Locked

इतिहास तिमिरनाशक 2

विकिस्रोत से
नेविगेशन पर जाएँ खोज पर जाएँ
इतिहास तिमिरनाशक भाग 2  (1888) 
द्वारा राजा शिवप्रसाद 'सितारे हिंद'
[  ]
॥इतिहास तिमिरनाशक॥
ITIHAS TIMIRNASAK.

_______

HISTORY OF INDIA,

IN THREE PARTS,

BY RAJA SIVAPRASAD, C.S.I.

Fellow of the University of Calcutta, and late Inspector of the Second Circle, Department Public Instruction, North-Western I'rovinces and Oudh.

______

तीन हिस्सों में

मुताबिक हुक्म जनाब नव्वाब अनरबल लेफ्रिनेंट गवर्नर बहादुर ममालिक शिमाल व मग़रिब और चीफ कमिश्नर अबध

राजा शिवप्रसाद सितारहिन्द (१) ने बनाया

_______

दूसरा हिस्सा

PART II.

इलाहाबाद सरकारी छापेख़ाने में छापा गया था विद्यार्थियों के लाभके लिये

लखनऊ

मुंशी नवलकिशोर के छापेख़ाने में छपा

जून सन १८८८ ई॰॥

इसकिताबकी रजिस्ट्री नं॰५०३ मवर्रुखै २२ जुलाई सन् १८८७ ई॰ में हुई है इसलिये इस छापेख़ाने की आज्ञाबिना कोई छापनेका अधिकारी नहीं है॥

2nd edition, 1500 copies.
दूसरी बार १५०० पुस्तकें
Price, per copy, 3 anpas
मोल की पुस्तक ८) आने
[  ]
॥इतिहास तिमिरनाशक॥
ITHAS TIMIRNASAK.

_______

H I S T O R Y O F I N D I A,

IN THREE PARTS,

BY RAJA SIVAPRASAD, C.S.T.

Fellow of the. University of Calcutta, and late Inspector of the

Second Circle, Departřment Public Instruction, North-Western L'rovinces and Oudh.

________

तीन हिस्सों में

मुताबिक हुक्म जनाब नव्वाब अनरबल लेफ्रिनेट गवर्नर बहादुर ममालिशिमाल व मग़रिब और चीफ कमिश्नर अवध

राजा शिवप्रसाद सितारहिन्द (३) ने बनाया

________

दूसरा हिस्सा

PART II,

इलाहाबाद सरकारी छापेखाने में छापा गया था विद्यार्थियों के लाभके लिये

लखनऊ

मुंशीनवल किशोर के छापेखाने में छपा

मई सन् १८८

[  ]






P R E F A C E.




Is this I have endeavoured ( a thing nearly impossible ) to unite fuinogs of information with brevity of narrative, and I trust, that from it, may be derived a tolerably clear ides of the origin and progress of the British Empire in Indian

S.P.

[  ]

जो लफ्ज़ फ़ारसी हर्फ़ीं के सबब आईनेतारीख़नुमा में दूसरी तरह पर लिखे हैं उन के नीचे लकीर खींच दी है और फ़िहरिस्त आगे लिखी है:-

इतिहास तिमिरनाशक में आईनेतारीख़नुमा में
महाद्वीप … … … बर्रिआज़म
भगवान … … … मालिक
ईश्वर … … … मालिक
राजधानी … … … दारुल हुकूमत
ईश्वर की कृपा … … … मालिक को मिहर्बानी
स्त्रियां … … … औ़रतें
अर्थ … … … मानी
परलोक … … … इन्तिक़ाल
परमेश्वर … … … मालिक पैदा करने वाला
कृपानिधान दयावान क्षमासागर जगत उजागर श्रीमती महारानी इम्प्रेस विक्टोरिया मा़दिनि करम मख़्ज़नि रहम अ़फ़ु मेंताक़ शुह्रै आफ़ाक़ आ़ली ज़नाब क़मर रकाब शाहंशाह फ़लक बारगाह मलिकेमुअ़ज्ज़मा क़ैसरहिंद विक्टोरिया दाम इक़बालहा

PD-icon.svg यह कार्य भारत में सार्वजनिक डोमेन है क्योंकि यह भारत में निर्मित हुआ है और इसकी कॉपीराइट की अवधि समाप्त हो चुकी है। भारत के कॉपीराइट अधिनियम, 1957 के अनुसार लेखक की मृत्यु के पश्चात् के वर्ष (अर्थात् वर्ष 2022 के अनुसार, 1 जनवरी 1962 से पूर्व के) से गणना करके साठ वर्ष पूर्ण होने पर सभी दस्तावेज सार्वजनिक प्रभावक्षेत्र में आ जाते हैं।

यह कार्य संयुक्त राज्य अमेरिका में भी सार्वजनिक डोमेन में है क्योंकि यह भारत में 1996 में सार्वजनिक प्रभावक्षेत्र में आया था और संयुक्त राज्य अमेरिका में इसका कोई कॉपीराइट पंजीकरण नहीं है (यह भारत के वर्ष 1928 में बर्न समझौते में शामिल होने और 17 यूएससी 104ए की महत्त्वपूर्ण तिथि जनवरी 1, 1996 का संयुक्त प्रभाव है।

Flag of India.svg