पृष्ठ:Antarrashtriya Gyankosh.pdf/२७८

विकिस्रोत से
Jump to navigation Jump to search
यह पृष्ठ शोधित नही है


२७२ माटेस्कृ-चेयसफर्टचधार

पूजीवादियो के नियत्रण से लेकर, उसे समाज के हित के लिये, सामान्य या सार्वजानिक सम्पत्ति वना देता है । अब वे इस प्रकार से आथिकन्तीवन का नियत्रण करते हैं कि माल अधिक बताने के उद्देश्य से नहीपैदा किया जाता बल्कि जितनी पैदावार की आवश्यकता है, उच्ची-के अनुसार, जनता के सुख तथा हेत के लिये, पैदा केया जाता है विगत ६० वर्षों में मार्क्सवादी विचारधारा का ससार की राजनीति तथाब अर्थनीति पर प्रभाव पडा है । उसके विरोधियों ने भी उसके कुछ ग्रा। को किसी-न-किसी रूप मे स्वीकार किया है क् ससार में केवल रूस ही ऐसा देश है जिसमे_ साम्यवादी शासन है । यह मार्क्सवाद का पका अनुगामी है मार्गन एण्ड कम्पनी, जे० पी०-यह अमरीका की हैंक है, जिसका यहीं की राजनीति पर जबरदस्त प्रभाव है, और वहाँ यह एक सत्ता मानी जाती है । सन् १८६० मे इसकी स्थापना जे० पी० मार्गन द्वारा न्यूवार्क में की गई सन् १९१३ मे उसका देहान्त होगया । उसके वाद उसका पुत्र तथा १ ० हिस्सेदार कम्पनी के स्वामी हींगये । सत् १११४-१८ के विश्वयुद्ध में यह बैक मित्ररामृट्रो की माल खरीदनेवाली एजेसी वन गई । इसने तीन अरब डालर का माल खरीदा । इसमे इसने मोटा मुनाफा कमाया और ससार में एक नम्बर की बैक होगई । इसका सयुक्त-राज्य अमरीका के राजस्वपर भी गहरा प्रभाव है । सन्  ९६११- ९६२९ में इस बैक ने अन्य करोडो डालर व्यवसाय से लगाने के अतिरिक्त ६ अरब डालर ऋण दिया । सन् १९२९ के आर्थिक सकट का इस हैंक पर गहरा प्रभाव पडा तथा अमरीका में आर्थिक-सकट के निवारण के लिये 'न्यू जीम-योजना के अंतर्गत जो कार्य जिये है गये तथा बैक के सबंध ये जो कृनून बनाये गये, उनसे इसकी स्थिति पहली जैसी नहीं रही मांटेब्ववृहुंचेम्सफर्ड-मुधार-अगस्त  ९ ७ ये, तत्कालीन भारत-मत्री मिल भान्टेनयू की घोषणा के बाद, भारत को राजनीतिक-विकास की यह दूसरी देन मिली । इस योजना की विशेषता यह है किप्रान्ती में शासन-प्रबन्ध को दो भागो में विभाजित कर दिया गया था इं हस्तान्तरित तथा सुरक्षित । समस्त प् प्रान्तीय शासन-सूत्र इन्हीं दो विभागो के अन्तर्गत थे । हस्तान्तर विषय वि'शाश्‍ उद्योग, हैन्यापार, स्थानीय स्वायत्त-शासन, स्वास्थ्य, अस्पताल आदि