पृष्ठ:हिन्दी विश्वकोष विंशति भाग.djvu/८६

विकिस्रोत से
Jump to navigation Jump to search
यह पृष्ठ शोधित नही है


रोमे-साम्राज्य द्रोही कनस्त तानने पनिष्ट माह निस्ता सय धन इसा युद्धमें उसके पुत्रके कलेनेमे दाण घस जानेकी ऐश्वयं को घढते दम्ब पान्वित हो कर उस पर आक्रमण वनह मृत्यु हो गइ। इससे उसने क्षतिपूरण स्वरूप कर दिया। उसके आनेस डर कर कनस्तान्सक द्वारा आमिदा नगरको ध्वस किया। इसस रोमको उत्तेजित भेनी हुई फौजोंने घरसे वनस्ताताइनको ले जा कर उन हो पर उसके विरुद्ध युद्धका घोषणा की। इस समय सर्वोको मार डाला। यह ३४०१०को घटना है। इसफ ! यारोंने सापुरका साथ छोड़ दिया। इसस उसका बल टोक दाप वाद अधान् सन् ३२०१०में माग्नेण्टियाम | म हो गया। सन् ३२०४०में रोमकोंने शिवाडा और नामर प रानद्रोहाने माशलियानासका उत्तेजनासे | मिसिपोटामिया पर अधिकार कर लिया और भीथाफे शास्तासको मार डाला । निम्नान्सियासने माग्नेण्टि युद्धम हार कर मापुर भाग गया। इसके बाद अघार यासको नही छोडा । मिलिमोफस पयतके निपटके कास्तासियासने अपने सेनापतिके कायासे असन्तुष्ट युद्ध माग्नेण्टियास सन २३३ इ०में मारा गया। । हो कर स्वय डेयूबके रिनारसे पूरको ओर यात्रा को । सन् ३५० इ०मे फनस्तासियास एक्छन राना हो। येशादे रिले पर घेरा दारनेके समय वपाकाल मा जाने गया। सन ३५१ इ०को ५यो मा उसन गाल्लास से अधीश्वरने अन्तिोक्मे सैट कर छावना बनाइ। साथ अपनी या वनस्तातिना विवाह कर दिया | राजनीतिक पिशवलाम गिर पर अधीश्वर और उसको रानकार्य के सुप्रबन्ध गाया। सन कनस्तासियात मास भालेमनी सादि जम्मनीके ३५३ १०म कनस्तासियासका राज्य निपटा हान पर असभ्य अधिवामियोंको गलराजाके अधिकाश प्रदेश भी गाल्लासका अत्याचार दिनों दिन वढन लगा। यह छोड देने पर पाध्य हुआ। इस समय नाना शासविद् देख सम्राट ने उसकी क्षमता कम कर देनो चाहो । जुलियान गलका शासक हुआ । इसने युद्धविद्यामें उसने कौशलस अपना बयाका प्राण महार कर दामाद । निपुण न होत पर भी ३०७ ३५६ ६०में कइ युद्धोमें का छलसे मिलानमें घुला पर वासिमा नामक सेना । जमनारे यारों को परानित कर राइन नदीक दूसरे पतिक साहाय्पसे पेटोमिओ नामक स्थानमें कैद कर किनारे तक रोमराना सीमाका विस्तार किया। लिया। इसक बाद उसन पोला नाम स्थानमें कैद कर लियानको यह प्रतिमा और सौभाग्य अधीश्वरको उसको मनपणासे मुक्त कर दिया । इस समय उन मावों में काटा बन गया। उसने शीघ्र ही उसके पास माही भताजोंको मार डाला। फेल साम्राशा यूसिविधाका भेजा, दि ट्रिब्यूनके समीप अपनी चार लीवन भेजो। योचमे रख जालपास प स नगरमें निवासित किया। इसमे सेापे विगड गइ ।घे पारस्यके कठिन पलेशाको गया । वह यहा दा रहने लगा। वितु उसको वहा सहने पर राजी न हुए । उहोंने अधीश्वरको भामाशा अधिक दिनों तक रहना न पडा । साम्राहाका मासे | अमान्य कर जुलियानके लिए जावन उत्सर्ग करना स्वीकार उसका चियाद वनम्नासियासका बहन हेलनाम हो किया। ये वर पूषक रान प्रासादमें घुस पर जुलियानको गया। भव यह सीजरको उपाधिक साथ माल्यस पगतक। आदरक साथ प पर ले आये और सिहामन पर दुसरे किनारे के प्रदेशका शासक बनाया गया। इसके येठा पर उसको अधीश्वर होमेकी घोषणा प्रसारित की। सम्बधर्म उसको मिलानमें बा कर अघोरसे भेर इस मम धर्म दोनों ओरसे घोर युद्ध होने लगा। फरली पार यहा २४ दिन रह कर यह गर-राज्यफे [ तुरियानो सन् ३६१ ६०म यासिल नगरके समाप अपने शासन परत चरा । यह ३५५ ६०को घटना है। सेनादलको दो भागों विभक पर सेनापतिले पित्ताको सन् ३५७ ५६ इ०में सम्राट कनस्तासियास पूर्ण रिटिया मीर नीरिपाम बीचस और बोमियास और विभागका परिदशन करने आ कर कादी, सौरमताय जोभिनासको आत्पम पार र उत्तरी इटी नासको मोर लिमिगेतिस यादि शातियाँको दार्म लाया! | माझा दी। इस शाद बद म्वय ३त्यूव पदी द्वारा शेपो वने उसको सापुरफे साथ युद्ध परना पडा मिपुल वाहिनियोंको शिरमिपागमे ला कर उनसे मिल