पृष्ठ:हिन्दी विश्वकोष सप्तदश भाग.djvu/२१

विकिस्रोत से
Jump to navigation Jump to search
यह पृष्ठ शोधित नही है


. . . मलाई-मलिन मलाई (हिं० स्त्री०) दुधकी साड़ी। इसके बनानेकी । दुतकारने या फटकारने योग्य । २ घृणिन, अधन्य । रोति इस प्रकार है :-जव दूध धीमी आंचसे गाढ़ा हो मलायन (सक्लो०) मलद्वार, गुदा । जाता है तब उसके सार भागको एक हलको तह जमती । मलार (हिं पु०) संगीत शास्त्रानुसार एक रागका जाती है। यही तह वारपार जमनेसे मोटी हो जाती है, 'नाम] मार देखो। इसीफो मलाई कहते है। यह मुलायम और चिकनाईसे मलारि ( स० पु०) मलस्य अरिनांशको रेचकत्वात् । भरी होती है। जमाए जाने पर इसी मलाईको मथ कर क्षार। •मसको निकाला जाता है। मलारी (दि. स्त्री० ) वसन्तरागको एक रागिनीका नाम । १२ सार तत्त्व, रसं । ३ एक रंगका नाम जो बहुत महारी देतो। • हलको बादामी होता है। ४ मलनेको मिया या भाय । मलाल (म० पु०) १ दुःख, रंज। २ उदासीनता, उदासी। ५मलनेको मजदूरो। मलावरोध (सपु०) मलविष्टम्म। मलाकर्पिन (स.पु.) मलं विष्ठां आकर्षति स्थानात् मलाग्रह (सल0) मल आयहतीति मा-यह-अय । स्थानान्तरं नयति आ-कृप-णिनि। भंगी, मेहतर। । ____मनुफे अनुसार पापोंको एक कोटि । इसमें शामिल मलाकपी (सं० पु० ) मनाकर्षिन देखो। कीरों और पक्षियों की हत्या, मयके साथ एक पातने मलाफा (स० स्रो० ) मलेन मनोमालिन्येन अकति लाये हुए पदार्थीको खाना, फल, ईधन और फूलकी कुरिल गच्छतीति मक-अच, स्त्रियां टाप् । १ कामिनी- चोरी और अधैर्य सम्मिलित हैं। सी। २ येश्या । ३ हस्तिनी, हथिनी । ४ दूती। "कृमिकोटवयो इत्यामद्यानुगतभोजनम् । मलाण्यकिह (स, क्ली०.) मल। फलेधः अनुगस्तेयमधैर्यक्ष मालाहम" (मनु० ११११) मलाजातक (सपु०) गंधमार्जार, गंधविलाय। मलाशय (सपु०) उदर, मलस्थान। मलाट (हिं० पु०.) एक प्रकारका मोटा घटिया कागज। मलि (सं. स्त्री०) अधिकार। २ अघीनता। ' यह प्रायः खाकी रंगका होता है और कागजोंके यंगल मलिक (अ० पु.) १ राजा। २ अधोश्वर । ३.मुसल. बांधने या इसी प्रकारफे और कामों में आता है। .... मानों की एक जातिका नाम । इस जाति के लोग मध्यम मलाधिषय ( स० लो०.) श्लेष्मज रोग । इस रोगमे बहुत श्रेणी माने जाते। मौर रोती-बारी करके अपना .दस्त होता है। ..: . . गुजारा चलाते हैं। ४ किन्नरों और फथों पक वर्ग- मलान (हिं० वि०) म्वान देखो। की उपाधि। . ... मलानि (हि स्त्री० ) म्मानि देखो। मलिका (म० स्रो०) १ रानी ।२ अधोवरी। ३ मलिका मलापकलण (सं० शो) १ पापमोचन । २ मल साफ। करना। मलापद (संलि०) १ मलनाशक, मल दूर करनेवाला। मलित (हिं० पु०) एक प्रकारको छोटो ची। इससे सुनार नमाशीके गहनोंको साफ करने हैं। २पापनाशक। मलापहा (स' खो०, मलं अपहन्तीति अप-हन-त्रियां मलिन (सेलो०) मलते धारयतोति मल (पानमन्य. टाप । १ एक नदी । २ फुलपोका मजन 1 ३ घनकुलयो। प्रापि । उण २६) इति इनच, यहा (जोत्स्ना समिति । मलावार (स.पु०) भारतके दक्षिणी प्रान्तका देश। पा ५२२२११४) इत्यत्र मलदादिनयीमसची प्रत्ययो - मलपार देखो। निपात्येते इति कानिकोषल्या इनच । १ मलयुन यस्तु, मलाम (स० वि०) कुत्सित, कदर्य। ' मैली चीजें। २ एक प्रकारके साधु जो मैला कुचला मलामत ( स्त्री)१ लानत, दुतकार। किसी कपड़ा पहनते ६. पाशुपत । ३मा । ४ गुण, सोदागा। पदार्थमका निशटया पराय अंश . . ५दोप, पाप।६मागुष्काष्ठ, काला धगर। सपा- मलामती (फा० यि०) १जो मलामत करनेयोग्य हो, प्रमून गोदुग्ध, गोका ताजा दूध । ८६मा ६ दस्ता, Bol. XII.B देखो।