पृष्ठ:हिन्दी विश्वकोष विंशति भाग.djvu/४६

विकिस्रोत से
Jump to navigation Jump to search
यह पृष्ठ शोधित नही है


रोम साम्रज्य ४३ सहायतामें ४००० सैनिक मेने थे। इजियनमागरम, पाछे पाच वर्ग तक युनान में रह कर शासनको वागहोरको प्राधान्य ठाम करने रिपे यह मारे यूनान पर कब्जा सम्भाल पर वडी धूमधामसे गेम पहुंचा। रोमम उसका पर रहा था। इसलिये रोडसके प्रजातन्त्र और | वडा सम्मान हुआ। इस समय सिरियाके राजा यति पागामासके राजा भाटालास पर उसने शीघ्र ही आक्रमण ओरस एशियामाइनर पर घेरा साल फर यूनान पर किया। ये दोनों ही रोमक मित्रतासूवमें आवद्ध थे। नाकमण करनेकी तय्यारी कर रहा था। फिलिपने लडाइ आरम्भ करनेसे पहले मिरिया इधर यूनानके इटालियन नौद्धत्यके कारण फिलिप राजा अन्तिमोशसके माध सधि परी और अतिमोक्सको रोमर विरुद्ध उभाड रहे थे। था। इससे रोम निश्चिन्त न रह मश । रितु फिर फिलिप रोमने सामने शिर उठा न सा। "म तरह दुसरी वार माक्दिनीय र डाइ मारम्भ हुई। अतिभोक्स और नेपिसने इटालियनको प्राधना इसा... वर्ग पूर्ण फिलिपने पहले एथेस पर माक्र स्वीकार कर ली। इस समय हानिवल अपने दशसे निर्या मण किया। इस पर पथे सकी सहायता करने के लिये सित हो सिरियाको राजमनाम उपस्थित हुआ। यहाँ रोमक फ सल सारपेशियम गठमा कइ पङ्गी नातो के की सनरन रोमक विरुद्ध शिर ऊचा करनेका उद्योग साथ आया। यह देख कर पिटिप एथ सासियो पर । करने के अपराध इस देशसे निकाल दिया था। मिरिया भयानक अत्याचार करने लगा। किन्तु प्रकाश्य लडाइम | के राजाने यहा आनन्द साथ हामि को अपना प्रधान फिसा पपगी जय पराजय न हो सकी। गग्याक वाद | समापति बनाया । मतिमोक्स धमालीक सुप्रसिद्ध भिलियस कम्मल नियुक्त हुना। यह इसाके १६६ वर्ष दिमेतिषस नाम सुरक्षित फिल्म पहुंचा। सारा पूनको घटना है। वह भी फिलिपका कुछ विगाडन व पू रोमकोंने उसके विरुद्ध यद्ध घोषणा की। सका। इसके एक या बाद रमेनियस क मल नियत कमर इलियस म्लेवाने भी थेसालीका यात्रा कान्ति हो पर ये उद्योगस लडाइरन लगा। उसोशीन ही मोक्रम् योर्मोपलो नामक गिरिपथ पर सैन्य ले पर पडा धेमारी पर कम्जा पर फोलिस और लोकिमर्म शात था। इस तरह उसने रोमको मध्य पशिया में जानकी काल विताया। इसके दूसरे यानि सफाले। या रास्ता रोक रखा था। पितु रोमफ दुसरे एफ पसे दुकुरमस्त' मा स्थानकी रडाइम पाक्दिनीय २२, सिरियामा फोनोंक पोछे ना पहुच। यह देव सिरिया युद्धका अपसान हुआ। रोमक पहले यही निपमें फ। काफीने मग बडी हु । अतिओफस यनानकी थे, पोछे इटालियन घुडसना भोमपराक्रमसे रया , विजयमे निराश हो कर अपने देश पशियामें लौट आया। मानिदनीय कामें भी (Philane) अमिन विक्रमके साथ ईसाक १६० वर्ष पूरा हानिधरको परास्त करनेवाला युद्ध करने लगी। ८००० माक्दिनाय फाज वाहन और मिपिओ आफ्रिकनासके भाइ पट सिपियो और मी ५००० कैद हुई। कि तु रोमोंके ०००से अधिक सिपाही लेग्यिास फन्सल नियुक्त हुआ। एल सिपि रोको कति मष्ट नहीं हुए । फिलिप अव मन्धि करने पर बाध्य हुआ।। ओक्स्प निरुद्ध युद्ध में जानका प्रार्थना करने पर सनेह इसाफे ११६ वर्ष पहले यह सधि हुई। इसके अनुसार, फो उसका योग्यता म देह हुआ। परता सेनेटरी उसको फिलिपको यनानसे फौरे हारेनी पडी। जगीजहाज , माझा न दा। वितु सिपिमो गमिनासके मी भा के रामक हाथ सौप देने पड़े और फिलिपको इस बात साथ जानेका दात सुन कर मेनेरने पोळे आज्ञा दो। की प्रतीक्षा करनी पड़ी कि रामक विना वह किसी देश । घर भतिओकम् पय विराट सैन्योका साइन कर से यह मित्रता न करगे । लडाको क्षतिपूतिमै १०००, पागामस गज्यका लूर रहा था। रामक पोजे हेलेस रुपये रोमको मिले। पतको पार कर उमा सामने पहुई। सिपाइलम परेमेनियसने यूनानको शीघ्र रोमके नामाधीन पर पघतर नीचे मेगनिमिग नामक स्थानमें रडार माराम देना उचित न समझ यूनानको स्वतन्त्रताको घोषणा की। छु । रोमोंके लोग भयङ्का पराकमसे शिक्षित