पृष्ठ:Antarrashtriya Gyankosh.pdf/३२१

विकिस्रोत से
Jump to navigation Jump to search
यह पृष्ठ शोधित नही है
राष्ट्रीय समाजवाद
३१४
 


                                                                                                  इन सबकी एक सामूहिक संस्था 'इंटरनॅशनल फेडरेशन ऑफ लीग ऑफ नेशन्स सोसिएटीज' के नाम से है।
   राष्ट्रीय उदार दल - ब्रिटन के उदार दल का एक अंग। १६३३ में ळिबेरलो ने जब सरकार का परित्याग कर दिया, तब उन्होंने उदार दल से अलग होकर राष्ट्रीय उदार दल बनाया। इस दल का अनुदार दल से सहयोग है और इस दल के सदस्यों की तथा अनुदारों की नीति में कोई अंतर नही है। सन १६३५ के चुनाव में इस दल को ८,६६,००० मत मले तथा इस दल के ३३ सदस्य कामंस सभा में पहुँच गये। इस दल के प्रमुख सदस्य हैं- लॉर्ड साइमन, लॉर्ड रन्सिमन, एल होर-बलीशा तथा लॉर्ड मान्टोरेज़। यह सब सरकारी पक्ष के राजनीतिञ हैं।
  राष्‍ट्रीय मजदूर-दल- यह ब्रिटन के मजदूर दल का एक पुतला है। १६३१ में रेमुज़े मेकदानल्ड ने, मजदूर-दल की नीति के विपरीत, राष्ट्रीय सरकार बनाई, तब उन्‍होंने एक पृथकू दल इस नाम से स्थापित किया।यह दल अनुदार दल के सहयोग से काम करता है। इसका नाम मजदूर कार्यक्रम है। कामन्स सभा में इस दल के ८ सदस्य हैं। सन १६३५ के चुनाव में इस दल को ३,४०,००० मत प्राप्त हुए। इस दल में माल्कम मेकदानल्ड, अर्ल द ला वॉर, हेरॉल्ड निकोल्सन तथा स्टीफन किंग-हाल शामिल है।
  राष्ट्रीय मजदूर-संबंध बोर्ड- सयुक्त राजाइया अमरीका में मजदूरों के झगड़ों का निर्णय करनेवाली सर्वोच्च संस्था।
  राष्ट्रीय समाजवाद- हिटलर द्वारा संस्थापित तथा सचालित, जर्मनी का राष्ट्रीय आंदोलन जो नातसिवाद के नाम से प्रसिध है। जर्मनी में राष्ट्रीय समाजवाद का आरंभ १६१२ से हुआ, जबकि कालसवाद में जर्मन 'नॅशनल सोशलिस्ट लेबर पार्टी' की स्थापना सुड़ेटन जर्मन ने की। वियना में इसकी शाखा स्थापित की गई, पर वह नही चली. हिटलर का इस प्राथमिक संस्था से संबंध था, इस बात का कोई प्रमाण नहीं मिलता। हिटलर की संस्था या दल की स्थापना। सन १६१६ में, बावेरिया के म्यूनिच नगर में ड्रेक्सलर नमक एक जर्मन मज़दूर ने की जिसका नाम जर्मन लेबर पार्टी रखा गया. प्रारंभ में वह एक छोटी भोजन क्लब जैसी संस्था थी। जब हिटलर