पृष्ठ:हिन्दी विश्वकोष विंशति भाग.djvu/४७०

विकिस्रोत से
Jump to navigation Jump to search
यह पृष्ठ शोधित नही है


यङ्गदे। १५३८ ४५ हुमायू-दोंने गौड या नमनावाद । १६२८ १०३७ कामिगमा शादनहाँ मरान पाट दिया था। जवुनी १५३६ १४६ शेरशाह (पुनः) १६३२ १०४२ आजिम खाँ १५५ १५२ महम्मद म्या १६३७ १०४८ इमामपाममहदी । १६३१ १०४६ सुलतान सुना एष के अधीन सनसत्ता। १०७० मीर जुमग इस्वीसन् हि० म य गश्वर सामयिक दिलीधर १६६४ १०७४ माइस्ता पा १५५५ १.२ निर व वाहादर १०८७ फिाइ पाँ गाद शेरगाह १६७८ १०८८ सुलतान महम्मद महम्मद शर मगेम शाह आजिम १५ ६६२ बहादुर शाह महम्मद आदिला। १०६० साइस्ता खाँ १५६१ १६८ जगट उद्दान विन १६८६ १०६६ इब्राहिमा २य महम्मद १६६७ ११०८ आनिम उसमान १५६० ७१ सुनेमान करवाना १७०४ १९१६ मुर्शिद अली खा १५७३ १८१ चामिद विन सुलेमान १७२५ ११३६ सुना उदान वा महम्मद शाह १७७३ ९८१ दाद पा पिन सुलमान यावर १७३६ ११५१ अला उद्दौला मेनापति मनाइम पाो इसे मुगर सरफराज खा पदानत दिया। १७४० १९५३ सीनदी मा " मुगल सम्राटक अधीनस्थ बगानके शासकर्चा । महवन जग इम्वासन्ह . भ. वगेश्वर सामयिक दिल्लीश्वर । १७१८ ११७० मिगनुदाला आलमगीर ९८४ माजदान यस्पर माग्जाफर गला रवा १७६० कामिम अली ६८७ मुजफ्फरना ११७४ नाहमालम १५.०० राजा टोडर मल १७६३ ११७७ मोरजाफर गलो " १५८२ खा अनोम १७६ ११७६ नाम उद्दौला १५८४ इन सब रानाओंका विस्तृत विवरण इन्हीं शर्म देखो। नादमान खाँ १५८६ रान मित १७६१ इ०के जनवरी महान जय गोरजाफरकी १६०६ १०१५ कुनदान जहाँगीर मृत्यु हुइ तब उनके पुत्र नजाम उद्दी डाने मनरेज कोरतास सम्पनाम सधि का गे और अगरेकि दायरन १६०७ जहांगीर पुलो राज्यका शासनभार सौप दिया। घे नाममात्र ननाव १६०८ १०१७ मात्र इसलामा " नाजिम पदाभिषिक्त रहे। वडाक फौजदारी और १६१३ १०२२ कामिम पाँ दावाना निगरका परिवर्शनमार उनके कारन रहा। १६१८ १०२८ इनादिम नई उदोन वाम्तमें विचार विभाग स्थापत्य और १६.२ १०३२ शानहान सर्वमय तत्व यो दिग्य ! उनमें अधीनस्थ एक १६२४ बामादसा दीपानकी देखरेवर्म निजामतवा कार चलने लगा। १६२५ १०३५ मारम खां अयोध्या पसार मुजाउद्दौलाके परामयक बाद अगरेज १६५७ १०३६ फ्दिाइ मां कम्पनीने इगहावा शोर काढा प्रदेश दिल्ली के बादशाद ११२