पृष्ठ:हिन्दी विश्वकोष विंशति भाग.djvu/४०

विकिस्रोत से
Jump to navigation Jump to search
यह पृष्ठ शोधित नही है


गेप साम्राज्य ३७ के सहायडाय पहुच गये। रोमक पौलो ने हानिपल । जोग उसको सहायता देग। इम ममय इमिलियस को स्रकारा। दोनो अरसे भीषण युद्ध धोन स्मा। पगला और टेरेण्टियमाभागे साल नियुक्त हो रासय दाशिवलकी रणनिपुणता कारण विशाल रोमक पनि आपुलिया प्रदेशम गये । उनको अनुपस्थिति में रोमको ने पराजित हुइ । किन्तु शीतकाल के मा जानेसे हानि और एक ही य एत्र घर मिशिया से धुरिका द्वारा पर रोमकी ओर भागे घ८ 1 मका। भाषण शीतफे। फेवियमा मेपिम्ममको दिरेकर नियुक्त किया । फेविषाने कारण हाशिवरके बहुत सेनिस मर गये। एक छोड। कोरसे हानिकलको पगजित करना निश्चय किया। कर सब हाथी मर गपे । उम ममय शीत वितानर रिपे दानिवल अपिनाइन पर्वतको पार पर कम्पेनियाको पद फिमरी गरमें चला गश। समत- भूमिक समृद्ध नगरो को लूटो और उस करने सर्मियम और लोमिनियस यतमान यपके मसल रगा। फिर भी फेरियस आमने सामने युद्ध करने में देर नियुक्त हुए। फ्लेमिनियस फिरपाकोल वर हानि करने लगा। फेवियसने इम्पेनियाफ गिरिसटूट पर वलसे युद्ध करने घरा। रितु हानिकलक प्रौस अधिकार कर यह स्थिर किया, कि इसी पर्वात पथ पर घद फौजो पे माथ गिर गया। यह गिरिसङ्कटक ए हानिदलको पिनष्ट करू । पितु मनन कोलसे हानि छोटे पथसे ट्रामिसिन झालप किनारे पास अपना पर इस विपदम पच गया । उसने पहले ही कम्पनिया फौपाको एकत्र कर रहा था ऐस ममय पाढेम शवओ ने पोल्ट पर घनेरे वैर और गायोको पण्ड लिया गा। हमला कर दिया। फलतः कितना ही फी मृत्यु राति मामय उसने २००० यैले दोनों मांगों में कपडा मुममें पतित हु । कसर भी मारा गया। कितने ही स्पेट नलस भिगा याग लगा कर मशाग्य सादा बना सैनिए झामद कर इव गये। इस युद्धर्म दानिर दिया और माने सोनिको को हुक्म दिया, कि इन क १५०० सैनिक काम माये थे। दानिवलने १५००० पैलोका गेमकी फाजो सामने भगायो। येल अपने रामा सैनिक कैद र लिपे। हानिकरन पयल रोमन सांगाम आग जलत दस्व भ3 भर कर धर उधर फौजी का पैदा कर इटलो भादिके सैनियाको आदरफ दौडने सगे। राम सहामा मशालाका अपनी तरफ साथ छोड़ दिया। उसका उद्देश था कि भयाय आत देख विलित हुए, मनम साचने लगे, कि हानियल जातियो की महानुभूति भन्न ग पर रोमा उद एकाएक रात्रिको आक्रमण करना चाहता है। इसम साधम किया जाये। मोठिये उसने इस नोतिमे काम भानी रमा न दख रोमर याम मागे। हानिकारने भो लिया। यथायम यहुनरा जातियाक रोग दानिश इस अयसा पर घेराम गिरिसगुटको पार कर आपु मसाम प्रतिभाको दगा उसके पक्ष ती बन गये। रितु सियासी ममतर भूमि पर पहुच शीसायामक लिपे एप पिनी माममणकारीले प्रति बहुनरो विध्याम शिरोनियम पम म्यान अपना बेमा गहा गया। ५ किया। इस युद्ध में रिजप मास पर दानियर रोमकी यह ( २१६९० पू० ) शानवाल यहा पिता पर यसर मोर मप्रमर होता, किन्तु उमा दुसरा ३६ था। भान पर ममर सत्रा पर 7गा। पितु नाच द्रव्य पद पयशी मोर मप्रसर हो पर तयार भीर मनि पे ममायम या पहा कानि नामा म्यानमें चला द्वारा बहुत नगरी गोध्यम वरन रगा। इस ममय उस गया और उमारोमक फोमांक साम गेम घड! कपास २५००० पैदल थे। विनु रोम महयोगी वि। रामामी को सहायताम 300000 AIT पात र प्यात दोमा वामर ९०००० पैदर और ६००० मात या हानिकर पांमार साप भापुलिया भन्न पुडमयार पर हानिवप सामा भाय। गवरफ पास पूर्ण प्रदान कर दरपार र गेमप मदपागी पास ४०००० पैदला मे मधिर पौरमधीरिस्तु रापामो म IT कान रगा। उमा धारणा धो उस पाम 108 परमवार मौजूद था अधिनियम किस माह पदय पर पर गमक गिल हिलना, नाव दक्षिा मैदाना पुरा । यह कानिा युद्ध Tol, 10