पृष्ठ:Antarrashtriya Gyankosh.pdf/४१३

विकिस्रोत से
Jump to navigation Jump to search
यह पृष्ठ शोधित नही है


४०८ स्पेन अाध्यात्मिक प्रयोग और अध्ययन में समय बिताने लगे। इसी बीच २६ जनवरी १६४१को सुना गया कि सुभाष बाबू घर से लापता होगये हैं। नवम्बर १६४१ में सरकार ने कहा कि बोस किसी बुरी देश में रह रहे है । बॅगला और अँगरेज़ी मे अापने कई पुस्तके लिखी हैं । सुरक्षित स्वर्ण-कोप-स्वाधीन देश अपनी बैंको मे चालू मुद्रानो के बराबर वर्ण-कोप रखते हैं। इससे देश को साख रहती है और विदेशो में वह स्वर्ण मे भुगतान भी कर सकते हैं । ससार का सबसे अधिक सोना सयुक्त- राज्य अमरीका मे है, इसके बाद ब्रिटेन, फ्रान्स, स्विट्जरलैण्ड तथा हालैण्ड मे । सितम्बर १६३६ तक बैंक ग्राफ इगलेण्ड मे ६० करोड़ पौड का, अम- रीका की फैडरल रिज़र्व बैंको मे १२ अरब ७० करोड़ डालर का, और बैंक ग्राफ फ्रान्स मे ४० करोड पौड का सोना सुरक्षित था। जर्मनी ने अपनी राइल बैंक के हिसाब मे सोने की कोई रकम नहीं दिखाई, किन्तु अनुमानत. उसके पास २० से ५० करोड़ मार्क का गुप्त स्वर्ण-कोष था ।। सेवाग्राम-यह वर्धा (मध्यप्रात) नगर से ५ मील की दूरी पर एक छोटा-सा ग्राम है, जिसके पास सन् १९३०-३२ के सत्याग्रह आन्दोलनो के बाद गांधीजी ने अपना याश्रम बनाया । सेवाग्राम भारत की राजनीति का केन्द्र है । गाधीजी का निवास-स्थल होने के कारण देश-विदेश के अनेक राजनीतिज्ञ वहाँ पहुंच चुके हैं । आश्रम के ही कारण यहाँ डाकघर और टेली- फोन भी है । गॉव का नाम सेगॉव से सेवाग्राम कर दिया गया है। स्पेन-क्षेत्र० १,६५,००० वर्ग०; जन० २ करोड ४० लाख, उसके अफ्रीकी साम्राज्य को मिलाकर २,८०,००,००० । सन् १९३१ तक स्पेन में राजतन्त्र था, जिसमे १६२५ के बाद जनरल प्रिमो द रिवेरा वास्तव मे वहॉ का अधिनायक था । अप्रैल १६३१ मे रिवेरा की डिक्टेटरशिप उखाड फेकी गई और स्पेन मे प्रजातत्र की स्थापना हुई । दकियानूस दल का जमोरा राष्ट्रपति बना । बादशाह अल्फोजो त्रयोदश स्पेन से निर्वासित कर दिया गया । बाद को देश के दकियानूसी और वामपन्थी दलो मे कशमकश रही और १६३६ के चुनाव में वामपथियों की जीत हुई, फलतः उनका नेता अज़ाना, ११ मई १६३६ को, स्पेन का, जमोरा के स्थान पर, राष्ट्रपति चुना गया। उसने प्रजा-