पृष्ठ:हिन्दी विश्वकोष सप्तदश भाग.djvu/३४०

विकिस्रोत से
Jump to navigation Jump to search
यह पृष्ठ शोधित नही है


महमुद करने दाद पर मिली, कि शुकपाल या नगास शाह ऐसा झोन और तरपागे देण महमूदकर हमाम गुम उमसी अधीनता सम्वीकार कर तथा इस्लाम धर्मको हो गया। हमने मा किस पार बरमें काम न . ठुकरा कर हिन्दुओं को सहायता कर रहे है। इन्हें दण्ड गलेगा तब रसने कौशलमे काम लिगा पद गोदर देनेफे लिये महमदका पांचा वार आक्रमण हुआ। इसके ; पर एक गाई बोद फर पैठ गया । दिदमी अपने में पेशायर पहुंचते ही नयाम शाह भाग गया। महमूद। प्रवेश कर रहने लगे। गंद महीने ता. दोनों भोर भाग.. नयास मार द्वारा इकट्ठी की हुई धनराशिको हम्नगत कर मणका कुछ सय परिलक्षित न हुआ हिनुमोको निशान अन्य शासनकांके हाथ अधिटन देशोंका शासनमार सेना दिनों दिन बहने लगी। मिया इसके गमार्गको फर आप स्वदेश लौट गया। कुछ लोगोंका कहना है, ४०००० फौजे हिन्दुओंका मादे कर मुसलमानों को किशुपालका ही दुमरा नाम नयाम शाह था जो; यिस्ट करने लगी। इस मागरके के लिए जयपालका दौद्धिव था। इसको महमूदने बलपूर्वक देश देशान्तरसे अन्न याने लगा। और सोया मिला. मुमलमान यनाया था। रिणो और कहालिनी जियोंने भी गाने को गोमें ___ सन् १००८ १०में हिन्द घा मिन्ध भौर नगरकोट : उपार्जित भनधन देशोद्वार के लिये कार्यों मर्पण किया। पा कोटकांगड़ा पर महमूदका छठयां आगमण हुमा, आनन्दपालका पुत्र ग्रामपाल महमूद पर भागमण महमूदकी गैरहाजिरीम जयपालके पुत्र आनन्द, करने के लिये भागे यढ़ा। दायो, घोडे, गौर पैदल पंसि. पाल ममी हिन्दूराजाओंको स्यदेश-प्रेमफे उत्साहसे घर पहुए | उधर महमदने भी कोई उपाय न देग उत्साहित कर उत्तेजित कर दिया। भगेद शुरूपाल भी: प्रत्यायमणके लिये अपनी फीती सुमजित किया। उन्हीं के पक्षमें था । मानन्दपालफे स्यदेश प्रेमको माधुः सोम हमार वैदल गपहार फोन भीषण गमे आम- . प्रेरणासे समी दिग्गजे विधी ययनके वियद उठ मण पर महमूदके घुढ़मयार समिकों को निमिan मा हुए। उन्जयिनी, कालिअप ग्यालियर, फनीश, पाला। दो चार मिनटीने पार मार गुसलमाम मेनिक दिली, अजमेर आदि अनेक हिन्दू राजे पयित्र भारतमे : मारे गये। महमुद भागने की चेष्टा करने लगा। ऐसे ययनोंके मूलोच्छेद करने से लिपे कटियर पं। सभी ममय आनन्दपालका दामो गोले रंग कर अपने गुर अदम्य उत्सादसे गयवलसे बलवान हो इस धर्मयुतमें प्रत मे भागने लगा : यह देगा दिन्दू-मेन्या पूरमे मममा.fr दुए । प्रतिदिन यदुतरे योर युद्ध में अपना नाम लिसा का भानन्दपाल उन्हें भागका शारा कर रहे हैं. इसचिव अपने दलको हद फरने लगे। धनयान ग्युले हायों धन समो भानन्दपालका पदानुमरण करने लगे। हर मह. देने लगे। किसान असले पर हाजिर हुन । पर मएडलीने मूदफे सैम्पोन भाफमण कर मार मार हिन्दुओं को मार उस्मायापमं घोतेंको उत्साहित किया। भूरणप्रिया : गिराया। ३. हामी भार बाहुन घन महमयको HIT मा । हिम्दुललनाए गपने शरीर माभूरणको उतार भौर ! भागने बाद महमद हिन्दुओका पोछा करने एप . गोमा केगिरातिको कतर कर धनु के लिये ३ नगरकोट तक भापा, गिटफ भोगनगरपं. दुमय दुर्ग थमयासिनी द्रौपदीको गरद अपने पति गौ पुत्रको (मिला) . मागने भा उपस्थित मा दुर्गा, पारी गुस् लिपे उस्माहित करने लगों । हिन्दुस्तान में एकता और गदरी गायिका यापगला माहित हो रही । . का माम्राज्य दिना ने दगा। हिन्दू राजा के चेहरे मीमनगर यहां एक मील की दूरी पर यमा हुमा है। पर उत्साह धौर फतिमी रेया दोड़ने लगी। हम समय इसका माग गया हो गया है। पहा मारा भानन्दपादन सेनापतिया पर प्रदा कर पदमे द्वारा प्रतिष्ठित नाशिको प्रतिमा मादर हायिन पावकी भोर गाया की। पेशायरपे. या मैदान मांगगगरफे निकट ही मिल पामामुणी में मुझमे हम लोगों का मामना दुमा। मांदा निदान निरिहा नारी मन्न महमूद के पाम पर माम मागोकिन्तु दिनुका सरल भपयुन, मनिषा सज्ञार कर रहा ri