पृष्ठ:हिन्दी विश्वकोष सप्तदश भाग.djvu/६४४

विकिस्रोत से
Jump to navigation Jump to search
यह पृष्ठ शोधित नही है


मिरान-पिरि Prer विभाग प्रामको ले कर म घरट- भूमिमें इस जातिको यस्ती है। मा नामो शालिक मोग का गंगटन दुमा है। हम मागीमा सरल २०८ वर्ग ममगलव, इफले पापंम्प उत्पागों में भौर मिरों गर। पद पाम पहनायनमे पैदा होती है। सूनी पहादी जाहलो सफेले रहने हैं। पत्रकारमान भी। . मका, भावर भार समा देखो। ___ या मादायक भी वर मिराज मरदारको तरद मिम्यिाम मुण्पना दो दल पारगाम भीर वाद- हो अधिकार रम है। मदार पाणराय हरिदर गाम । पारगाममें धारण श्रेणियां है भार बदगाममें दश । प्रशासन यंश । मायासिंगो प्रया रायका काम , ये दो दल स्यनम्स हैं। एक दुसरे में नहीं मिलता। वामिरिकल पजेएटकी देर में हुमा। त्यापराधीको भामामफे ममतालीयम बरे मिरी रहते है। दानेको गो क्षमता न मिगत सरदारको सरह मायरोंका कहना है, फि पहले ये गुलाम थे। भाग कर . इनको भी। इनको सैन्यामख्या २००६ भार पहरे। यहां पले माये और रहने लगे। किन्तु इस पात दारोको मंमा २१ है। को नहीं मानते। इनमें इस सरहको फदायर प्रमादित मिरात--पर मिरासका प्रधान मगर। पाद एष्णानदीक है-पदले पदाड़ी गिरी मोर गाव में घोर विवाद चलता किमार वमा दुमा है। भक्षा० १६४ १०3० भार था। इस विवादफे कारण ही हम दोनों मातियों पर देगा. ४.४३ २०"फे मध्य विस्तृत है। म्यूनिसि. विकराल युट एमा। इसी युसके समय मिरी मातिष पलिटा होनेसे इस नगरको दिगो दिन मपस्या बदलती सभी लोग पदासि समजलक्षेय उतर भागे फिर माती है। पता पर गदी का सफे। भावरोंको पराजित कर . मिरा महम्मद-मलाम धर्मियोंका उत्सपोंद । धर्म के समतलक्षेत्र में ही रहने लगे। " . प्रयतका गदम्मदको परीक-पासाफ, हरणार्थ २७यों.. भासामय विहिक मदो, मेका भूगिमे बहुत प्राचीन काली मिरियोसी यस्ती है। ये सलाम' मामसे परि- रजयको पर पहुभा करता है। यह पयं मुसलमानाम । गित । पानी पेशाशि बन्धन गुलदीकर पदा सद महम्मद नामसे परिचित है। पुरान. १७ __गा कर पाम करने हैं। पुरियामिरो अपनेको विदित परिषदमे इसका विस्तारित रुपम यणन मिलता है। गदापं. उपम स्थानसे भापे बताते हैं। काशिष माल वादीका पाना है कि १७रमजानको नका मुगल जातिको शरद क.पो हलोका साया यह घटना मपरित gi पी। उस समय पर-दून : ' मौर गठन देख कर मनुमान होता है, कि 1 उत्तर मिताल धराधाममे पा कर मम्मदको पुरफ गामक

देशसे भा र ममता भासाममी पार्यस्प उपरयका.

घोर पर यहा सग (Mufen) (यदिन ) म ल भूमि पर मधिकार कर पम गरे १ भार पदांग मागे गये थे। .. । वह इन्होंने म्पमानि भावरों को भगा कर ममतल शेल मिरासद पातु इरपान मा यार दिया है। इदकाय होने परंभोगका पेडग देना मम उमदाबोधक है। मिमदम्मद हा मासमी दोनेका पता सामा। का म म्मदशा स्वर्गारोदन। . पन दिनोंग मामा-मरफार अपांगमें माप मिरिमा प्रपोस योगदा है। ये भासामयामिनी और पावर शासि. च मिरि (मौरी पा मिi)-भामामको पारिप उपरपका माया परिपालन किया करते है। मारतालिका पामो Afnामाम निपतीय मोमा नाम पात्य में जो पे मागाम. भगा जाति यार प्राप्ति रमको मेयर बाजारों में मार आसाम र भावरों भाग- पर माराम भार मार का नामकी मीनों nintको गरोदर हावा पाते। पाय A ratri imनिमे उत्पन्न है। इस प्राय पोय वाणिwrit Baingr. omमा, रमादिरिलोको पा .हैं। गोमे नहा माम मरीमा । . .