित नही है


राप-साम्राज्य हमी ममय निर्वासित राजा टाकुंदन पदार हानोंकी तोटने लगे। पुल हट जाने के बाद दोगिनियन शनी- सहायतासे अपहन राज्यको पुनः पानका उद्योग ग्ने के नान्न नीगंभी वर्णने प्रांडित दो नदी में कूट पड़ा लगा। टानने अपनी निजी ( Private) मन्यनि और उसने -"पितः टायर नद, मुझको निर्विन को पानेका दावा कर दो दृतीको रोम भेजा । उन्मलाने गेम पहुँचा नग्न कृपाल नेकी बजा वह तीग. यह प्रार्थना न्याय समझ घर पूरी कर दी। विन्तु। की वरिवचने हा टावर के उस पार आ पहुंचा। दतोंने कई रोमक युवकोंन पटयन्त्र कर टानको इन घटनाको अमर बनाने लिये रोमकी मरकार- राजा बनाने की चेष्टा गरम्भ की। एक गुलामने रम ने उनकी पर प्रतिनि नम्पार फगई और मारा दिन बेष्टा या सानिशको प्रकट कर दिया। इन माजिश यह जितना पैटन्ट चल सके, उनी भूमि उसकी प्रदान कारियों में एलन रसके दो पुल भी शामिल थे। त्रु रमने की। रोम के इतिहास मेनिनकी याद पनि म्यणांक्षरों में सपने पुत्रों का अपराध क्षमा नहीं किया। इसने सभी निजी गई है। साजिशकारियोंकी तरह मरने पुत्रों बध करनेका एमके याद पानाने रोम नगर पर घेरा डान्दा परम जारी किया। इसलिये वे टस का नाम रोम :नि गय वस्तुओंगी आमदनी ग्रन्ट जानेकी बजह गेम हासमें अमर है। नामी घबग उठे। उस समय गियन नामक एक स्वदेशयन्मन पुगपने गमको रक्षाका भार अपने ऊपर टाइनने अपनी साजिशको असफल होते देव । एट्रास्कानोंजी सहायनासे रोमके विरुद्ध युद्धी घोषणा ' लिया । उसने गुनदन्यासी चेष्टा पागना मेमे में कर ली। टस और मालेरियस मी सैन्य ले कर प्रवेश किया। फिन्तु पार्गनाको पहचान न सक्ने आगे बढे । टार्ग इनका पुत्र गर्णाम त्रुटसके साथ । कारण उसने गजमन्वोका मिरा। इसके बाद द्वन्द्वयुद्ध करने लगा। दोनों सांघातिक रूपसे आहत । । यह पकड़े जा कर पानाके सामने उपन्धित किया हो घोड़ेसे गिर पड़े। इसके बाद घोरतर युद्ध आरम्म नया । जिस समय पार्मनाने दे कर उममे प्राण. हुआ। जय-पराजयका निर्णय करना कठिन हो गया। नानका हकम नुनाया, उस समय उसने अपने दादनं एकाएक आधी रातको देववाणी हुई-रोमन ही जयो। हाथको जलती हुई अग्निनिया पर फैलाया और यह हुए है।" यह सुन कर एट्रास्कान भाग चले । भलेरियस हंसने लगा। हाथ जल गया, किन्तु उनकी दारय. वटसकी मृत देहको ले कर रोम लौट आये। व टमके . रेग्या उसने मुरसे विलोन न हुई। उस समय म्यशि- लिये सभी हाहाकार कर विलाप करने लगे। गले-, यमने निभीमना माय पानासे कहा,-"मेरी तरह रियस न्यायक गुणसे सरके प्रियपान हए । इसीलिये तुम्हारा गुमहत्या के लिये ६०० युवक निग्न किये गये उसका नाम पाब्लिाला अर्थात् प्रजाप्रिय हुआ। है, उनमें मैं ही पहला है। इसरे दूसरे युगक भी एक एक करके आगेगे।' इममे डर कर और उनकी कट- उसले दाद दूसरे वर्गसन ५०८ ईसासे पूर्वा टाइन सहिष्णुता तथा साहसको देख पार्मनाने उमे सकुशल एद्रास्कान के अन्तर्गत क्लामियानके राजा लार्म पर्सेनाके ! रोग पहुंचा दिया। इस अनन कीनिक लिपे ग्यमि गरणापन्न हुए । परसनाने विगट सैन्य ले कर रोमक | गसको 'स्किमोला' या 'वामगह' नामसे पुकारने दुसरे हिस्से के जेनिक्युलम नामक किले पर बेरोक टेक | लगे। इसके बाद रोम साध सन्धि कर पाना घर साक्रमण किया । आमने सामने युद्ध करना असम्भव । लौट आये। रोमरने नन्धिके प्रतिभूम्यकप १० युवक और समझ रोमक देशोद्धारके लिये टाइमर नदी परके बने पुलको १० कुमारियों को पार्सनाके पान भेजा। इनमें किलिया तोड़ने लगे । होरिशियास लकलस नामक एक अली- नानी एक 'कुमारी राइवर नदको नाते हुए पार कर किक बोर असाधारण वीरताके साथ पुलके दूसरे छोर घर लौट आई । रोमको ने उन्ने पकड कर फिर पासनाके पर शनुसे मुकाबला करने लगा। इधर रोमक वीर पुल पास भेजा। पार्सनाने उसके असीम साहस तथा