पृष्ठ:हिन्दी विश्वकोष विंशति भाग.djvu/४८८

विकिस्रोत से
Jump to navigation Jump to search
यह पृष्ठ शोधित नही है


पहा माहित्य ४६५ १च्या नादम दमनातायने नो देश नमन। पाल तथा मदीपारके गान प्राकिन ये पर उसे रोग माया था, उमम दम रोग मच्छा त ममद, बडे मानन्द माप धपण करत थे। गीहरु इतिहास मन गि, इन मय ददो माघ यगग भाषा भाइम लाग जान मोह मिटी मदार शरमागर्म प्ररित रोग विशेष पागस्य नी । गोड पारका मम्युदय हुआ पालाप राजामौली कानाभाप में माता देशप्रचरित कातिशयमानशेष बान मा मौर्यगक ममी स्थानों कयामान उ मस्त समया शुदाम गित मापा । यिमान है। पारो रानामो शिवालिपि या तान्न म स्थान पायाम तरह प्रगारमा पर कुछ शासनम हम रोग मालूम कर सकते हैं कि उनमे पितन मान्धत माशारदा दमदम मारल नमिन हा धर्मशार, पियानुरागा तथा पण्डित प्रिय य । उक घुम गया है। मगर महिन्य सृष्टिक वाद प्यारण ममपाय गदसतिने हा धमाया अभ्युदय दयाf ता अभियानकी ष्टि होता है। इस तरद मादा था। उनक म घरमै नालन्दा यिपियारपर्म नही चार्य बदन पहले ही मागदा नदसारित्य साक्षिा पाते थे। सुतरां उन म यरनम उम में प्रविष्ट हुर थे इस मदेव । हेमाद्र गुचर माय नामाधारणमें घमनानि प्रचारक रिये देश राज सभाम रहन थे। गुना तथा महाराष्ट्रमे निम मिारत भाषाम भने गात विताओं की पूष्टि होना अति प्रागना मारिया निदान पाया गया है, यह कुछ मार्य नहों। पापाय राजामौवासनायामे भामचन्द्र पर पत्नी है। उमा प्राचीन मास्मि मत-मापाराप्रपोग दया जाता है मा, किन्तु हमानी शमा प्रयोग का माना पर उम ये मर उथ प्रणाफ उस लिये गये हैं। कि प्रोगाम माया मायामान प्रारित मराठ मापाला मनमाधारण मम्मानम लिये नया उ६ धमनाति विशेष पायी पेमा मादाय होता। इस तरह पानिपा देनेफ लिप पेशा मापा मा रचना दो। हम गगनुगन परमात यो मदार पूर वारश्यस्ता हु । युद्धदर तथा महायार सामान पर शिमगरमादित्यका गृष्टि र उप मादित्य माथ पहल Tनमाधारण बाधगम्य मापाशदा बाध्य पत्तमालिम भाप या पितर पाय मदाह किया था एप उनन मनुत्ता तथा तस्परयों याद पान परमादमा प्रमाणामा प्रनार ना होगा।। मीर रेन राजा पर धमारन उनादा नानि माय गय मादिगा भागेना परने माम पायाधर प्रिया था। इस तरद पौद नया नियों दातार यिमिरा सम्प्रदायों पास्मिक मगन हामीम दलित भाषा सार TRI दाय मयमा गरम सपन घम प्रापपापा करनर उनम मान्त्यिरात्रपान मा। दाशन:: गगम दिया र मोर पुटिन पाताप रानागोंक ममर मा मामीगि तथा मक पा मार मारणाम घगमारिया, गुन ग म प्ररित हुए थे, उनका पEिNTERमाय प्रसार मा। टा ममा माम्प्रदागिक नया गीत रिटनो गया। पागापाल गापाल ना गमा प्रमापोकोरप मोगन प्रायन सादिम्प । पारप गात उम गिरार मादिरसम्मृतिमास। मोमिनपविभr frurt- मग माग धान में महापामा गत पदा मा २५ शैयामाय ३५ मनमा मात्र पnिfor frमहापा प्रति मारामाप । मुमान-प्रभार मारा गाल परमापार वृष्टि तथा तिन मन Fिruमा UPTIगग प्राय म स । गादिना ना हरकत पागा मारिप गण प्रसप TRIP24 प्रभार, मामा म गोल महागरपानि परिपा प्राय परमपिध गला मनगरप प्रामन भाम 1 समर भ्रमय मिपूर योगा गोर मात, fru EिREST BIRH