पृष्ठ:Aaj Bhi Khare Hain Talaab (Hindi).pdf/१२६

विकिस्रोत से
नेविगेशन पर जाएँ खोज पर जाएँ
यह पृष्ठ प्रमाणित है।
 

सीता बावड़ी

 
Aaj Bhi Khare Hain Talaab (Hindi).pdf
 

बीचों बीच है एक बिंदु,
जो जीवन का प्रतीक है।
मुख्य आयत के भीतर लहरें हैं
बाहर हैं सीढ़ियां।
चारों कोनों पर फूल हैं
जो जीवन को सुगंध से भर देते हैं।
पानी पर आधारित
एक पूरे जीवन दर्शन को
इतने सरल सरस ढंग से
आठ-दस रेखाओं में
उतार पाना कठिन काम है
लेकिन हमारे समाज का बड़ा हिस्सा
बहुत सहजता के साथ
इस बावड़ी को
गुदने की तरह
अपने तन पर उकेरता रहा है।