पृष्ठ:Antarrashtriya Gyankosh.pdf/७२

विकिस्रोत से
Jump to navigation Jump to search
यह पृष्ठ प्रमाणित हो गया।
६६
कनाडा
 


बाद भारतीयो को अपना शासन-विधान बनाने की सुविधा दी जायगी और ब्रिटिश पार्लमेंट उस पर विचार करेगी।







कनाडा——यह ब्रिटिश कॉमनवैल्थ का एक अङ्ग है। उत्तरी अमरीका मे, सयुक्त-राज्य अमरीका के उत्तर मे, यह देश स्थित है। क्षेत्रफल ३६,९५,००० वर्गमील तथा जन्संख्या १,१२,००,००० है। कनाडा का शासन-विधान सन् १८६७ के ब्रिटिश उत्तरी अमरीका ऐक्ट के आधार पर है। यहाँ संघ-शासन है। यहाँ की पार्लमेंट में दो परिषद्(Chambers) हैं—एक कॉमन-सभा तथा दूसरी सीनेट। कॉमन सभा के प्रतिनिधि पाँच वर्ष के लिये चुने जाते हैं। सीनेट के सदस्य सपरिषद्-गवर्नर-जनरल द्वारा आजीवन सदस्य चुने जाते हैं। गवर्नर-जनरल ब्रिटेन के बादशाह का प्रतिनिधि है और बादशाह के नाम पर मसविदे आदि स्वीकार करता है।

कनाडा नौ प्रान्तों से मिलकर बना है। प्रत्येक प्रान्तीय सरकार को स्वतंत्रता है तथा प्रान्तीय धारासभाएँ कानून बनाती हैं। परन्तु संघीय सरकार को उन्हे रद करने का अधिकार है। प्रत्येक प्रान्त मे लेफ्टिनेंट गवर्नर होता है, जिसकी नियुक्ति गवर्नर-जनरल द्वारा की जाती है।

कनाडा की कुल जनसंख्या मे से ८० लाख कनाडा-अधिवासी कनाडा में पैदा हुए है, १२ लाख इँगलैण्ड के हैं, ३॥ लाख संयुक्त-राज्य अमरीका के लोग है, और शेष विदेशों मे पैदा हुए है। २७ लाख अँगरेज, १३ लाख स्काटलैंड के (Scotch), १२ लाख आयरिश, ३० लाख फ्रांसीसी, ५ लाख जर्मन, शेष दूसरे राष्ट्रों और जातियो के है। कनाडा की फ्रेंच तथा अँगरेजी दो राष्ट्रभाषाएँ है। कनाडा मे प्रवास-संबंधी बड़ी बाधाएँ है।