पृष्ठ:हिन्दी विश्वकोष विंशति भाग.djvu/४७१

विकिस्रोत से
Jump to navigation Jump to search
यह पृष्ठ शोधित नही है


यदेश को उपटीनमेटेर उमदे बदले उडाल, बिहार और । हुमाय जाह के पुद । ये नाना भारणाने जग उद्दीनानी दीवानी सनद पाटे । उसने नवाब नाजिमी पडकर ईगलैगड भी दिये गये। निजामत रक्षा लिये वार्षिक ५:८६१३३) २० वृति इन साय अडोज-गवर्नमेण्ट के उन्हें थर्थनाहाय्य करने में र दुई ग्री। अगरेजोंनो मी मन र मुर्तिदाबाद नीशान होने पर, शर्षिक लाज रुपया मुसहरा और मजे नवाबोंडो या वृत्ति देनी पड़ी। पीछे आजको कटनीतिने तोडने न्निन्द दाग लाग्य रूपये पानेको भाणाले १८८०ई०. यह घट गई । वास्तव में नमी म्मयने अदरेज कम्पनी कोली नम्बरको चिनोपित नवाद नाजिम मर्यादा वगालकी मार्य शासनाई थी। निजामन मानदत्याग करनेमे स्वीकृत १८८२६०मे उनके लडके में उपयोगी बदाम, मनी नवा नाजिमोंकी नेयद दमन अटी गाने ननद द्वारा मुर्शिदाबाद के नवाद वजनालिसा नीचे दी गई है- वहादुरकी उपाधि पाई। १८६१०की सखी मार्चको वृनिभोगी वगानगनवासमा नवाय जर सैयद हमन अलीपा बहादुर जी सी आई, १७६५ नजाम उहीन्टा-मीरजाफरके पुत्र । १७:0- ईने १८८०ई०कीलो नम्वरको अपने पिन नाव- श्रीगमईमेनका गधाम हुशा! टन्होंने नाजिम पनत्यागाडीवर माविन ओर यी पार करते दीवान अगरेन स्पनीनमालाना ५३८६३३) हासेटरी आन स्टेटम'डेचरपव अपना मतलब 10-निपाई थी। प्रकट किया। उन्ग वर्ष उसी महीनेतीची तारोव-

  • गैफ हाला-मी-जापार के २य पुत्र। इनकी को मम्मिल भारत-प्रतिनिधि द्वारा (by the Coun

मृत्यु ७७० १०वी १०वी माओको । इनके cil of h. E cellency thi. Viceroy and Goretror माय बाणिक वृत्ति घटा र ४१८०१३३)। General of Iirit ) १८६7 ई०को २५ नं० राजविधि २०ीरदा गांश। ( Act xl of 1891 )-से यह निरीकृत और परिगृतीन १७७० मुधार उद्दारा-सीजफरय पुत्र। १५१३ हुग। पह, मर्यादा त्याग कर उन्होंने उनके बदले बङ्ग ६० रनम्बर महीनगे वे जगलमा चलो जगजसे एक वंशानुक्रमिक वापिकनि एवं मुर्शिदाबाद पनिन 27। इन्ह ८१६६२) २० वृत्ति लत्ता, मेदिनीपुर, बाग, मालदह, पूर्णियां, पटना, मिना 41 नीलमयम 1992 ई०को रहर, तुगली, गरमाहो, बीरभूम और सन्थाल परगनेमे उन अति प्रभार सालाना लाल बहन-मी निर्दिट आयको भृग्नम्पत्ति पाई थी । इन पांच कर दीगर या! यह घटना आजतग भी पुत्र थ,-आनफ कादर संयद, याजिक अन्नी मीजा. चला आता, इस्त्रान्टर कादर में ग्रह नानिर यली मी , भामफ, अली १७६३ नाशिर उल मुल्क वार उद्दौला देयाग-1 मार्जा, नैयद याकुब अली मोर्जा और महपिन् अदी नुवार के पुत्र । १८०० मेन्ट महीने मीना। नमुई। वनग्नॉग यम्युदय। १८. संपरही । अलग उर्फ अठाजार- बंगाली वाणिज्य कर अभिनाअगोन ईट. नाकार उन्ल नार पुत्र। इण्डिया कम्पनी मद्रासमे समुहकी राहसे बगालकी 17 म यद अलट अदाला उर्फ बालाना:-गली और चली । १९४० में सर टारम रो-को मुगल-सम्राट जादर मार्ट । १८२८० ३०यो अन्वर- जहागीर अनुप्रदले वापिस करनेश आदेश मिला। को थे मृत्युमा पनि १६२० ई०म बगाल के मुगल प्रतिनिधि इनादिम खाँ फते ८-५गन नुबारकली की उपाय जाह-बाला' अरे नारानकालम अपनीने पटनम पडा बेचने गरे पुर। निये गेठी योटी । तमोग्ने क्रमशः बंगालमें अतिप्रच्छन्न १८३८ मन्दिन जगदमनुर अटीमा नमन जंग-- सायंगरेजॉया प्रमात्र फैननलगा कम्पनीके में