पृष्ठ:Antarrashtriya Gyankosh.pdf/३४

विकिस्रोत से
Jump to navigation Jump to search
यह पृष्ठ जाँच लिया गया।
२८
अलेक्ज़ैड्रैट
 


मास तक यूनानी सेनाएँ अँगरेजी सेनाओं की सहायता से वीरतापूर्वक लड़ती रही। किन्तु ६ अप्रेल १९४१ को जर्मनी ने यूनान तथा यूगोस्लाविया पर आक्रमण कर दिया। यूनानी सैनिक बड़ी वीरता के साथ धुरी-राष्ट्रो की सेनाओं से लड़ते रहे। २३ अप्रेल को यूनान के सम्राट् अपने मत्रि-मण्डल के साथ एथेन्स छोड़ कर क्रीट चले गये।


अल्टर--यह आयरलैण्ड के उत्तरी प्रदेश का नाम है। आयरलैण्ड के प्राचीन अल्स्टर प्रान्त मे ९ जिले थे। इनमे से ६ ज़िले उत्तरी आयरलैण्ड

Antarrashtriya Gyankosh.pdf


में हैं और तीन आयर में हैं। आयर स्वतन्त्र हो चुका और अल्स्टर अब भी ब्रिटिश साम्राज्य का अङ्ग है। आयरलैण्ड के स्वातत्र्य-युद्ध में अल्स्टर सदैव ब्रिटेन के साम्राज्यवादियों के साथ रहा है।


अलेक्ज़ैड्रैटा--यह देश शाम (सीरिया) की उत्तर-पश्चिमी सीमा पर स्थित है। इसी नाम का एक बन्दरगाह भी है। सन् १९१८ तक यह तुर्की के अधिकार में थी। विश्व-युद्ध के बाद यह देश शाम में मिला दिया गया। इसकी जन-सख्या २,२०,००० है, जिसमे ४० प्रतिशत तुर्क हैं। तुर्की इसे फिर से अपने अधिकार में लेना चाहता है। इस समय यह फ्रांस के प्रभुत्व में है। तुर्की से मैत्री बनाये रखने के लिए फ्रांस ने नवम्बर १९३७ में इस प्रदेश को स्वायत्त-शासन देने का विचार किया। इससे तुर्की सहमत न हुआ। इसलिए १ जुलाई १९३८ को अकारा-सधि हुई, जिसके अनुसार इस प्रदेश पर फ्रांस तथा तुर्की दोनों का संयुक्त-शासन स्थापित होगया। २१ अगस्त १९३८ के