पृष्ठ:हिन्दी विश्वकोष विंशति भाग.djvu/५८

विकिस्रोत से
Jump to navigation Jump to search
यह पृष्ठ शोधित नही है


रोम साम्राज्य हार गपे । इनके १४००० सैनिक मारे गये मोर १००००। उपस्थित होने की सूचना मिली । मेरायास गामा भीर मैनिक पर रिपे गये मोर गुलाम बना पर पेच मन्य विभागों एशापिपत्य परनेरे लिये सदर करने दिये गये। विन्तु इनकी रिनपा पैर न हुइ यर रस एन एगा। किन्तु उसरी शासन क्षमता मौर पक्षाला नति रमणिया मात्महत्या कर यमलोक सिधारी । मेरायामने | कुछ भी न थी। इसलिये साामिमास मौर ग्लसिया इस तरह समामा प्रतिमाद मै मौर अभूतपूर्ण रण नाम दो शामिको हाध पर भपने काममें लगा। कौ7-मे गमक सामाग्यमुपकी राह मुझसे बचाया। साटानियास दिव्यन यहा पर पियुन हुमा गौर पर रोमासी मी देयाराधना करते समय उसका पूजा और । रियम कानून या पागल प्रदेशी भूमियी मेरा तपण करन म भूरेयद रोमारा उद्धारपार थामने फोडाने वार देना चाहा। म भान गया। पाटे मेरापासव समारोहमे विपयोत्सप पर पा पा शरा थो, कि इमो प्रपर्शमा गौरवाति विनम गेम यापम माया । यद धौ धार मम्ताय पदि मयंमम्मतिमे पाम हो तो साट फिर कम्मल नियुम हुमा। इससे पहले और कोहमी मदए इसका पालन करने पर पथ यहाँगे रोम मधियामा इतना मम्मानित नहीं हुआ और जो भसम्मत होग ऐ सरस्यपदसे मांगे। परे ऐतिहामिन पहना है कि इस या मूक मेटलाम मरापास-दोनोन सनेसी मर्गसम्मतिम याद मध्याहारम मेगवामको यदि प्रति दी जाती तो मठ कानून बनाया। पेपल मटलास गो स्वीकृत शपथ होगा। पयोगि ऐसा होन पर उस याचिका भम्नगमम पारग करने पर पार माइम सम्बन्ध मेटलाम रुप दुदिन मना न पटना। और मेरावाम पक्ष घोरतरमनमुटाय उपस्थित हुमा। दूसरा गुलाम ५ (१.३१०१०) । विरोधियों के भरपाचारसे रोम राजधानी प्रतितो इस समय गुरु पहा मारो विद्रोह बहादुमा उठा। इस तरह राधिरण समय तक चलने के बाद चार वर्षशातीम गुनगम युद्धसरा बडा ममिए प्रधान मघा नामोर पापितार कम हो माया| उम रिपाम भोर मारिपाम का गधोन दो समय समोर मियांचन सपे। नियाचममें टंगा पार पाने गुनामा पराजित गुर । माह पमाद दोन देव सनेटने मेरायास विरोपियों को दया। पम माग देवमो मरमा मसमान प्रतिभाष बरमे फलिप तथा राजरक्षा परीक लिप प्रादेश दिया। उस शाम इ. २०००० पे भीर २०.० घुटमयार मैन्य समय मानियामसयालेसिपापोदताही मारम पदानि रमपमा गाम द्वारकन गलिपा । पहा। समपण परमा पा सेनेर उनको राजद्रोदिता पर नहीं उमने रापागोरसय मा पररिया। घर पिसार परल ममप प्रमाने उहे मार द्वारा। गुलाम दो दलोम विमत हुप मोर मामी तपा मारी । पनर साप विपाद करने में, प्रसाद पो पराजय भोर निउन पश्चिम दाम्पमा परमो धापनका प्राधाग्य, मेरायासरेवार समरियुम होममें प्रभाक साधि सारर लिया। प्रानकी गायुकवाद अमियो बारदामहे माप माप रोगको प्राचीन प्राताल गुरगोका पादुमा । एपुलिप सिमित भेसे मोह परिवर्तन हुए। मलयामार रामम पद पर गये। उन्हीएम पिप- मरमान दापों माथे ! मोर अनुमोदित कारदा ऊपर मेवरियतम मत नियोको रोम मापिपिटाम मिदार साप प उपस्थित हुमा। हम ए पम मेरापामो गुरु परम मिगुन लिया समितुप मा सानिमाम प्रविन मामयिक मारपनि गनु मिपुर रामवामियों गिरिमोद परनेटो सरकपा ममागिल मपान, माधारणमा पपेराय मापम दामे PETER गये। पद प र नियुरिया। पद सरसैनिक भवन म मना पूर्णको परगा। पनियोसपा माडापालन र शिरा होगा Emममप म सम प्रमागमति विपमापारज मनिकों में मप्र मा परिमारा