पृष्ठ:हिन्दी विश्वकोष सप्तदश भाग.djvu/६७२

विकिस्रोत से
Jump to navigation Jump to search
यह पृष्ठ शोधित नही है


१०० मिसान-मिस पजिसिरका अभ्युदय हुआ, नव मभी सिफ्ष-दल | ३ भूपा-नंगा, कंगाल। ४ सोधा सादा, मुशील । उनके अधीन हो गये थे। इस सिफ्पा सम्प्रदायको मिस्कीन सूरत (१० वि०) जो देखने में सीधा सादा या पकताने एक दिन अंगरेज सरकारको भी कंपा दिया। दोन, पर वास्तवमै दुष्ट या पाजी हो। था। नीचे मिसलोंके नाम दिये गये हैं- मिस्कीनी (अ० सी०) दीनता, गरीयो । २ सुशीलता। संस्थापक। मिसल। मिस्कोट (अ० पु.) १ भोजन, पाना। २ एक साथ. १ बजामि भनी। चैट कर खाने पीनेवालों का समूह । ३गुप्त परामर्श । २ युगालमिर रामगदिया। मिस्टर (२० पु० ) महोदय, मदाशय । इस शब्दका ३ जयमिह फन्दिया । इस्तेमाल अफसर अङ्गारेजीमें अथया मगरेजो ढंगसे ४ होराति गई। रहनेवाले लोगोंके नामके साथ होता है। ५ मदमिह साहलूयलिया। मिस्तर ( हिं० पु० ) १ काठका यह भीजार जिससे राज- ६ गुलाय क्षत्रिय दलीलिया। लोग छत या पलस्तर आदि पीटते हैं, पिटना । २ ७ सङ्गत मौर मोहरसिंह निशानवाला। यह कल जिससे नीलको रिफियां बनाई जाती हैं। ८ कयोड़ीमल फयोरासिंही। मिस्तर ( १० पु.) दफ्तीका यह बड़ा टुकड़ा जिस पर

  • फम भोर गुमिह सहीद और निहङ्ग। समानान्तर पर डोरे लपेट या सी लेते हैं। यह लिपने.

चुलकिया। के समय लकीरें सीधी रखनेके लिये लिये जानेवाले सुकफाचकिया। फागजके नीचे रखा जाता है। कभी कभी इससे कागज मिसाल ( १० रनो०) १ उपमा। २ उदाहरण, नमूना। भो दवाया जाता है। २ मेहतर देखो। ३ लोकोकि, मसल, कहायत। मिस्तरी ( १० पु० ) यह जो हाथका बहुत अच्छा कारी- मिति ( सं० स्त्री०) मस्यति परिणमतीति मिस्-इन, गर हो, चतुर शिल्पका। इस शब्दको प्रयोग अकसर याहुलकादत इकारः, पक्षे सियां डोप। १ मधुरिका, लोहारों, यदायों, रोजगीरों और फल-पेंच आदिका काम करनेवालोंके लियेदी होता है। मोफ। २ जटामांसी, पालड़। ३ शतपुप्पो, सोयां। ४ रगीर, प्रस। ५ गजमोदा। मिस्तरीसाना (हिं० पु०) यह स्थान जहां लोहार, बढ़ा मिसिगे (हिं० सी० ) मिमरी देखो। या फल पेनका काम जाननेयाले चैठ कर काम करते हैं। मिस्ता ( हिं० पु० ) १ यह मैदान मिसमें किसी प्रकारको मिसिल (१० वि०) ५ तुल्य, समान। मिस्त देखो। हरियाली न हो, यंजर। २ यह समभूमि जो अनाज (स्रो०) २ किसी एक मुकदमे या विषयसे संबंध रखने । दाने के लिये तैयार की जाती है। पाले पुल फागज पलों मआदिका । । ३ किती मिस्र (मिसर) (Bgspt )-भफिकाफे उत्तर-पूर्व में पुस्तकफे अलग अलग छपे फाम जो सिलाई आदिक भयस्थित देशविशेष । इसकी उत्तरी सीमा पर भूमध्य काम लिपे फ्रमसे लगा कर रो गए हों। सागर, पूर्व पेलेस्टाइन, अरव धौर लालसागर, दक्षिणी मिसिली (हिं० यि०) १ जिसके सम्बन्ध अदालनमें कोई मीमा पर न्यूपिया और पश्चिमी सीमा पर सहारा- मिसिल बन चुकी हो। २ जिसे न्यायालयसे दण्ड मिल भूमि है। यह अशा० २४.३ से ३१३६३० राया गुका हो, सजायाफ्ता। देशा० ३० से ३४ ४००में भय स्थित है। गिसो (हि० स्त्री०) मिछि देसो। नामको उत्पत्ति । मिस्कला ( म०पु०) सिाली करनेयालोका यह बीजार मिस्र शाद अति प्राचीनकाल से भारतमें प्रचलित है। जिसको महापनाम ये सिकलो करते हैं। पिनसग भादि पियानोंका अनुमान है, कि मारतोय मिरकोन्ट (म. पु.) १ वीन, पेचारा। २ दरिद गरी । : 'मिथ' उपाधिधारी माणोंने अति प्राचीनकालमै