पृष्ठ:Antarrashtriya Gyankosh.pdf/८५

विकिस्रोत से
Jump to navigation Jump to search
यह पृष्ठ जाँच लिया गया।
कियानो, काउण्ट गेलियाजो़
७९
 


लखनऊ काग्रेस के समय, प्रथम अखिल-भारतीय किसान सम्मेलन हुआ। दूसरा अधिवेशन, दिसम्बर १९३९ मे, फैज़पुर काग्रेस आधिवेशन के साथ, हुआ। इस प्रकार ३-४ वर्षों मे सारे देश में किसान सभाएँ स्थापित हो गई। वह वास्तव मे किसानो का अपना विशुद्ध संगठन है। इसके मूल उद्देश्य निम्न प्रकार हैं--

(१) आर्थिक शोषण से पूर्ण मुक्ति प्राप्त करना और किसान, मज़दूर तथा अन्य शोषित वर्गों को राजनीतिक एवं आर्थिक मुक्ति दिलाना।

(२) किसानो को सगठित करना और तत्कालीन आर्थिक तथा राजनीतिक माँगों के लिये लड़ना, जिससे अन्त में वे सब प्रकार के शोषण से वरी हो जायँ।

(३) स्वाधीनता के राष्ट्रीय-युद्ध में भाग लेकर अन्त में उत्पादन करनेवालें वर्गों को आर्थिक और राजनीतिक मुक्ति दिलाना।

काग्रेस के प्रमुख गान्धिवादी नेता

Antarrashtriya Gyankosh.pdf


ओर स्वय गान्धीजी किसान सभाओं के इस कार्यक्रम के विरुद्ध हैं।

किङ्ग, राइट आनरेव्लू (right Honourable) डव्ल्यू० एल० मैकेन्ज़ी--कनाडा के प्रधान मंत्री। सन १८७४ में जन्म। शिकागो और हारवर्ड विश्वविध्यालय में शिक्षा प्राप्त की। १९००-१९०८ तक डिपुटी मिनिस्टर, मज़्दूरा-विभाग। १९०९-११ नक मज़दूर-विभाग के मंत्री। १९११-३० तक कनाडा-सरकार के प्रधान मंत्री। फिर सन् १९३५ से अब तक कनाडा के प्रधान मंत्री।

कियानो, काउण्ट गेलियाज़ो--इट्ली के वैदेशिक-विभाग के मंत्री हैं; सन् १९०३ में इनका जन्म हुआ। दक्षिणी अमरीका तथा चीन में राजदूत रहे। सन् १९३४ में काउण्ट कियानो ने मुसोलिनी की पुत्री इडा के साथ विवाह