Locked

जमसेदजी नसरवानजी ताता का जीवन चरित्र

विकिस्रोत से
नेविगेशन पर जाएँ खोज पर जाएँ
जमसेदजी नसरवानजी ताता का जीवन चरित्र  (1918) 
द्वारा मन्नन द्विवेदी 'गजपुरी'
[ आवरण-पृष्ठ ]

जमसेदजी नसरवानजी
ताता

 

का

 

जीवन चरित्र।

जमसेदजी नसरवानजी ताता का जीवन चरित्र.djvu
 

मन्नन द्विवेदी, गजपुरी।

[ विज्ञापन ]

हिन्दीके लिए विराट् उद्योग।

कलकत्ते में १०००००) की कम्पनी।

अब आपको हिन्दी और संस्कृत पुस्तकोंके लिये इधर उधर बीस जगह भटकने की जरूरत नहीं रही। एक कार्ड लिखिये और कलकत्तेसे घर बैठे सब स्थानोंकी और सब तरहकी पुस्तकें मंगा लीजिये। अध्यात्म, इतिहास, मनोहर और शिक्षाप्रद उपन्यास, रसीले काव्य, जीवन-चरित्र, उत्तमोत्तम नाटक, बालकोपयोगी, स्त्रियोपयोगी, शास्त्रीय, राष्ट्रीय, आर्यसमाजी, सनातनी, रामायण, स्तोत्रादि, सभी प्रकारकी पुस्तकें मिलती हैं। इंडियन, अभ्युदय, ॐकार, नवलकिशोर, खङ्गविलास, वेङ्कटेश्वर, निर्णयसागर, चित्रशाला, भारतमित्र, बर्म्मनप्रेस, प्रताप, राजपूत, वैदिक, ब्रह्म, हिन्दी-ग्रन्थरत्नाकर, हिन्दी गौरव-ग्रन्थमाला हरिदास कम्पनी, गृहलक्ष्मी, काशी ना॰ प्र॰ सभा, मनोरंजन ग्र॰ मा॰, प्रकाश पुस्तकालय, अरोड़ा पुस्तक भण्डार, भारत सेवकसमिति, साहित्य-भवन, ला॰ रामनारायणलाल, बा मैथिलीशरण गुप्त, प्रेममन्दिर, आर्ष-ग्रन्थावली, आदि सभी प्रसिद्ध २ प्रेस और प्रकाशकोंकी पुस्तकें रखनेका प्रबन्ध किया गया है। हिन्दी-साहित्य-सम्मेलन तथा संस्कृत की प्रथमा, मध्यमा, और आचार्य आदि परीक्षाओंको पुस्तकें भी यहींसे मिलती हैं।

थोक तथा सार्वजनिक संस्थाओंके खरीदारोंको

- उचित कमीशन -

कलकत्ते में मिलने वाली सब प्रकारकी बङ्गला तथा अङ्गरेजीकी स्कूली और भिन्न विषयोंकी थोक तथा फुटकर पुस्तकें बाहर भेजी जाती है.

एजेन्सी हिन्दी की अच्छी अच्छी पुस्तके भी प्रकाशित करती है। लेखक पत्रव्यवहार करनेकी कृपा करें।


पत्रोंका उत्तर तत्काल दिया जाता है। बड़ा सूचीपत्र मंगा देखिए।

पता-हिन्दी पुस्तक एजेन्सी १२९ हैरिसन रोड, कलकत्ता [ आवरण-पृष्ठ ]
 

जमसेदजी नसरवानजी
ताता
-:का:-
जीवन चरित्र।


"कर्मण्येवाधिकारस्ते मा फलेषु कदाचन।"'

(गीता)



लेखक—
पं॰ मन्नन द्विवेदी, गजपुरी
बी.ए., एम. आर. ए. एस.
प्रकाशक—
हिन्दी पुस्तक एजेन्सी
नं॰ १२६, हैरिसन रोड, कलकत्ता।


प्रथम बार]
[मूल्य ।)आना।
सन् १९१८ ई॰
[ प्रकाशक ]
 


३७१, अपर श्रोतपुर रोड, "वर्म्मन प्रेस कलकत्ता में
रामलाल वर्म्मा द्वारा मुद्रित।



[ भूमिका ]

भूमिका।


कर्मवीर स्वर्गवासी जमसेदजी नसरवानजी ताताका जीवन नव्य भारत के लिये आदर्श है। ऐसे महापुरुषकी कर्तव्य कहानी हिन्दी प्रेमियों को भेंट है।

प्रसिद्ध पारसी नेता माननीय डी॰ ई॰ वाचाकी अंगरेजी पुस्तकसे मुझको बड़ी सहायता मिली है। इसलिये मैं आपका कृतज्ञ हूं।

अहरौला मन्नन द्विवेदी गजपुरी।
आजमगढ़
४–३–१७
 

[ समर्पण ]

समर्पण।


प्यारे मोहन!

गीतामें बतलाये हुए तुम्हारे कर्मयोगको अपने जीवन में चरितार्थ कर दिखलानेवाले एक वीर, एक असाधारण महापुरुष, तुम्हारे वियोगमें कातरहृदया भारतमाताके एक सच्चे सपूतके जीवनकी संक्षिप्त कहानी तुम्हारे कोमल कमल चरणों पर अर्पित है।

नाथ! ऐसा करो कि तुम्हारे इस प्रमोद वनमें रोज ऐसेही सुगंधित सुमन कुसुमित हों, मैं उनकी माला गूथूँ और लेकर प्रेमसे, भक्तिसे और अभिमानसे तुमको पहना दूं और तुम भी स्वीकार करते रहो। इस समय यही लालसा है। आगे मालूम नहीं क्या होगा?

तुम्हारा

म॰ दि॰ ग॰।

[ चित्र ]

पुस्तक एजेन्सी

जमसेदजी नसरवानजी ताता का जीवन चरित्र.djvu

जमसेदजी नसरवानजी ताता।


PD-icon.svg यह कार्य भारत में सार्वजनिक डोमेन है क्योंकि यह भारत में निर्मित हुआ है और इसकी कॉपीराइट की अवधि समाप्त हो चुकी है। भारत के कॉपीराइट अधिनियम, 1957 के अनुसार लेखक की मृत्यु के पश्चात् के वर्ष (अर्थात् वर्ष 2023 के अनुसार, 1 जनवरी 1963 से पूर्व के) से गणना करके साठ वर्ष पूर्ण होने पर सभी दस्तावेज सार्वजनिक प्रभावक्षेत्र में आ जाते हैं।

यह कार्य संयुक्त राज्य अमेरिका में भी सार्वजनिक डोमेन में है क्योंकि यह भारत में 1996 में सार्वजनिक प्रभावक्षेत्र में आया था और संयुक्त राज्य अमेरिका में इसका कोई कॉपीराइट पंजीकरण नहीं है (यह भारत के वर्ष 1928 में बर्न समझौते में शामिल होने और 17 यूएससी 104ए की महत्त्वपूर्ण तिथि जनवरी 1, 1996 का संयुक्त प्रभाव है।

Flag of India.svg