पृष्ठ:हिन्दी विश्वकोष विंशति भाग.djvu/३६

विकिस्रोत से
Jump to navigation Jump to search
यह पृष्ठ शोधित नही है


रोम-साम्राज्य नगर पर अधिकार कर लिया। इस तरह युद्धके इसके १८ वर्ष पाछे अर्थात् इसाले ५६ वर्ष तीन वर्ष पहले घे जयलाभ कर मिसिरोंके मधिकाश : पूर्व रोम दोनों सर रेगडास और मनेलियस पर अधिकार र यैठे। इस समय कायेंजीय जङ्गी ने ३३० जङ्गी जहानाको सुजित र कार्य पहाजसे लोके किनारे लूटपाट र रामको विशेष जिय में यके विरुद्ध यात्रा की। इससे पहले क्षति करने लगे। यद्द देव निरूपाय हो कर राम | प्राचीन समयम रिमो समुद्रम इतने जनी जहापाका जहाज बनानेम प्रवृत्त हुए। ना। शोफे लूटनम समावेश नहीं हुआ था। पूर्णक पुलके कोपालसे रोमक रोमो का धनागार भरा पूरा था । पाघ्र ही पडे। से पने कार्थ जियन जहानाको ना भ्रष्ट कर दिया। इस पष्ट भोजवान बनने गे। पहले एक वडा फिकि युदक्वल २४ जडोजहान न हुप थे। विरोमकों जाज इटनी कितारे लगा था । इमीको देश पर। ने ६३ नगा नहाजोको मालमत्ता समेत गिरफ्तार कर राम शिपी जहाज बनाने लगे। जिस दित इमा लिया था। युद्ध में जयलाम पर रोमक का जिप लाली कागे और चिरी गा, उमी दिसे ६० दिनार्म । नगरोको लूटने पारने लगे। इस लूटपाटमें डाको बहुत १३० नहाने तैयार हो र समुद्र में तेरा दिये गये।। धारत्न प्राप्त हुआ। कुछ दिनोफे याद गीतकातों मान शीन हो मलाह, पप्तान आदि उस लानेवाले लियस अईक सयले पर रोममें लौट आये। रेण्ड सिम्पाये गये। ममुद्राक्ष पर राम जहाजहान सर्वा स यदक्षेत्र में रहे। रेगडल्स नित्य नये गये पर प्रथम चरने -गे। गधिकार परते का जिय नगरके समीप पहुचे। साके १६० वर्ष पहले कसल णिलियमने १७ '। काजिय भो हाथी घोडे और पैदर मनिको ले सुसजिन जगोजहाज र युद्धयात्रा की। वितु | कर युसफे लिये मागे वढे। इस युद्ध मी रेण्डलसने काये जियांक मुकाबले लिपारा नामक स्थान सम्पूर्ण " । विजय पाइ । काथै जियो १५००० मिपादियारणस्थल मासे पराजित हो कर कैद कर लिये गये। इसफ याद ! में प्राण गया दिपे। इसके मिया ५००० पीज और दुमरेक्सल दुलियस धोये पड्डी जहाजोको ले कर १८ हाथा पकड लिपे गये। रेएडलस काजिय नगरी युद्धफलिपे चले। उसने असामान्य कौशलसे एक नई को पार कर कार्थेजनगर पर घेरा डालने की तरकीय प्रधाका आयिकार किया। उसके प्रत्येक नहाज पर एक { सोचने लगे। उसने तीनही ट्यूनिस नगर पर मधि एक २४ दायरम्ये पुल रखे हुए थ। पुल जहाजमें रस्सीमय रहते थे। शव जहान जब मोकार कर उसे लूट लिया। ऐसे मौके पर म्यूमिश्यिाण काजको धानता असारन र स्याधीताराम करने पा, ता रस्सी पोल कर पुल जलमें तैरा र सक्दों की चेष्टा करने लगे। कार्येजिय हनाश हो रेएडलसमें मादमी उस जहाज पर चट पाने और उसका समस्त धन स्ट लिया परले पे। इस नये माधि कारक फरसे सधिनी प्राथना की। किन्तु घरी उ मत्त एड उसने मारली नामक स्थानफे युद्ध में रोमको ३१ काय जिय उस प्राधाना पर ध्यान न दिया इमो समयसे कानियों के भाग्पर्म परिवत्तन दिपाइ दिया। स्पार्ट नहोनहाप दाथ स्गे थे और १४ जहाजहान नए भ्रष्ट पर दिये गये। किती हा जहाज रणस्थलसे भाग राज टियस ४००० घुइसयाय १०० दाथी और वह निाले । दारिपस महायरसे रोममें पहुचे। रोनी, हजार पैदल मप हे पर पायजय महापतागा की गर, राफल पसियोंस सजाह गहभोर पाने' " गये । भयङ्कर गुद्ध उपस्थित gा। ३००० रोमर न्य बगरदा पेसे मजधजम "मल्ने रोममें प्रत । रणक्षेत्र में काम आपे । रतुलस ५०० सनि माय लिया। युद्ध में पाई हुए पहाज उपारी द्वारा। यद हुए। वा २०७० सैनिक अपने शिविरों में भागे। 'पोरम में एक स्तम्म उमके मम्मामा प्रतिधित हुआ। यह मामय पहलपी वान रोमशेदुमाग्य इस माम रारा नगरे । रोमफे कापिटालान का यहा। अन्त नदोमा। भागार रोमक पात म्यूजियममें गद मात्र मी रा हुमा है। गदाज पर चट पर रोमकी यात्रा कर रही थी, मे Tota