पृष्ठ:Antarrashtriya Gyankosh.pdf/३०

विकिस्रोत से
Jump to navigation Jump to search
यह पृष्ठ जाँच लिया गया।
२४
अरविंद घोष
 


राजधानी मसकत है। (५) क़ूवेत–-यह फारस की खाड़ी के उत्तर-पश्चिमी समुद्र-तट पर स्थित है, जनसख्या ५०,००० है। सन् १७५० से शेख़ वश का राज्य है। ब्रिटिश राजनीतिक एजेट भी रहता है। (६) पाइरेट समुद्री तट-–इसकी जन-सख्या ८०,००० है। (७) बहरीन द्वीप-समूह--जन-सख्या १,२०,००० है। इसका शासक ख़लीफा है। एक ब्रिटिश सलाहकार भी रहता है तथा ब्रिटेन से सधि भी है। यहॉ तेल के कुँए हैं, समुद्र से मोती निकालने का व्यवसाय भी होता है। भारत और आस्ट्रेलिया के मार्ग में होने से यहाँ हवाई जहाजो का पड़ाव भी है।


अरजेटाइन-–यह दक्षिणी अमरीका में सबसे महान् द्वितीय प्रजातत्रवादी राज्य है। इसका क्षेत्रफल १०,७९,००० वर्गमील और जनसख्या १,२८,००,००० है। इसकी भाषा स्पेनिश है। डा०रोवेर्टो एम० आर्टिज ५ सितम्बर १९३७ को राष्ट्रपति निर्वाचित किये

Antarrashtriya Gyankosh.pdf


गये। राष्ट्रपति ६ साल के लिए चुना जाता है। आजकल यहॉ सम्मिलित सरकार है। इसमे प्रजातत्रवादी और क्रान्तिकारी दोनो दलो के सदस्य है‍। इस देश की सुख-समृद्धि निर्यात व्यापार पर निर्भर है। इस देश से

गेहूँ (८७ लाख टन), मक्का (६० लाख टन), तिलहन (१५ लाख टन), मास, मक्खन और ऊन संयुक्त-राज्य अमरीका, ब्रिटेन और जर्मनी आदि देशो को भेजी जाती है।


अरविन्द घोष--आपका जन्म कलकत्ता मे १५ अगस्त सन् १८७२ को हुआ। दार्जिलिंग तथा इँगलैण्ड मे अपने शिक्षा प्राप्त की। सन् १८९० में इडियन सिविल सर्विस की परीक्षा में शामिल हुए। प्रतियोगिता में सफल रहे, परन्तु घुड़सवारी में असफल। किग्स-कॉलिज, कैम्ब्रिज, में भरती हुए और ग्रेजुएट हुए। सन् १८९२ मे वी० ए० की पदवी प्राप्त की। १२ वषों तक बड़ोदा राज्य मे उच्च पदाधिकारी रहे। सन् १९०६ मे आप नेशनल कालिज कलकत्ता