पृष्ठ:हिन्दी विश्वकोष विंशति भाग.djvu/५७४

विकिस्रोत से
Jump to navigation Jump to search
यह पृष्ठ शोधित नही है


बम्बई-चम्बेटिया इसमें अदरेन कम्पनीको जीत हुई। इस सूतमे वागा, पर पर स्वदेशको यात्रा करते थे। १८५०१०में और उस चारो ओरके छोटे छोटे द्वाप तपा मारतोप ! नेडियन पेनिनसुला रे पुन र तार के फूलका प्रसिद्ध थाना नगर अगरेजो पहाच माये। महाभोता था तक फैल गई। १८३६६० यह रेल्पय राष्ट-अभ्युत्थामके गमय उनफे शामनमे तंग भा र घोरघाट होता दुमा पूता तक न गया था। १८७० स्तिने रोग यह नगर में भा कर बस गये। १८१८६० १०में कलकत्तारानधामीके साथ ता १८७१६०में मद्राज में जद पे शक्तिशा अघ पतन हुआ तय याबई नगर| बन्दरके माथ दम्ब शहरका याणिज्य मम्मथ रखनके भो मरागधित समस्त पश्चिम भारतको राजधाना! लिपेरेपलाइन ग्योती गई। तमामे गलैए जाने कपमें गिना जाने लगा। इमी समयमे पश्निम भारतको गले लोग कलकत्ते मे जहाम द्वारा न ना पर रेलगाहो प्रगत उ नतिश काल गिना गाता है। से बाबद तक आने लगे। पहले इस इण्डियन रेलये 'माया १८१६ से १८३०६० तक यहा माननीय मनटुमा जम्बलपुर से वसाह पाता यो। पाछे बहार गपुर रेलो एनपि मटन और सर जान माम नामक दो सुप्रसिद्ध भाया नागपुर हो र यम्बा ताबा गइ है। इमराह राजनैनिक गार्नर नियुक्त हुए थे। उनकी हो घुद्धि सरगाणे जन्दा जाती है । यसका 'विपटोरिया मौर मध्यामायमे यहां मनागम्यापिन हुायो। ररमिनम' रामक रेलस्टेशन भारतनपफे मध्य पर महामति पर पिनटनने यदारी नामनपद्धतिका मस्कार | हापूदा है। विमा सफा गयातनामा मामन योरघाट गिरिसरयो ___पम्यइ गरमें वरनप सुर सुपर भरन है। युनि कार पर उपरदेशी याक्षिणात्य अधियका नाने योग मीनट बाल, बार रामा हाइकोट, पपलिक राना सुगम कर दिया। उमौक परमे घोडे हो दिनों यस दिशाम पोए भौर रिपाक आफिस सेलर्स फे मध्य दक्षिण भारतम शामन विस्तारका राम्ना गुल होम न्याय, अटम हाउस, टाउन दाल, रासालघर, गया। गिमा नया कैमर और पोट मेएट जा नाम दुर्ग बाद मदरेज मणिम्फे भारतीय गाणिश्या स्थान देशालाया है। प्रोमफ ममय यहाके गर्नर प्रधान पन्द्रहुगा, उसफ पामे यूरोपीय भ्रमणकारी महायलेश्वरमें मोर वाक ममय पूनाम जा पर रहने हैं। स्पेस पेनलको पार कर या पारम्पको राहसे यूरोप यात्रा प्राएटमेडिकल कालेनमें L US & D को डिपो परले थे। इस पार सामानमें बडा दित होता प्राप्त होता है। यह कालेज १४४५६ ग्यापित हुमा यो। म दिल्ली दूर कर त्रिपे बरे पन और है। एलपिनटन कालेजो १८३५ में खोला गया है, पयसायस रेफ्टेना पागन • Overland Routs", रिमरवारको देवरेनमें है। इसघ सिरा गौर मा मोल गपे। तिन प्रमिद कारेग है जैम विरामन कारस, मरजे इम ममप भारतके साधादादि र एप डिरेपर। मिपर्म वारेज, मर जममेतमी जीनोमापर, मोर यूरोप मन्याय गानो भेगका पदा मसुविधा शिटोरिया जुयी टेषनार पल, मगो पारे। । पहातमे पत्रादि मेनेने बहुन ममय एगला पा| म्फर मोर पारेर अतिरित ५ मस्पताल, २० पौष मकार में मिघको सदमे सपाद मेने पारय है। म्युनिसिपल कमिश्नर मि०प, माया ध्ययम्या दुरसपा प्रथम माम सिफ पर वार सा भेनो पारा पापिन पर छाधा है। गह। १८५५ में पेनिनसुगरमौर मोरिपएटर कम्पना बम्पेरिपा-जरना यस्यां प्रदेश ममुदप शिनारे नमवाद मीर यानी पदम रिपे प्रथा पन्दीयस्तरिया माटे पदफ मुमम्मान पपययादी गाय चला था। म ममप नाइस हापमा मन्दर महरेजो द्वार का वडार यणि पास मान मोर मा पार भने मोर यरोपीय शक पनेरा पन्द्रह गया। भारत मा पशमय टूटन। पहला मामान नि भागी गूगेपोपग समामेबार दरमहा पालो । पम्ये (जनपद) और पेरिया (नाटा) या पावापामी .lol 141