पृष्ठ:हिन्दी विश्वकोष विंशति भाग.djvu/५२

विकिस्रोत से
Jump to navigation Jump to search
यह पृष्ठ शोधित नही है


रोम साम्राज्य मामान या एजिन मादिराकर रामकोंके हवाले पिया।| लगी। अग्निदेय 37 गगनचुम्बी इमारतोंको अपने तेजसे निर्भय रोमाश कलेजा इसमे मा उराठा न हुआ। अव | जलाने लगे। रारियों का रतपयाड धैगरती नदीकी रोम ने कहा, कि "तुम लोग कार्थेज छोड पर दूसरे तरह समुद्र में जा पर मिल गया। इस तरह यह उन्नत रूपानमें जा बसे।। पोंकि, यह नगर स किया | और ऐश्वर्यपूर्ण महानगरी महाश्मशााके लार्म परि नायगा।" णत कर दी गई । आज भी उसका ध्यसायशेष उस निदोष का नियोंसे अब नहीं रहा गा। अब समय भयानक घटनाकी याद दिला देता है। हता और निरुपाय हो पर होने वीरताके साथ लड इसाये १४६ वर्ष पहले जुलाई मदानम पार्थेजका कर मर जाना है. उचित विचार किया । शीघ्र ही नगरा घस हुआ। सिपिजओने रोममें लौट कर थडे ममारोहसे दरवाजा बन्द कर मारे इटालियनोंको उहोंने मार डाला विजयोत्सव मनाया। उमने भी हानिवजेता सिपिंगो और ये इस अन्यायी शव के माय युद्ध करनेका दृढ की तरह अमिनासको उपाधि धारण की। थाकी सकल्प कर स्वदेशवत्सल फार्थ जियों को उत्तेजित करन कार्थेज-राज्य अभिसा नामसे रोमकोंके शासनके अत्त रगे। कारीगर दिन रात अस्त्र शस्त्र बनाने लगे। रिया गंत हो गया। प्र च्याणिज्यके प्रधान केन्द्र करिए और आने वाल काट धनुष पर शुण चढाने लगी। आपाल । प्रतीच्यवाणिज्यका नित्य कार्शज-ये दोनों पाणिज्य वृद्ध वनिता स्वदेवात्सल्य के मोहनमत्रले दीक्षित और । प्रधान नगर रोमकोंके हाथसे विनष्ट हुए । इम समयसे प्रणोदिन हो पर अनारत युद्धविद्या सीपने लगे।। हो रोमके जीने देशों में मानाज्यका सूत्रपात होने लगा। वाये जमानो एक प्रकाएड अन्त्रागार बन गया । इमि । स्पेनका युद्ध (१५३ १३०६० पूर्व) लियत पाम पेठ पुत्र नलियस सिपियो ससैन्य इस समय स्पेन देशक शासनकर्ता मेमोनियम पान पहुचा। हासद पल नामक एक निवासित सेना प्राशासके सदृष्यहार और सुशासनम पा शातिमय पतिने काजियोंगी अधिनायकता स्वीकार कर ली। शामन प्रतित हुआ था। किन्तु साफ १५३ यप काजियोंके दो भाक्रमणोंसे रोमन तितर बितर हो गये। पूर्वसे गेडा नगरके अधिवासियोंने नगरकी चहारदीवारी फेरल सिपिओ रपोशरसे 'फोन नए होनेसे पच बनाना भारम्भ की। पलता रेमियोंने इस कार्य में गा। सिपिलोने मित्र पर अधिकार र काजमें मन्न बाधा उपस्थित की । इसलिए स्पेनमें यछुयर्पण्यापा आदि आनेवाले पथको रोक दिया। कायाजाय अद्वितीय । युद्धका सूत्रपात हुआ । फेण्टपेरियनो। सेगदाका पक्ष धीरतास मात्मरक्षा करने लगे और शीघ्र ही ५०० जही। प्रहण किया। कालवियस नोविलियोंके युद्धर्मे उनका अदाज तप्यार कर जलयुद्धको तय्यारी करने लगे। यह कुछ भी विगाहन सश। पोछे झाडियस मास लसने PO Tमर गये । मिपिभोका प्रमाद पढ़ गया। जल उन मोंको पराजित पर सधि स्थापित की। इसके युद्ध होने लगा। सात दिन मोर नलयुद्ध होन पर अत बाद सापिसियस गल्याने "युसिटानिया पर भामण में समो जङ्गो जहाज नष्ट हुए । इसके बाद सिपिओ पिया। वितु यह स्पेनियाडों द्वारा विशेषरूपसे परा. दृढ़तापूर्णक teft पर घेरा डाला और रातो रोमकों । जित हुमा। पीछे ल्युमिनियम उकासने उसके सहा ने कपन बन्दर परवाना र कार्यों को भी चहार । यम थन फिरसे ल्युसिरानिया पर भाममण किया। दीवारीको पार कर मोनर प्रवेश किया। नगरमें हृदय जितु उहोने सधि लिये गलयाके पाम दूत भेजा। विदारक काएड दोरगे। पाद्याभावसे कार्योंजीय शव | उस समय गल्या ल्युमिटानियोंशे सपरिधार निर्मय देह मषण पर अपनी स्वतत्रताको रक्षा करने एगे। रूपसे अपन पेमेमें आनेको कहा। उसकी बात पर सभी जगह तम्यारोंकी झनकार सुनाई देती थी। प्रत्येक विश्वास पर मेमें चले जाये। यह पिण्यामधातरता रामपपफे बड़े बड़े महर्म काजीय नरनारिया पर उन सयोको मार डाला। बहुतेरे भादमी निर्दयतासे अपने अनौके सामने अपनी इहलीला सबरण परने मार हाने गये। पेपर भिरिपेयस पोर अन्यान्य कर Vol Xx 13