पृष्ठ:Antarrashtriya Gyankosh.pdf/४४५

विकिस्रोत से
Jump to navigation Jump to search
यह पृष्ठ शोधित नही है


________________

४४० हली क्स TA बलिकन' दल का है, और १६४१ तक वह इस युद्ध में तटस्थ नीति का पोषक था, किन्तु जब जापान पोर धुरी राष्ट्रो ने अमरीकी प्रदेशो आदि पर हमला किया तो वह अमरीका के युद्ध-प्रयत्नो का पूर्ण समर्थक बन गया। हेनलीन, कोनराद - सुडेटन-जर्मन राजनीतिज्ञ १८९८ मे पैदा हुया, शुरू में एक बैंक में क्लार्क या, बाद को व्यायाम-शिक्षक बना । ___ १६२३ में चैकोस्लोवाकिया में जर्मन व्यायाम आन्दोलन का प्रमुख हो गया और १६३३ मे सुडेटनजर्मन-दल का सगठन किया। इसी प्रान्दालन के कारण चेको० का पतन हुआ। हेव्सबर्ग-यास्ट्रिया-हंगरी का भूतपूर्व राजवश, इस वश के राजा पहले जर्मन कहलाते थे, १३वी शताब्दि से ग्रास्ट्रियन सम्राट कहलाये। चास-प्रथम, जिसने नवम्बर १६१८ में गद्दी छोड़ी, ग्रास्ट्रिया का अन्तिम सम्राट तथा हगरी का राजा था। १६२३ मे वह मर गया । अोटो नामक उसका सबसे बड़ा पुत्र है । हगरी के कुछ लोगो ने उसे राजा बनाने का प्रयन किया। वह ग्रास्ट्रिया की गद्दी पर पाने की बातचीत कर कहा था कि हिटलर ने आस्ट्रिया को जर्मन राइख मे मिला लिया । पूर्व सम्राजी जिता और प्रिन्स अोटो अाजकल अमरीका में हैं । दक्षिण अमरीका और इँगलेण्ड मे भी इस वश के कुछ लोग राजगद्दी की प्राप्ति के लिए अान्दोलन कर रहे हैं । हैलीफैक्स, ऐडवर्ड फ्रेडरिक लिएडले वुड-लार्ड, पहले लाड इरविन कहलाते थे, १६ अप्रैल १८८१ को जन्मे, आक्सफर्ड मे शिक्षा प्राप्त की, १६१० मे अनुदार दल की अोर से पार्लमेट के सदस्य चुने गये, १६१५-१७ मे मेजर बनकर फ्रान्स के रणक्षेत्र पर लडे, १६२२-२४ तक उपनिवेश उपमन्त्री, प्रिवी कौन्सिलर, शिक्षा-बोर्ड के प्रधान तथा बाल्डविनमन्त्रिमण्डल मे कृषि-मन्त्री रहे । अक्टूबर १९२५ मे लार्ड इरविन बनाये जाकर भारत के वाइसराय नियुक्त किये गये । आपके ही कार्यकाल के बीच १६२८ मे साइमन कमीशन भारत में आया और १६२६ मे भारत ने पूर्ण