पृष्ठ:हिन्दी विश्वकोष विंशति भाग.djvu/५९

विकिस्रोत से
Jump to navigation Jump to search
यह पृष्ठ शोधित नही है


रोप-मानाच कोई खातन्वा न रहेगा। वित्त रोमनम् यो लीजन । मम्मिलित इटालिनाने सरवारिक समभावम ( Legrore) मे सम्पूर्ण विच्युत गहा। नियां वनाधिकार पानेको माना टाटीमें एक माम फाल वियर, गेयान, प्राक्म, मानिनाम' राजधानी कायम और गेर नगरी माना आदि ४० वर्गमे दटालियनीयो मम्मिरिन कनेकी भामा, मनपरिया। पदिग्नि जानिमी वामगि कशिनियम देत आने थे, किन्तु वे समजाम फट नही हो सके। नगरी म नये प्रति प्रजातन्त्रकीगा यानी राम जितनी बार इटालियन मिन्टे, उनी चार वे कारक नई सौर इनसा नाम स्टाटिका गा गया। यहां ठोर निमसे निगृहीन हो रोमने भगा दिये गये थे। मदम्योंकी पर पम्पनी कायम र प्रजाता इन म असदशवदानि वालियनों को उत्तेजित होना , प्रनिया टोमट मारप्रिट नियनने गे! देव द्रिव्यन माकाम लिमियम इसमने मबारका निटोपेनियम नामक ए मागिन मा प्रथम भार लिया। उनीने जय नेनेट सभागे गविधि मन्मट नियना गा माम्बारका प्रम्नाव उठाया, नद मम्म्रान्त सम्प्रदाय पट जन्टियर मोडर और नीतियान मारम- (caucctrian oricr ) अपने दल माथ कोधित हो । के यन्सट नियु, दोपर युवा मिले। याम उनाड मम बनाये जाननाको नावारणमे पास पर और निशाना बानो का गुजरनं दिया, किन्तु मेटने मजूर नहीं किरा धीर ननको गिरे। काले चमिया जगाने का टिटिपास इटालियनों के साथ माजिगमें लिप्त और राजद्रोही होने सफाम भयदा न करके भी नियों में 2 मारा की घोषणा की। ममासे घर याने समय गुन इत्यारेके , गया और मामिया कमल टोने युजमें विजय पाई। हाय इ.सस मगर डाला गया। - विन्तु गेमक वीर युद्ध पीनटे। विशेष माने. दमम मन्ने पर इटलीवासी मेनेटके विरुद्ध उत्ते सायद पर मेरायाम चार सदानं कमल, नीलर. जित हो उठे। उम ममयरे फ्यूमेटियस साजिश करने । एपेजियरमागं आदि का योको पगस्ति पिया। बाटोको दण्ड देने के लिये एक समिति नंगठित हुई। मेरावार के अधीनारें रोमन रेना मुक्षित मात्र भए. इम नमिति विचारफलसे बहुतेरे लोग प्राणवधक म्यान करने लगी। न ममय गगनों विटलागढ़ा दगडमेनगिइन हुए। में जुलियन मांजर के परामर्शरे अनुला लिगम लिया' धान्ततिक या मामि युद्ध । (३०८८ पूर्व) , नाम पर कानून बनाया। यह मामे वर्ष पूर्वको इटली वासियों के निर्वाचनाधिकार पर एक महायुद्ध बना है। इस कानुन अनुग्गर गरी श्रोन विधाम की दृष्टि हुई । म युद्धमें इटलीवानी रस नये मम्मा : उपम युद्धपारी बार शान्त प्रजात्राको रोम पामियों के दायके तीन लाख आदमी मारे गये। ईसाक १५ वर्ग पूर्ण साथ समभावने निवांचनाधिकार (Fr... ) ने लिनियस केनके बलाये नियमके अनुसार इटली की व्यवस्था में । इसने बर प प्रयत्न हो उठा यामी रोमलों के मारे अधिकारोंमे वञ्चित हुए। इसमें। गौर लडाके दुमरे वाले गेमकों की सफलता प्राप्त ममन इटलीवासियांने उत्तेजित हो पर तथा मार्शियन, होने लगी। इसके दृमरे वाम पम्पियास प्रायो भोर पेलिगनियन, मेरिउमिनियन, मेटिनियन, मावेलियन, पर्मियास केटो कन्सल नियत हो कर युद्धक्षेत्र में पधारे । पिसेण्टाइनम, सामनाइटस, आपुलियन और लुकानियन लडाईके प्रारम्भमें पेटो मर गया , किन्तु रोमक फाँ आदि पराकान्त जातिके लोगोंके साथ दल बाध फर कमजोर न होने पाई। पंटो के लेफ्टिनेन मल्ला प्रबल रोमके ध्वम साधनके लिये एकत्र हो कर सन्न धारण पगकमसे युद्ध करने लगा। उसका या. मृर्यके प्रबर किया। इनमें मार्मि ज्ञानिने अधिनायकत्व ग्रहण किया। फिरणसे मेरायामको ग्याति हीनप्रभ हो उठी। यह था। इससे रद्द मार्मिक "युद्ध" कहलाया। उस समय: मर्सिया सेनापनि मिइटलाम्मको पराजित कर वभिषे. लेटिन किसी ओर माथ न दे कर निरपेक्ष रहे ।' नाम् नामक सुरक्षित दुर्ग पर अधिकार कर लिया।