Locked

बिल्लेसुर बकरिहा

विकिस्रोत से
Jump to navigation Jump to search
बिल्लेसुर बकरिहा  (1941) 
द्वारा सूर्यकान्त त्रिपाठी 'निराला'
[ आवरण-पृष्ठ ]
 

बिल्लेसुर बकरिहा

 



 

लेखक
पं॰ सूर्यकान्त त्रिपाठी, निराला

 



 

मूल्य एक रुपया

[ प्रकाशक ]
 

प्रकाशक
चौधरी राजेन्द्र शङ्कर
युग-मंदिर, उन्नाव

 

मुद्रक
पं॰ भृगुराज भार्गव
भार्गव-प्रिटिंग-वर्क्स, लखनऊ.

[ प्राक्कथन ]
 

प्राक्कथन

 

'बिल्लेसुर बकरिहा' हास्य लिये एक स्केच है। मुझे विश्वास है, पाठकों का मनोरंजन होगा।

 
लखनऊ
२५ दिसम्बर १९४१
निराला
[ स्नेह-भेंट ]
 

कलाकार––

प्रियबन्धु श्री अमृतलाल नागर को

 

स्नेह-भेंट

 

––निराला

PD-icon.svg यह कार्य भारत में सार्वजनिक डोमेन है क्योंकि यह भारत में निर्मित हुआ है और इसकी कॉपीराइट की अवधि समाप्त हो चुकी है। भारत के कॉपीराइट अधिनियम, 1957 के अनुसार लेखक की मृत्यु के पश्चात् के वर्ष (अर्थात् वर्ष 2022 के अनुसार, 1 जनवरी 1962 से पूर्व के) से गणना करके साठ वर्ष पूर्ण होने पर सभी दस्तावेज सार्वजनिक प्रभावक्षेत्र में आ जाते हैं।

यह कार्य संयुक्त राज्य अमेरिका में भी सार्वजनिक डोमेन में है क्योंकि यह भारत में 1996 में सार्वजनिक प्रभावक्षेत्र में आया था और संयुक्त राज्य अमेरिका में इसका कोई कॉपीराइट पंजीकरण नहीं है (यह भारत के वर्ष 1928 में बर्न समझौते में शामिल होने और 17 यूएससी 104ए की महत्त्वपूर्ण तिथि जनवरी 1, 1996 का संयुक्त प्रभाव है।

Flag of India.svg