पृष्ठ:Antarrashtriya Gyankosh.pdf/२२७

विकिस्रोत से
Jump to navigation Jump to search
यह पृष्ठ शोधित नही है


________________

बुखारेस्त की संधि २२१

  • *

| ब्लम,लियोन-फ्रान्सीसी समाजवादी नेता । सम्पन्न परिवार मे,१८७२ मे जन्म। दर्शन तथा कानून में उपाधियाँ प्राप्त की। वकील बन गये; समालोचना और पुस्तक-लेखन द्वारा साहित्य-सेवा भी की । सन् १९३६ तक वह इस बात के विरुद्ध रहे कि समाजवादी-दल फ्रांस के राज-शासन से पद-ग्रहण करे । वह संयुक्त मोर्चा स्थापित करना चाहते थे । ४ जून १६.३६ को वह फ्रान्स के पहले समाजवादी ।" ", " , ५ . प्रधान-मंत्री नियुक्त किये गये । २० जून १९३७ । ' को उन्होने पद त्याग दिया। चौटेम्स की सरकार मे वह उप-प्रधानमंत्री बनाये गये । १३ मार्च १६.३८ को वह फिर प्रधान-मत्री नियुक्त किये गये । इसी मास में जर्मनी ने आस्ट्रिया को अपने राज्य मे मिलाया । इनकी सरकार कमज़ोर थी इसलिये, २६ दिन बाद, त्याग-पत्र देदिया । इनके बाद दलादिये प्रधानमंत्री बनाया गया। आजकल ब्लम विशी सरकार के राजबन्दी हैं। | ब्लिज़क्रीग्–जर्मन-शब्द, भावार्थ विद्युत्-वेग से विरोधी को आक्रमण द्वारा नष्ट कर देना । हिटलरी जर्मनी मे यह भावना बहुत प्रबल हुई। आर्थिक दुबलता के कारण, अधिक दिन तक युद्ध न चला सकने की, आक्रान्त राष्ट्र की असमर्थता से लाभ उठाना । १९३९ से १९४१ तक योरपीय रणक्षेत्रो पर जर्मन ने इसका सफलतापूर्वक प्रयोग किया। किन्तु १६४० के पतझड-काल में ब्रिटेन पर शुरू हुए हवाई हमलो और रूसी रणक्षेत्र के आक्रमणो मे जर्मनो का यह प्रयोग सर्वथा असफल रहा है ।। बुखारेस्त की संधि-७ मई १९१८ को यह संधि जर्मनी, अस्ट्रिया,तुर्की, बेलगारिया तथा दूसरी ओर रूमानिया में हुई । इस सन्धि में केन्द्रीय राष्ट्रों, जर्मनी आदि, ने रूमानिया से बहुत कडी शर्ते लिखा ली । । जब जर्मनी वारसेई-सन्धि की सख्ती की शिकायत करता था, उस समय उसे इस सन्धि की सख्ती का स्मरण कराया जाता था । सन् १९१८ से पश्चिमी राष्ट्रों, ब्रिटेन, फ्रान्स आदिके मतालवे पर, वारसेई की संधि के समय, यह संधि रद कर दीगई ।